BPSC में टॉप 10 में किस-किस जलवा.. किसने 40 लाख का पैकेज छोड़कर की थी तैयारी.. जानिए

0

बिहार लोकसेवा आयोग ने 66वीं संयुक्त सिविल सेवा परीक्षा का रिजल्ट घोषित कर दिया है । खास बात ये है कि इस बार BPSC की टॉप 10 की लिस्ट में 7 इंजीनियर हैं। 1838 उम्मीदवारों को इंटरव्यू के लिए बुलाया गया था, जिसमें 685 उम्मीदवारों का चयन हुआ है ।

प्रथम रैंक- सुधीर कुमार
BPSC की 66वीं संयुक्त सिविल सेवा परीक्षा में इस बार वैशाली के लाल ने परचम लहराया है। वैशाली के महुआ के रहने वाले सुधीर कुमार ने पहला स्थान हासिल किया है। सुधीर कुमार ने IIT कानपुर से सिविल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है । सुधीर के पिता पोस्ट ऑफिस में कार्यरत हैं । तो वहीं,उनकी माता राजापाकड़ में ANM हैं. सफल होने पर सुधीर ने नालंदा लाइव से बातचीत में कहा कि परीक्षा पास करने के लिए कोई शॉर्टकट काम नहीं आता है. बल्कि लगन के साथ मेहनत करना होता

 

दूसरा स्थान- अंकित कुमार
नालंदा जिला के रहने वाले अंकित कुमार ने BPSC में दूसरा स्थान हासिल किया है। अंकित अस्थावां प्रखंड के अकबरपुर गांव के रहने वाले हैं. उनके पिता उदय शंकर प्रसाद किसान हैं. अंकित ने 10वीं की परीक्षा मिलिट्री स्कूल बेंगलुरु से पास की है. इसके बाद IIT गुवाहाटी से इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल किया है। अभी वे दिल्ली में रहकर आईएएस की तैयारी कर रहे हैं ।

थर्ड टॉपर – ब्रजेश कुमार
ब्रजेश कुमार ने बीपीएससी में तीसरा स्थान हासिल किया है । वे बिहार के अररिया के रहने वाले हैं । ब्रजेश का चयन स्टेट टैक्स असिस्टेंट कमिश्नर के पद पर हुआ है। ब्रजेश कुमार ने कहा कि UPSC औक BPSC तैयारी बराबर रखनी चाहिए.

चौथा स्थान- अंकित सिन्हा
औरंगाबाद के रहने वाले अंकित सिन्हा BPSC टॉपर्स की लिस्ट में चौथे स्थान पर हैं। अंकित का चयन भी स्टेट टैक्स असिस्टेंट कमिश्नर के पद पर हुआ है। अंकित सिन्हा की मां आंगनबाड़ी सेविका हैं. अंकित ने मीडिया से बातचीत में कहा कि उन्होंने परीक्षा की तैयारी के लिए सोशल मीडिया से दूरी बना ली थी.

पांचवां रैंक- सिद्धांत कुमार
पटना के रहने वाले सिद्धांत कुमार ने BPSC में पांचवां स्थान हासिल किया है । सिद्धांत ने साल 2017 में केरल के कोचीन यूनिवर्सिटी से बीटेक किया है. उनके पिता का हार्डवेयर की दुकान है. बता दें कि सिद्धांत को प्रथम प्रयास में ही सफलता मिल गई।

छठा स्थान – मोनिका श्रीवास्तव
औरंगाबाद की मोनिका श्रीवास्तव ( Monika Srivasta) बीपीएससी में छठा रैंक हासिल हुआ है. मोनिका ने IIT गुवाहाटी से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है । उसके बाद चेन्नई में नौकरी कर रही थी। लेकिन लॉकडाउन में लौटी तो मोनिका ने BPSC की तैयारी की और सफलता हासिल की.

सातवां स्थान – विनय कुमार
बिहार के जमालपुर के रहने वाले विनय कुमार ( Vinay Kumar)को BPSC में सातवां स्थान मिला है। विनय ने IIT दिल्ली से सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग की है। इंजीनियरिंग के बाद उन्होंने पटना और गोरखपुर में कोचिंग खोल दिया था. वे टारगेट 20-20 नाम से कोचिंग भी चलाते हैं.

आठवां स्थान – सदानंद कुमार
पूर्वी चंपारण के रहने वाले सदानंद कुमार ने बीपीएससी में आठवां स्थान हासिल किया है। उनके पिता किसान हैं. सदानंद ने IIT गुवाहाटी से सॉफ्टवेयर में इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है. उन्होंने मीडिया से बातचीत में बताया कि खुद 6 से 8 घंटे पढ़ाई की है.

नौवीं रैंक 9- आयुष कृष्णा
बीपीएससी के टॉप टेन की लिस्ट में नौवें स्थान पर मुजफ्फरपुर के आयुष कृष्णा हैं. आयुष कृष्णा भी इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर चुके हैं और बेंगलुरु में सॉफ्टवेयर इंजीनियर नौकरी कर रहे थे. साल 2018 से वो BPSC की तैयारी कर रहे हैं.

दसवीं रैंक – अमर्त्य आदर्श
अरवल जिला के रहने वाले अमर्त्य आदर्श को BPSC में दसवां स्थान हासिल हुआ है । उन्होंने नालंदा ओपन यूनिवर्सिटी से इतिहास से ग्रेजुएट किया है। उनका चयन वायुसेना में हो गया था. 9 साल से ज्यादा वायुसेना में काम करने के बाद सिविल सेवा की तैयारी में लग गए. उन्होंने सेल्फ स्टडी से इस परीक्षा में सफलता हासिल की है.

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In जॉब एंड एजुकेशन

Leave a Reply

Check Also

सरकारी कर्मचारियों पर CM नीतीश सख्त.. जारी किया बड़ा आदेश

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सरकारी दफ्तरों में कर्मचारियों की कार्यशैली को सुधारना चाहते हैं ।…