मोदी कैबिनेट में RCP सिंह और पशुपति पारस को वरीयता क्रम में कौन सा स्थान ?

0

मोदी कैबिनेट का विस्तार हो गया है। 43 मंत्रियों ने शपथ ले ली है । जिसमें 36 नए मंत्री हैं जबकि 7 मंत्रियों का प्रमोशन हुआ है । बिहार से जेडीयू के आरसीपी सिंह और एलजेपी के पशुपति पारस को मंत्री बनाया गया है। जबकि बीजेपी सांसद आरके सिंह को प्रमोशन दिया गया है। उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाया गया है । मंत्रियों के विभाग का भी बंटवारा हो गया है। साथ ही वरीयता क्रम के जरिए उन्हें उनकी वरीयता भी निर्धारित कर दी गई है । वरीयता क्रम आपको बताएं उससे पहले उनका विभाग बता दें

आरसीपी सिंह को इस्पात मंत्रालय
मोदी कैबिनेट में जेडीयू भी शामिल हो गई है।जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह को कैबिनेट मंत्री बनाया गया है । साथ ही उन्हें इस्पात मंत्रालय( Steel Ministry) दिया गया है । यानि अब सेल(SAIL) के तहत आने वाले सभी कारखानों के मालिक आरसीपी सिंह ही होंगे । साथ ही इस्पात उद्योग से जुड़े सभी निर्णय भी यही लेंगे ।

पशुपति पारस को कैबिनेट मंत्री
एलजेपी सांसद और रामविलास पासवान के छोटे भाई पशुपति पारस को भी मोदी कैबिनेट में जगह दी गई है। पशुपति पारस को खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय दिया गया है । ये मंत्रालय पहले हरसिमरत कौर के पास था लेकिन किसान आंदोलन की वजह से उन्होंने इस्तीफा दे दिया था।

वरीयता क्रम में टॉप 5 कौन
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भारत सरकार के मंत्रियों के विभागों और उनकी वरीयता क्रम की सूची भी जारी कर दी है । जिसमें प्रधानमंत्री के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को स्थान दिया गया है । उसके बाद गृह मंत्री अमित शाह और फिर नितिन गडकरी का नंबर आता है । यानि भारत सरकार में दूसरे स्थान पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, तीसरे स्थान पर गृहमंत्री अमित शाह, चौथे नंबर पर सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी जबकि पांचवें स्थान पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण हैं।

बिहार के मंत्रियों में वरीयता क्रम में आरसीपी और पारस का स्थान
बिहार से बने मंत्रियों में वरीयता क्रम में सबसे ऊपर गिरिराज सिंह हैं। गिरिराज सिंह को ग्रामीण विकास मंत्री बनाया गया है । वरीयता क्रम में उनका स्थान 17वां है। गिरिराज सिंह के बाद बिहार से बने मंत्रियों में दूसरा स्थान इस्पात मंत्री आरसीपी सिंह (19वां स्थान ), फिर पशुपति पारस( 21वां स्थान) और उसके बाद आरके सिंह (24वां ) का स्थान है।

आरसीपी,पारस से ऊपर और नीचे कौन कौन
मोदी कैबिनेट में वरीयता क्रम में छठे स्थान पर कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर,7वें स्थान पर विदेश मंत्री एस जयशंकर,8वें स्थान पर आदिवासी मामलों के मंत्री अर्जुन मुंडा,9वें स्थान पर महिला विकास मंत्री स्मृति ईरानी, 10वें स्थान पर वाणिज्य-उद्योग मंत्री पीयूष गोयल,11वें स्थान पर शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान,12वें स्थान पर संसदीय मंत्री प्रह्लाद जोशी, 13वें स्थान पर MSME मंत्री नारायण राणे,14वें स्थान पर आयुष मंत्री सर्बानंद सोनोवाल,15वें स्थान पर अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी,16वें स्थान पर सामाजिक अधिकारिता मंत्री वीरेंद्र कुमार,17वें स्थान पर ग्रामीण विकास मंत्री गिरिराज सिंह,18वें स्थान पर नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया,19वें स्थान पर इस्पात मंत्री आरसीपी सिंह, 20वें स्थान पर रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव,21वें स्थान पर खाद्य प्रसंस्करण मंत्री पशुपति पारस, 22वें स्थान पर जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत,23वें स्थान पर कानून मंत्री किरन रिजिजू, 24 वें स्थान पर ऊर्जा मंत्री आरके सिंह, 25वें स्थान पर पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी, 26वें स्थान पर स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया,27वें स्थान पर श्रम मंत्री भूपेंद्र यादव,28वें स्थान पर भारी इस्पात मंत्री महेंद्र नाथ पांडे,29वें स्थान पर मछली उत्पादन मंत्री पुरुषोत्तम रुपाला, 30वें स्थान पर संस्कृति मंत्री जी किशन रेड्डी और 31वें स्थान पर सूचना प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर हैं। ये सभी कैबिनेट मंत्री हैं

मोदी के साथ मीटिंग में अंतर दिखेगा साफ
इसे आप इस तरह समझ सकते हैं जैसे स्कूल में बच्चों को रोल नंबर होता है ठीक उसी प्रकार मोदी सरकार में इन मंत्रियों को ये वरीयता क्रमांक है। इसी के अनुरुप मंत्रियों के बैठने की व्यवस्था होती है। साथ ही उसी के मुताबिक कुर्सियां भी लगाई जाती है।बाकी राज्य मंत्री या राज्य मंत्री ( स्वतंत्र प्रभार )हैं. यानि वे सब वरीयता क्रम में कैबिनेट मंत्री से नीचे होते हैं।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

नालंदा का स्कूल संचालक निकला दरिंदा.. स्कूल में युवक को जिंदा जलाकर मार डाला

नालंदा जिला में एक खौफनाक वारदात सामने आई है । जहां स्कूल संचालक ने एक युवक को जिंदा जलाकर…