Home जॉब एंड एजुकेशन सिनेमा के सर्वोच्च अवॉर्ड ‘दादा साहेब फाल्के पुरस्कार’ के बारे में जानिए

सिनेमा के सर्वोच्च अवॉर्ड ‘दादा साहेब फाल्के पुरस्कार’ के बारे में जानिए

0

दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड फिल्म के क्षेत्र में भारत का सर्वोच्च पुरस्कार है। इसे हर साल राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह में दिया जाता है। ये पुरस्कार भारतीय सिनेमा में उत्कृष्ट योगदान देने वालों को दिया जाता है । इस पुरस्कार की शुरुआत दादा साहेब फाल्के के जन्म शताब्दी के मौके पर साल 1969 से हुआ था। ये अवॉर्ड ‘लाइफ टाईम अचीवमेंट अवार्ड’ के रूप में दिया जाता है । इस पुरस्कार के लिए नामों का चयन समिति करती है । जिनकी सिफारिश पर ये पुरस्कार दिया जाता है ।

कौन थे दादा साहेब फाल्के

दादा साहेब फाल्के का असली नाम धुंडिराज गोविंद फाल्के है। उन्हें भारतीय सिनेमा का पितामह भी कहा जाता है। दादा साहेब फाल्के का जन्म 30 अप्रैल 1870 को महाराष्ट्र के नासिक में हुआ था। दादा साहेब को बचपन से ही फिल्मों में रूचि थी । वे लंदन जाकर फिल्म प्रोडक्शन के लिए क्रैश क्रोस किया। वहां से लौटने के बाद उन्होने दादर में अपना स्टूडियो बनाया और आठ महीने की कड़ी मेहनत के बाद पहली मूक फिल्म “राजा हरिश्चंन्द्र” का निर्माण किया। ये फिल्म 1913 में कोरोनेशन थिएटर में प्रदर्शित किया गया। इसके बाद दादासाहब ने दो और फिल्में “भस्मासुर मोहिनी” और “सावित्री” बनाई। अपनी इन तीन फिल्मों के साथ 1915 में दादा साहेब विदेश चले गए। उसके बाद कोल्हापुर नरेश के आग्रह पर 1937 में दादासाहब ने अपनी पहली और अंतिम सवाक फिल्म “गंगावतरण” बनाई। दादासाहब ने कुल 125 फिल्मों का निर्माण किया। 16 फ़रवरी 1944 में 74 साल की उम्र में नासिक में उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया। दादा साहेब की याद में भारत सरकार ने साल 1969 में हर साल ‘दादा साहब फालके पुरस्कार’ प्रदान करने का ऐलान किया

दादा साहब फाल्के अवॉर्ड में स्मरणीय तथ्य
– पहली बार ये पुरस्कार साल 1969 में अभिनेत्री देविका रानी को दिया गया था
– हर साल ये पुरस्कार बर्ष के अंत में राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कारों के साथ दिया जाता है
– पुरस्कार में भारत सरकार की ओर से दस लाख रुपये नकद, स्वर्ण कमल और शॉल प्रदान किया जाता है
-1970 में फिल्म निर्माता बीएन सरकार को
-1971 में अभिनेता पृथ्वीराज कपूर को मरणोपरांत
-1972 में संगीतकार पंकज मलिक
-1973 में अभिनेत्री सुलोचना को दिया गया उनका असली नाम रूबी मेयर्स है
-1974 में फिल्म निर्देशक बी एन रेड्डी को
-1975 में अभिनेता और फिल्म निर्देशक डीएन गांगुली को
-1976 में अभिनेत्री कानन देवी को अवॉर्ड दिया गया
-1977 में फिल्म छायाकार, फिल्म निर्देशक नितिन बोस को
-1978 में संगीतकार रायचंद बोराल को पुरस्कार दिया गया
-1979 में अभिनेता सोहराब मोदी को ये सम्मान दिया गया
-1980 में अभिनेता पी जयराज सम्मानित किए गए
-1981 में संगीतकार नौशाद अली को सम्मानित किया गया
-1982 में अभिनेता एल वी प्रसाद को पुरस्कार दिया गया
-1983 में अभिनेत्री दुर्गा खोटे को उनके उत्कृष्ट अभिनय के लिए सम्मानित किया गया
-1984 में फिल्म निर्देशक सत्यजीत राय को सम्मानित किया गया
-1985 में अभिनेता वी शांताराम
-1986 में फिल्म निर्माता वी नागी रेड्डी
-1987 में फिल्म अभिनेता राजकपूर
-1988 में अभिनेता अशोक कुमार
-1989 में गायिका लता मंगेशकर
-1990 में अभिनेता ए नागेश्वर राव
-1991 में फिल्म निर्देशक भालजी पेंढारकर
-1992 में फिल्म निर्देशक और गायक भूपेन हजारिका
-1993 में गीतकार मजरूह सुल्तानपुरी
-1994 में अभिनेता दिलीप कुमार
-1995 में अभिनेता राजकुमार
-1996 में अभिनेता शिवाजी गणेशन
-1997 में गीतकार प्रदीप
-1998 में फिल्म निर्माता बी आर चोपड़ा
-1999 में फिल्म निर्देशक ऋषिकेश मुखर्जी
-2000 में गायिका आशा भोंसले
-2001 में फिल्म निर्देशक यश चोपड़ा
-2002 में अभिनेता देव आनंद
-2003 में फिल्म निर्देशक मृणाल सेन
-2004 में फिल्म निर्देशक अदूर गोपालकृष्णन
-2005 में फिल्म निर्देशक श्याम बेनेगल
-2006 में फिल्म निर्देशक तपन सिन्हा ( अदालती वजह से 2008 में दिया गया)
-2007 में गायक मन्ना डे
-2008 में छायाकार वीके मूर्ति
-2009 में फिल्म निर्माता डी रामानायडू
-2010 में फिल्म निर्देशक के बालाचंदर
-2011 में अभिनेता सौमित्र चटर्जी
-2012 में अभिनेता प्राण
-2013 में गीतकार गुलजार
-2014 में अभिनेता शशि कपूर
-2015 में अभिनेता मनोज कुमार
-2016 में फिल्म निर्देशक के विश्वनाथ
-2017 में अभिनेता विनोद खन्ना (मरणोपरांत)

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In जॉब एंड एजुकेशन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

मिड डे मिल बनाते वक्त बड़ा हादसा, बॉयलर फटा, 4 की मौत, 5 घायल

बिहार के मोतिहारी में स्थित एनजीओ के एक किचन में बॉयलर फटने से चार लोगों की मौत हो गई है। …