नालंदा में 10 लाख की रंगदारी मांगने वाला दो बदमाश गिरफ्तार.. सनसनीखेज खुलासा

0

नालंदा पुलिस ने फोन कर रंगदारी मांगने वाले दो बदमाशों को धर दबोचा है । बदमाशों ने एक होटल मालिक को फोन कर 10 लाख रुपए की रंगदारी मांगी थी और रंगदारी नहीं देने पर जान से मारने की धमकी भी दी थी। साथ ही सनसनीखेज खुलासा हुआ है।

क्या है पूरा मामला
मामला नालंदा के राजगीर थाना क्षेत्र की है । जहां के होटल सागर इन के मालिक प्रवीण कुमार सिंह से 10 लाख रुपए की रंगदारी मांगी गई थी। होटल मालिक ने इस मामले में 1 सितंबर को पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। जिसमें कहा गया था कि उन्हें फोन पर 10 लाख की रंगदारी मांगी गई है और नहीं देने पर जान से मारने की बात कही गई है

होटल मालिक को पुलिस सुरक्षा मिली
राजगीर थाना के प्रभारी दीपक कुमार ने इस मामले में बिना कोई रिस्क लिए तुरंत होटल मालिक को सुरक्षा मुहैया करा दिया। साथ ही बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए जांच शुरू कर दिया। पुलिस ने मोबाइल नंबर के आधार पर छापेमारी टीम का गठन किया गया।

दो अपराधी गिरफ्तार
पुलिस ने कार्रवाई करते हुए इस मामले में दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है । जिसमें एक का नाम प्रदुमन कुमार है और दूसरे का नाम संजीत कुमार है। दोनों ने रंगदारी मांगने की बात कबूल कर लिया है ।पुलिस ने उस मोबाइल फोन को भी बरामद कर लिया है जिससे फोन किया गया था।

इसे भी पढ़िए-डीएसपी के घर छापेमारी.. संपत्ति जानकर होश उड़ जाएंगे!

कहां के रहने वाले हैं दोनों
पुलिस ने सबसे पहले संजीत कुमार को इस्लामपुर से पकड़ा जिसके बाद उसने प्रदुमन कुमार को कांड में सम्मिलित होने की बात बताई। पुलिस ने बिना देर किए प्रदुमन कुमार को राजगीर से गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार अभियुक्त प्रदुमन कुमार जहानाबाद जिला के मखदुमपुर थाना क्षेत्र के उपाध्याय बीघा का रहने वाला जय गोविंद पासवान का पुत्र है। तो वहीं दूसरा आरोपी नालंदा जिला के इस्लामपुर थाना क्षेत्र के टिकरी गांव के रहने वाले अर्जुन पासवान का पुत्र संजीत पासवान है।

इसे भी पढ़िए-नालंदा में भीषण सड़क हादसा, मोटसाइकिल से टक्कर के बाद गड्ढे में गिरी कार

सनसनीखेज खुलासा
पुलिस ने जिन दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है उसमें एक होटल का मैनेजर प्रदुमन कुमार है। जिसने अपने ममेरे भाई के साथ मिलकर साजिश रची थी। थानाध्यक्ष दीपक कुमार ने बताया कि रुपए के लोभ में आकर प्रदुमन कुमार ने अपने ममेरे भाई के साथ मिलकर रंगदारी मांगने का काम किया।

मिनट-मिनट की जानकारी थी
इंस्पेक्टर दीपक कुमार के मुताबिक जब होटल मालिक को बॉडीगार्ड मिल गया तो संजीत कुमार मैसेज के जरिए होटल संचालक को मानसिक रूप से परेशान कर रहा था। पल-पल की खबर प्रदुमन कुमार अपने भाई संजीत कुमार को दे रहा था और हर गतिविधि का मैसेज संजीत कुमार से होटल के संचालक के मोबाइल पर करवा रहा था।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In अपराध

Leave a Reply

Check Also

नालंदा में रफ्तार का कहर.. बेकाबू ट्रक ने तीन युवकों रौंदा.. तीनों की मौत

नालंदा जिला में एक बार फिर तेज रफ्तार ने तीन युवकों की जान ले ली है । बताया जा रहा है कि ब…