नालंदा के 14 गांवों में भूमि संरक्षण विभाग कराएगा निर्माण.. जानिए किस-किस गांव के हैं नाम

0

भूमि संरक्षण विभाग नालंदा के 14 गांवों में प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना 2.0 के तहत अपनी पहचान बनाएगा। इसके लिए 14 गांवों को चिन्हित किया गया है। जहां ईपीएफ(इंट्री प्वाइंट एक्टिविटी) के तहत काम किया जाना है।

क्या क्या बनेगा
भूमि संरक्षण विभाग नालंदा 14 चयनित गांवों में कुल 6 योजना पर काम करेगी। इस योजना के तहत गांव के इंट्री प्वाइंट पर कोई योजना क्रियान्वित की जाएगी ताकि भूमि संरक्षण विभाग के बारे में लोग जान सकें। साथ चबुतरा, शौचालय, कुंआ जीर्णोद्धार आदि का काम किया जाएगा।

इसे भी पढ़िए-नालंदा डीएम की बड़ी कार्रवाई, कार्यपालक सहायक बर्खास्त.. जानिए क्यों ?

किस गांव में क्या बनेगा
इसके लिए सिलाव प्रखंड के 8 पंचायतों के 14 गांवों का चयन किया गया है । जिसमें करियन्ना में चबूतरा निर्माण,पाकी गोरमा चबूतरा निर्माण,भट विगहा में सामुदायिक शौचालय,दुलरूआ विगहा में सामुदायिक कुंआ का जीर्णोद्धार,नरहर विगहा में सामुदायिक कुंआ का जीर्णोद्धार,नानंद में सामुदायिक कुंआ का जीर्णोद्धार ,भदारी में पैन का जीर्णोद्धार,घोसतावां में चबुतरा का निर्माण,तुलसी विगहा में चबुतरा का निर्माण,सीमा में सामुदायिक शौचालय का निर्माण,दुलरूआ बिगहा में सामुदायिक बोरवेल का निर्माण,बड़ाकर में सामुदायिक कुंआ का जीर्णोद्धार,धरमपुर में सामुदायिक कुंआ का जीर्णोद्धार,रामानंद नगर में सामुदायिक शौचालय का निर्माण,चमरडीहा में तालाब का निर्माण

इसे भी पढ़िए-बिहार में किसान ड्रोन योजना की शुरुआत.. जानिए किसान ड्रोन योजना के फायदे

सबसे ज्यादा कुंओं का जीर्णोद्धार
सहायक निदेशक ने बताया कि इस योजना के तहत किस गांव में क्या-क्या काम किया जाना है। इसके लिए सर्वे कराने के बाद योजना तैयार किया गया है। इन योजनाओं पर 23.646 लाख रुपया खर्च करने का प्रावधान है। चयनित गांवों में संबंधित योजनाओं पर कितनी राशि खर्च की जानी है। इसका प्रारूप तैयार कर विभाग को रिपोर्ट उपलब्ध करा दिया गया है। सबसे ज्यादा सामुदायिक कुंआ का जीर्णोद्धार किया जाएगा। इसके अलावे चबुतरा निर्माण, सामुदायिक शौचालय, पैन जीर्णोद्धार, सामुदायिक बोरवेल एवं तालाब का निर्माण किया जाना है।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In बढ़ता बिहार

Leave a Reply

Check Also

अजब बिहार में गजब की चोरी.. 500 मीटर लंबी रेल पटरी उखाड़कर कबाड़ी को बेच दिया.. जानिए पूरा मामला

बिहार में चोरी की घटना तो आम बात है। कभी पुल की चोरी तो कभी चारा की चोरी. अब पटरी चोरी की …