बुर्का के खिलाफ मुस्लिम छात्राओं ने खोला मोर्चा.. कहा, तालिबानी फरमान मंजूर नहीं

0

बिहार की मुस्लिम बेटियां अब तालिबानी फरमान मानने को तैयार नहीं हैं। बुर्का पहनने की फरमान के खिलाफ मुस्लिम छात्राओं ने आंदोलन किया। साथ ही हॉस्टल की अधीक्षक को हटाने की मांग को लेकर हंगामा किया।

छात्राओं ने पथराव किया
गर्ल्स हॉस्टल की छात्राओं ने न सिर्फ पोस्टर लेकर प्रदर्शन किया। बल्कि ईंट और पत्थर भी चलाए। छात्राओं का कहना था कि अधीक्षक तालिबान की तरह शरिया कानून लागू करना चाहती हैं ।

क्या है पूरा मामला
मामला भागलपुर में बीएन कॉलेज के पास स्थित अल्पसंख्यक गर्ल्स हॉस्टल की है। जहां छात्राओं ने अधीक्षक नाहिदा नसरीन को हटाने के लिए हंगामा किया। साथ ईंट और पत्थर भी बरसाए। छात्राओं का आरोप है कि अधीक्षक गालियां देती हैं। हमेशा बुर्के में रहने को कहती हैं। तालिबान की तरह शरिया कानून लागू करना चाहती हैं।

अधीक्षक पर आरोप
छात्राओं का आरोप है कि अगर वे बुर्का नहीं पहनती हैं तो अधीक्षक मारपीट और गाली गलौच करती हैं। वे तालिबान की तरह यहां भी शरिया कानून लागू करना चाहती हैं। छात्राओं का कहना था कि गर्मी में अगर ट्राउजर पहन लेती हैं या किसी स्कूटी वाली छात्रा से बात करती दिख जाती हैं, तब भी अधीक्षक गालियां देने लगती हैं।

घरवालों से झूठी शिकायत
इतना ही नहीं कहा कि अधीक्षक घरवालों को झूठी शिकायतें करती हैं । छात्राओं को कहना था कि बुर्का नहीं पहने पर अधीक्षक घर वालों को फोन कर झूठा आरोप लगाती हैं। वे माता पिता को बताती हैं उनकी बेटी लड़कों से बात करती है ।

कुछ दिन पहले हॉस्टल की जांच हुई थी
आपको बता दें कि कुछ दिनों पहले इस हॉस्टल में हथियार होने की आशंका में नाथनगर सीओ और पुलिस ने छापेमारी की थी। लेकिन मामला बकरी का बच्चा का निकला। दरअसल, एक छात्रा दुपट्टे में छिपाकर बकरी के बच्चे को ले आई थी। लेकिन पुलिस को सूचना दी गई थी कि वो हथियार छिपाकर लाई थी। जिसके बाद पुलिस ने छापेमारी की थी

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

नालंदा में रफ्तार का कहर.. बेकाबू ट्रक ने तीन युवकों रौंदा.. तीनों की मौत

नालंदा जिला में एक बार फिर तेज रफ्तार ने तीन युवकों की जान ले ली है । बताया जा रहा है कि ब…