‘बड़े खेल’ की तैयारी में RCP सिंह, धर्मगुरुओं से ताबड़तोड़ मुलाकात के मायने समझिए

0

केंद्रीय मंत्री RCP सिंह का ग्रह नक्षत्र इन दिनों ठीक नहीं चल रहा है। पहले राज्यसभा की सीट छीन गई। फिर पटना में सरकारी आवास को खाली करना पड़ा । अब केंद्रीय मंत्री की कुर्सी पर खतरा मंडरा रहा है। कोई नहीं जानता कि 7 जुलाई के बाद आरसीपी सिंह केंद्र में मंत्री बने रहेंगे या नहीं? क्योंकि आरसीपी सिंह का राज्यसभा का टर्म 7 जुलाई को खत्म हो रहा है. जिसके बाद वो किसी भी सदन के सदस्य नहीं रहेंगे। ऐसे में ज्यादा से ज्यादा वे अगले 6 महीने तक प्रधानमंत्री के आशीर्वाद से मंत्री बने रह सकते हैं । लेकिन छह महीने के भीतर उन्हें किसी सदन का सदस्य बनना अनिवार्य है ऐसे में सारे सवाल उनकी सदस्यता को लेकर ही खड़े हो रहे हैं लेकिन इन सब के बीच आरसीपी सिंह जबसे दिल्ली गए है तब से लगातार दौरे पर हैं.

आरसीपी सिंह धार्मिक जगहों का दौरा कर अध्यात्म और धार्मिक लोगों से लगातार मुलाकात कर उनका आशीर्वाद भी ले रहे हैं. आरसीपी सिंह के इस कदम से राजनीतिक हलके में कयासों का बाजार भी गर्म है. ये जानना भी बेहद महत्वपूर्ण है कि पिछले कुछ दिनों में आरसीपी सिंह ने किन महत्वपूर्ण धार्मिक हस्तियों से मुलाकात की और मुलाकात के बाद आरसीपी सिंह ने उनके बारे में क्या राय दी.

निरंजनी अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरि महाराज जी से मिलने के बाद आरसीपी ने कहा की आचार्य महा मंडलेश्वर स्वामी कैलाश नंद गिरी महाराज से मुलाकात करने का अवसर प्राप्त हुआ.

इसके बाद आरसीपी सिंह ने शांतिकुंज हरिद्वार में श्रद्धेया जीजी श्रीमती शैलबाला पंड्या जी से मिलकर उनका आशीर्वाद प्राप्त किया। उन्होंने कहा कि ये मेरे लिए ये सौभाग्य का पल था.

धार्मिक महात्माओं से मुलाक़ात का सिलसिला लगातार जारी था. आरसी पी सिंह ने इस दौरान जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर आचार्य स्वामी अवधेशानंद गिरि जी से भी मुलाकात की.

आरसीपी सिंह ने Parmarth Niketan के प्रमुख ,आध्यात्मिक गुरु पूज्य स्वामी चिदानंद जी सरस्वती जी से आत्मीय मुलाकात. पूज्य स्वामी जी के प्रति हार्दिक आभार प्रकट करता हूँ.

आरसीपी सिंह ने योग गुरु बाबा रामेदव से भी मुलाकात । उन्होंने कहा कि भारतीय योग को विश्व के कोने-कोने तक पहुंचाने वाले बाबा श्री रामदेव जी से मुलाकात हुई और उनके साथ पतंजलि योगपीठ में स्थित वैदिक कन्या गुरुकुल का भ्रमण किया.

आपको बता दें कि ये जितने धर्मगुरुओं से मुलाकात हुई है । इनकी पकड़ केंद्र की मोदी सरकार में अच्छी है । इन सभी धर्मगुरुओं की प्रधानमंत्री मोदी से व्यक्तिगत संबंध है। प्रधानमंत्री मोदी के लिए ये सब संकटमोचक भी रहे हैं । ऐसे में माना जा रहा है कि आरसीपी सिंह इनके जरिए संघ में पैठ बनाने की कोशिश कर रहे हैं और जल्ह ही कोई बड़ा ऐलान कर सकते हैं । हालांकि अभी ये कहना जल्दबाजी होगा। क्योंकि नीतीश कुमार के बगैर आरसीपी की ना संगठन में कोई खासा पकड़ है और ना ही कुर्मी समाज में ।

एक तरफ आरसीपी सिंह धार्मिक गुरुओं से मुलाकात कर रहे थे तो वहीं दूसरी तरफ विभागीय दौरा भी कर रहे थे. आरसीपी ने पन्ना जिला स्थित NMDC Ltd के हीरा खदान का निरीक्षण एवं पदाधिकारी और कर्मियों के साथ समीक्षा बैठक की. हाल ही में हुए नीलामी में इस खदान से प्राप्त हीरा विक्रय से 52 करोड़ का राजस्व एनएमडीसी को प्राप्त हुआ है.

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In राजनीति

Leave a Reply

Check Also

बिहार में 19 जिलों के भू-अर्जन पदाधिकारी बदले गए.. जानिए कहां किनका तबादला

बिहार सरकार ने 19 जिलों के भू-अर्जन पदाधिकारी का तबादला कर दिया है। जिसमें नालंदा,जहानाबाद…