Home खास खबरें नालंदा में महागठबंधन का सिरदर्द बढ़ा.. सीएम नीतीश कुमार ने संभाली कमान

नालंदा में महागठबंधन का सिरदर्द बढ़ा.. सीएम नीतीश कुमार ने संभाली कमान

जैसे जैसे मतदान के दिन नजदीक आता जा रहा है नालंदा लोकसभा सीट का सियासी पारा बढ़ता जा रहा है. महागठबंधन ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को उनके ही गढ़ में मात देने की रणनीति बनाई है. अति पिछड़ा वोट के जरिए नीतीश कुमार की घेराबंद की है. लेकिन अब जब छह चरण के मतदान खत्म हो गए हैं. ऐसे में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नालंदा लोकसभा सीट पर चुनाव प्रचार की कमान खुद संभाल ली है.

मुख्यमंत्री की मैराथन रैली
नालंदा में जेडीयू की जीत पक्की करने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने चुनाव प्रचार की कमान संभाल ली है. नीतीश कुमार ने शनिवार को हरनौत में जनसभा को संबोधित किया था. तो वहीं रविवार को गिरियक के घोसरावां में चुनावी सभा को संबोधित किया. जबकि आज यानि सोमवार को मुख्यमंत्री बिंद के प्लस टू स्कूल में रैली को संबोधित करेंगे

इसे भी पढ़िए-नालंदा में JDU का टेंशन बढ़ा: सीएम नीतीश की अपील भी नहीं कर रहा है काम.. कैसे जानिए

मुख्यमंत्री ने विकास के नाम पर मांगा वोट
घोसरावां में चुनाव प्रचार के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विकास के नाम पर वोट मांगा. उन्होंने कहा कि बिहारवासियों की सेवा करते रहना ही हमारा धर्म है। कोई व्यक्ति ऐसा नहीं है, जहां तक विकास की किरणें नहीं पहुंची हों। हम न्याय के साथ लगातार विकास कर रहे हैं। इसी बूते बिहार की सभी 40 लोकसभा सीटें एनडीए के खाते में होंगी।

इसे भी पढ़िए-नालंदा में मुख्यमंत्री नीतीश की सभा में आपस में उलझे जदयू नेता.. हंगामे का Video देखिए

लालू परिवार पर साधा निशाना
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जदयू प्रत्याशी कौशलेंद्र कुमार को भारी बहुमत से जिताने की अपील की। इस मौके पर उन्होंने लालू प्रसाद और उनके परिवार पर जमकर निशाना साधा.. उन्होंने कहा कि आप ऐसी सरकार चुनें, जिसकी रुचि सेवा में हो, न कि मेवा खाने में। साथ ही कहा कि पंद्रह साल पहले एक परिवार का शासन था। पहले पति फिर, पत्नी। उन्होंने परिवार के आगे किसी का विकास नहीं किया। परंतु हमारा परिवार पूरा बिहार के लोग हैं।

इसे भी पढ़िए-नालंदा की लड़ाई ने तेजप्रताप-तेजस्वी को मिलाया.. लेकिन दूरियां नहीं मिटी.. जानिए कैसे

राबड़ी देवी पर भी निशाना साधा
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी पर भी इशारों में निशाना साधा. उन्होंने कहा कि महिला मुख्यमंत्री होने के बाद भी महिलाओं के लिए कुछ नहीं हुआ। 2001 में पंचायत का चुनाव हुआ तो महिलाओं को कुछ नहीं मिला। लेकिन जब बिहार में हमारी सरकार आई तो देश में पहली बार महिलाओं को 50 फीसदी आरक्षण दिया। महिलाओं के उत्थान के लिए जीविका योजना की शुरुआत की गई। 44 प्रखंड में जीविका समूह संचालित हैं। जिसके माध्यम से लगभग एक करोड़ महिलाएं आत्मनिर्भर बन चुकी हैं। सात निश्चय कार्यक्रम के तहत गली नली, हर घर नल जल पहुंचाया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने छात्राओं के लिए पोशाक और साइकिल योजना का भी जिक्र किया।

मोदी सरकार के काम भी गिनवाए
सीएम नीतीश कुमार ने मोदी जी के नाम पर भी वोट मांगे. उन्होंने कहा कि केंद्र में मोदी जी के नेतृत्व में देश में जो काम हुआ है, वो सराहनीय और प्रशंसनीय है। देश के हर हिस्से, हर क्षेत्र, हर एक वर्ग का विकास हुआ है। देश में पहले कोई आतंकवादी घटना होती थी तो पहले की सरकार कोई भी कदम उठाने से पहले कई बार सोचती थी। परंतु मोदी जी के नेतृत्व में आतंकवाद के खिलाफ त्वरित कार्रवाई होती है। मोदी जी के नेतृत्व में भारत विश्व गुरु बनने की ओर अग्रसर है। उन्होंने उज्ज्वला योजना, जन धन योजना और आयुष्मान भारत योजना जैसी कई योजनाओं को गिनाया.

कौन कौन थे मौजूद
इस मौके पर राज्यसभा सांसद रामनाथ ठाकुर, नालंदा के प्रभारी मंत्री शैलेश कुमार, बीजेपी के प्रवक्ता राजीव रंजन, नवादा के पूर्व विधायक कौशल यादव, बिहारशरीफ के विधायक डॉक्टर सुनील कुमार, राजगीर विधायक रवि ज्योति, जद यू प्रवक्ता संजय कांत सिन्हा, जदयू महासचिव रंजीत कुमार, विरेश कुमार, ललन कुमार आशीष चन्द्रवंशी सहित सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद थे।

Load More Related Articles
Load More By कृष्ण मुरारी स्वामी
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

फागू चौहान के राज्यपाल बनने से क्यों उड़ी जेडीयू की नींद.. जानिए

फागू चौहान को जब बिहार का राज्यपाल बनाया गया तो सबको आश्चर्य हुआ. किसी ने नहीं सोचा था कि …