कोरोना पर केंद्र सरकार का बड़ा ऐलान..माता-पिता के निधन पर बच्चों को मिलेगा..

0

ये खबर आपके लिए जरूरी है। ये ख़बर आपके परिवार, पड़ोस, दोस्तों या किसी और के काम आ सकती है । क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना से अनाथ हुए बच्चों के लिए 10 लाख रुपए देने का ऐलान किया है । ये मदद पीएम केयर्स फंड से दिया जाएगा।

अनाथ बच्चों की मदद करेंगे प्रधानमंत्री
कोरोना संक्रमण की वजह से अपने माता-पिता को खो चुके बच्चों की मदद के लिए मोदी सरकार आगे आई है । केंद्र सरकार ने PM केयर्स फॉर चिल्ड्रन स्कीम का ऐलान किया है। इसके तहत ऐसे बच्चों को 18 साल की उम्र तक हर महीने आर्थिक मदद दी जाएगी। 23 साल की उम्र पूरी होने पर उन्हें PM केयर्स फंड से 10 लाख रुपये एकमुश्त मिलेंगे।

मुफ्त शिक्षा का भी प्रावधान
सरकार ने ऐसे बच्चों की पढ़ाई के लिए भी दो घोषणाएं की हैं। उनकी पढ़ाई का खर्च सरकार उठाएगी और हायर एजुकेशन के लिए अगर लोन लिया है तो उसमें राहत दी जाएगी। लोन का ब्याज सरकार PM केयर्स फंड से देगी। साथ ही आयुष्यमान भारत योजना के तहत 5 लाख रुपए तक का स्वास्थ्य बीमा मिलेगा। इसका प्रीमियम PM केयर्स फंड से ही दिया जाएगा।

PM मोदी ट्वीट कर कहा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि बच्चे देश के भविष्य का प्रतिनिधित्व करते हैं। हम उनकी मदद और सुरक्षा के लिए सब कुछ करेंगे। एक समाज के रूप में यह हमारा कर्तव्य है कि हम अपने बच्चों की देखभाल करें।

https://twitter.com/narendramodi/status/1398630525435265032
बच्चे के नाम फिक्स्ड डिपॉजिट
1. PM केयर्स फंड से ऐसे हर बच्चे के लिए एक कोष बनाया जाएगा। इसमें 10 लाख रुपए जमा किए जाएंगे।
2. इसके जरिए 18 साल की उम्र होने तक बच्चे हर महीने एक तय राशि मदद के तौर पर मिलेगी।
3. 23 साल की उम्र होने पर उसे यह पूरी रकम एक साथ दे दी जाएगी।

स्कूली पढ़ाई
4. 10 साल से कम उम्र के बच्चों को नजदीकी केंद्रीय विद्यालय या प्राइवेट स्कूल में डे स्कॉलर के रूप में एडमिशन दिया जाएगा।
5. अगर बच्चे का एडमिशन किसी निजी स्कूल में होता है तो PM केयर्स फंड से राइट टु एजुकेशन के नियमों के मुताबिक फीस दी जाएगी।
6. उनकी स्कूल ड्रेस, किताबों और नोटबुक पर होने वाले खर्च के लिए भी भुगतान किया जाएगा।

हायर एजुकेशन के लिए मदद
1. बच्चे को मौजूदा एजुकेशन लोन नॉर्म्स के मुताबिक, भारत में प्रोफेशनल कोर्स या हायर एजुकेशन के लिए लोन लेने में मदद दी जाएगी। इस लोन का ब्याज भी PM केयर्स से दिया जाएगा।
2. इसके विकल्प के तौर पर ऐसे बच्चों को केंद्र या राज्य सरकार की योजनाओं के तहत ग्रेजुएशन या प्रोफेशनल कोर्स के लिए कोर्स फीस या ट्यूशन फीस के बराबर स्कॉलरशिप दी जाएगी।
3. जो बच्चे मौजूदा स्कॉलरशिप स्कीम के तहत एलिजिबल नहीं हैं, उनके लिए PM केयर्स से उन्हें एक जैसी स्कॉलरशिप मिलेगी।

हेल्थ इंश्योरेंस
सभी बच्चों को आयुष्मान भारत योजना (PM-JAY) के तहत लाभार्थी माना जाएगा। उन्हें 5 लाख रुपये का हेल्थ बीमा कवर मिलेगा। 18 साल की उम्र तक इन बच्चों की प्रीमियम राशि का भुगतान PM केयर्स से किया जाएगा।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In काम की बात

Leave a Reply

Check Also

नालंदा में चलती स्कॉर्पियो में भीषण आग.. ड्राइवर की गलती से स्वाहा हुई गाड़ी

नालंदा जिला में चलती स्कॉर्पियो गाड़ी में भीषण आग लग गई। जिसके बाद सड़क पर कुछ देर के लिए …