नालंदा के सांसद कौशलेंद्र कुमार लोकसभा से सस्पेंड.. आवाज उठाना पड़ा भारी.. जानिए क्यों हुई कार्रवाई

0

नालंदा के जेडीयू सांसद कौशलेंद्र कुमार को लोकसभा के शीतकालीन सत्र से सस्पेंड कर दिया है। ये कार्रवाई लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के द्वारा किया गया है । नालंदा लाइव ने जब इस बारे में जेडीयू सांसद कौशलेंद्र कुमार से बात की तो उन्होंने कहा कि स्पीकर को जिस व्यक्ति पर एक्शन लेना चाहिए था। उसपर कार्रवाई नहीं कर रहे हैं बल्कि उसे संरक्षण दे रहे हैं ।

क्यों हुआ एक्शन
दरअसल, संसद में सुरक्षा चूक के मसले पर लोकसभा में लगातार चौथे दिन हंगामा हुआ। जिसके बाद लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने 33 सांसदों को सस्पेंड कर दिया। जिसमें नालंदा के जेडीयू सांसद कौशलेंद्र कुमार के साथ साथ कांग्रेस पार्टी के सदन के नेता अधीर रंजन चौधरी को भी निलंबित कर दिया गया है । जिन 33 सांसदों को आज लोकसभा से सस्पेंड किया गया है । उसमें कांग्रेस के 11 सांसद, तृणमूल कांग्रेस के 9, डीएमके के 9, जेडीयू के 1 और अन्य दलों के 3 सांसद शामिल हैं ।

कौशलेंद्र कुमार ने क्या कहा
निलंबन के मामले पर नालंदा के सांसद कौशलेंद्र कुमार से जब नालंदा लाइव ने बात की तो सरकार पर उनका गुस्सा फूट पड़ा । कौशलेंद्र कुमार ने कहा कि जिस सांसद ने गलत किया। उसे बचाया जा रहा है. स्पीकर और पूरी सरकार बीजेपी सांसद प्रताप सिम्हा को बचाने में जुटी है । उन्होंने सरकार से सवाल पूछते हुए कहा कि. जिस सांसद की अनुशंसा पर अपराधी सदन के भीतर घुसे और सेंधमारी की घटना को अंजाम दिया । उस सांसद पर कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही है । उसे बचाया क्यों जा रहा है । सांसद कौशलेंद्र कुमार ने इसे लोकतंत्र की हत्या करार दिया है ।

आरोपी को पकड़ने वालों पर एक्शन क्यों
आपको यहां बता दें कि जब आरोपी सागर शर्मा लोकसभा की कार्यवाही के दौरान विजिटर गैलरी से कूदा था और बेंच को फानते हुए स्पीकर की तरफ बढ़ रहा था। तो उस वक्त नालंदा के सांसद कौशलेंद्र कुमार भी सदन में मौजूद थे और बाकी सांसदों के साथ मिलकर उन्होंने आरोपियों को पकड़ा था । सांसदों ने आरोपी सागर शर्मा की पिटाई भी की थी और फिर पुलिस के हवाले कर दिया था। सांसदों और सिक्योरिटी स्टाफ ने एक दूसरे आरोपी मनोरंजन गौड़ा को भी सदन के भीतर से पकड़ा था। ऐसे में जेडीयू सांसद कौशलेंद्र कुमार केंद्र की मोदी सरकार को घेर रहे हैं । उनका कहना है कि सरकार बीजेपी सांसद प्रताप सिम्हा पर कार्रवाई नहीं कर रही है। उल्टे उन सांसदों पर एक्शन किया जा रहा है जिन्होंने आरोपियों को पकड़ा था ।

शाह पर साधा निशाना
कौशलेंद्र कुमार ने गृहमंत्री अमित शाह पर भी निशाना साधा.. उन्होंने कहा कि विपक्ष की तो दो ही मांग है । एक उस बीजेपी सांसद पर एक्शन हो जिसने पास पर आरोपी संसद में दाखिल हुए थे औऱ दूसरा सुरक्षा में चूक पर गृह मंत्री अमित शाह सदन में बयान दें। जेडीयू सांसद ने कहा कि गृह मंत्री जो बयान मीडिया में दे रहे हैं वही बयान सदन में आकर क्यों नहीं देते . आखिर गृहमंत्री अमित शाह को किस बात का डर है। वो संसद में जवाब देने से भाग क्यों रहे हैं ।
इसके बाद राज्यसभा में भी हंगामा हुआ। इसके चलते सभापति जगदीप धनखड़ ने 45 विपक्षी सांसदों को पूरे सत्र के लिए (22 दिसंबर तक) निलंबित कर दिया।

राज्य सभा से 45 सांसद सस्पेंड
आपको बता दें कि इससे पहले 14 दिसंबर को लोकसभा से 13 सांसद निलंबित किए गए थे। इनमें कांग्रेस के 9, CPI (M) के 2, DMK और CPI के एक-एक सांसद थे। इनके अलावा राज्यसभा सांसद डेरेक ओ’ब्रायन को भी 14 दिसंबर को सस्पेंड किया गया था। शीतकालीन सत्र से अब तक कुल मिलाकर 92 सांसदों को सस्पेंड किया जा चुका है। लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने कार्यवाही शुरू होते ही 15 मिनट की स्पीच दी। कहा कि घटना पर राजनीति होना दुर्भाग्यपूर्ण है। हंगामा बढ़ा तो सदन की कार्यवाही 12 बजे तक स्थगित हो गई। बाद में यह 2 बजे और फिर कल तक के लिए स्थगित कर दी गई। सांसदों के निलंबन के बाद लोकसभा कल (मंगलवार) तक के लिए स्थगित हो गई।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

बिहार में महागठबंधन को एक और बड़ा झटका.. एक और विधायक का विकेट गिरा.. जानिए पूरा मामला

बिहार में महागठबंधन को एक और बड़ा झटका लगा है । पहले स्पीकर की कुर्सी गई.. फिर फ्लोर टेस्ट…