चिराग पासवान को झटके पर झटका.. पहली पार्टी टूटी फिर परिवार और अब..

0

चिराग पासवान को झटके पर झटका लग रहा है। पहले परिवार और पार्टी टूटी
और अब बंगला भी छीन गया है। जिस 12 जनपथ पर पिछले 30 सालों से
रामविलास पासवान का कब्जा था अब वो चिराग पासवान से छीन गया है।

रेल मंत्री को आवंटित
चिराग पासवान को अब 12 जनपथ स्थित उनका बंगला खाली करना होगा ।
क्योंकि ये बंगला अब रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव को आवंटित कर दिया गया है ।
इस बंगले पर पिछले तीन दशक से रामविलास पासवान का कब्जा था।

शरद का बंगला पशुपति के पास
वहीं,चिराग पासवान के चाचा और केंद्रीय मंत्री पशुपति पारस को भी नया बंगला
आवंटित हो गया है । पशुपति पारस को शरद यादव का बंगला आवंटित किया
गया है । यानि पशुपति पारस के घर का नया पता 7 तुगलक रोड हो गया है।

12 जनपथ लेने से इनकार
आपको बता दें कि पशुपति पारस को पहले रामविलास पासवान का जनपथ
स्थित 12 नम्बर बंगला आवंटित करने का ही प्रस्ताव दिया गया था लेकिन
उन्होंने उसे लेने से मना कर दिया था.

रिस्क लेना नहीं चाहते थे पारस
दरअसल, 12 जनपथ अपने नाम करवा कर पशुपति पारस कोई राजनीतिक
ज़ोखिम उठाना नहीं चाहते थे. क्योंकि जब से पशुपति पारस चिराग पासवान को
अपदस्थ कर लोकसभा में पार्टी के नेता बने हैं तबसे चिराग पासवान उनपर
परिवार को धोखा देने का आरोप लगाते रहे हैं। ऐसे में अगर रामविलास पासवान
का सरकारी बंगला पशुपति पारस को आवंटित होता तो चिराग पासवान को इस
बंगले से बाहर करवाने का आरोप उनके माथे ही लगता .

नॉर्थ एवेन्यू में रहेंगे पासवान
चिराग पासवान को 14 जुलाई को ही 12 जनपथ स्थित बंगला ख़ाली करने का
नोटिस दिया गया था. और उन्हें एक सांसद के तौर पर नॉर्थ एवेन्यू में पहले से
ही घर आवंटित किया हुआ है.

चिराग का इमोशनल लगाव
12 जनपथ से चिराग पासवान का अलग ही लगाव है। क्योंकि जन्म से लेकर
अब तक चिराग पासवान इस घर में रहते आ रहे हैं। रामविलास पासवान जब
कुछ दिनों के लिए मंत्री पद से हटे थे तब भी उन्होंने अपना बंगला बरकरार
रखा था।

8 अक्टूबर तक का समय मांगा
चिराग पासवान ने शहरी विकास मंत्रालय से बंगला खाली करने के लिए 8
अक्टूबर तक का समय मांगा है । चिराग पासवान चाहते हैं कि उनके पिता
रामविलास पासवान की पहली बरसी इसी बंगले में मनाएं। चिराग पासवान अभी
अपनी मां के साथ इसी बंगले में रहते हैं । 8 अक्टूबर को रामविलास पासवान
की पहली बरसी है.

 

 

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

नालंदा में रफ्तार का कहर.. बेकाबू ट्रक ने तीन युवकों रौंदा.. तीनों की मौत

नालंदा जिला में एक बार फिर तेज रफ्तार ने तीन युवकों की जान ले ली है । बताया जा रहा है कि ब…