SP साहब ने 5 पुलिस अफसरों को लॉकअप में किया बंद.. पानी,पेशाब सब अंदर.. जानिए क्यों ?

0

लापरवाह पुलिस अफसरों पर लगातार कार्रवाई की जा रही है । एक ऐसा ही मामला सामने आया है । जहां कैदियों की जगह 5 पुलिस अफसरों को एक साथ हाजत में बंद कर दिया गया। तस्वीरों में देख सकते हैं कि वर्दी में दिख रहे सभी पांच पुलिसकर्मी हाजत में परेशान दिख रहे हैं. कोई बेचैन होकर पानी पी रहा है तो कई खैनी लगाते दिख रहे हैं. इतना ही नहीं हाजत में एक पुलिस अफसर तो सू-सू करते दिख रहा है ।

क्या है पूरा मामला
बताया जा रहा है कि SP साहब औचक निरीक्षण करने रात में एक थाना पहुंचे । जहां केस डायरी अपडेट नहीं होने पर एसपी साहब ने कार्रवाई की । उन्होंने 5 पुलिसकर्मियों को ही लॉकअप में बंद कर दिया। पांचों पुलिस अफसर करीब 40 मिनट लॉकअप में बंद रहे। अब पुलिस एसोसिएशन ने एसपी साहब के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है ।

कहां का है मामला
मामला नवादा का है । जहां के पुलिस अधीक्षक डॉ गौरव मंगला नगर थाना का निरीक्षण करने अचानक नगर थाना पहुंचे । रात के करीब 9 बज रहे थे। वे थाने में दर्ज केसों का रिव्यू करने लगे। इस दौरान कुछ अफसरों की लापरवाही सामने आई । जिसके बाद उन्होंने लापरवाह पुलिस अफसरों को हवालात में बंद कर दिया।

किस किस अफसर पर कार्रवाई
एसपी डॉ. गौरव मंगला ने जिन पांच पुलिस अफसरों को हवालात में बंद किया । उसमें नवादा नगर थाना में पदस्थापित ASI शत्रुधन पासवान, SI रामरेखा सिंह, ASI संतोष पासवान, ASI संजय सिंह और ASI रामेश्वर उरांव शामिल हैं ।

इनकार करते रहे अधिकारी
मामले की खबर मीडिया में सामने आने पर पुलिस अधीक्षक डॉ. गौरव मंगला ने आरोपों को खारिज कर दिया। साथ ही नगर थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर विजय कुमार सिंह ने भी ऐसी घटना से इनकार किया।

CCTV सामने आया
अब पांचों पुलिस अफसर के हाजत में बंद होने का सीसीटीवी फुटेज सामने आया है । जिसके बाद बिहार पुलिस एसोसिएशन काफी गंभीर हो गय़ा है । बिहार पुलिस एसोसिएशन ने पूरे मामले पर कड़ा एतराज जताते हुए मामले की न्यायिक जांच की मांग की है.

हाजत में बंद किसी भी सूरत में स्वीकार नहीं
अध्यक्ष ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए बताया कि इस तरह किसी भी पुलिस अधीक्षक की करवाई से कनीय पुलिस पदाधिकारियों में मनोबल कमजोर होता है. किसी तरह की लापरवाही पर कागजी दस्तावेज के सहारे ही करवाई की जा सकती है. बिना किसी बड़े जुर्म के हाजत में बंद किसी भी सूरत में स्वीकार नहीं है.

एसपी पर मुकदमा की मांग
बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय सिंह ने बिहार पुलिस मुख्यालय और राज्य सरकार को चिट्ठी लिखकर नवादा के एसपी डॉ गौरव मंगला के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने की मांग की है.

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In पुलिस प्रशासन

Leave a Reply

Check Also

सरकारी कर्मचारियों पर CM नीतीश सख्त.. जारी किया बड़ा आदेश

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सरकारी दफ्तरों में कर्मचारियों की कार्यशैली को सुधारना चाहते हैं ।…