बिहार विधानसभा में बजट पेश, 6 मॉडल शहर बनाने का ऐलान.. जानिए कहां कहां ?

0

साल 2022-23 के लिए बिहार सरकार ने अपना बजट पेश कर दिया है । बिहार विधानसभा में राज्य के उपमुख्यमंत्री और वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने बजट पेश किया । इस दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी सदन में मौजूद रहे। खास बात ये है कि सरकार ने बिहार में छह शहरों को मॉडल टाउन में विकसित करने का ऐलान किया है।

सड़कें अपग्रेड होगी
बिहार सरकार ने राज्य की सड़कों को अपग्रेड करने का फैसला किया है । जिसके तहत सड़कों का चौड़ीकरण और मजबूतीकरण किया जाएगा। साथ ही ग्रामीण सड़कों की सुलभ संपर्कता के तहत 1660 सड़कों का सर्वे चल रहा है। जिसकी कुल लंबाई 12555 किमी है। शहरी क्षेत्रों में 120 बाईपास की योजना की प्रक्रिया चल रही है। इन योजनाओं पर 450 करोड़ रुपए का बजट प्रावधान किया गया है।

इसे भी पढ़िए-खुशखबरी.. ग्रेटर पटना का खाका तैयार.. 3 साल में बदल जाएगी राजधानी की तस्वीर

छह शहर मॉडल टाउन बनाए जाएंगे
बिहार सरकार ने शहर के छह शहरों को मॉडल शहर बनाने का काम कर रही है । जिसका ऐलान बजट में किया गया है । इन शहरों को स्वच्छ और कचरा मुक्त बनाने के साथ साथ आधारभूत शहरी संरचना का विकास किया जाएगा । नीतीश सरकार ने जिन छह शहरों को मॉडल शहर के तौर पर विकसित कर रही है उसमें मुजफ्फरपुर, बिहारशरीफ, मुंगेर, सुपौल, बोधगया और राजगीर शामिल है ।

इसे भी पढ़िए-खुशखबरी.. बिहार के छह शहर बनेंगे मॉडल सिटी.. लिस्ट में नालंदा के 2 शहर शामिल

साफ सफाई पर ज्यादा जोर
मॉडल टाउन परियोजना के तहत सबसे ज्यादा जोर शहर की साफ सफाई पर दी जाएगी। इस परियोजना के तहत शहर को स्वच्छ बनाया जाएगा। साथ ही ट्रैफिक व्यवस्था को दुरुस्त करने पर जोर दिया जाएगा। वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने बजट के दौरान कहा कि शहरों को कचरा मुक्त बनाने के लिए नीतीश सरकार राज्य के 34 नगर निकायों में 52 मेटेरियल रिकवरी फैसिलिटी और 66 नगर निकायों में 105 वेस्ट कंपोस्ट केंद्र का संचालन कर रही है।

इसे भी पढ़िए-कैसे करें भरोसा.. भाई ने दिया गिफ्ट, बहन पहुंची जेल.. जानिए पूरा मामला

साथ ही वृद्धजनों के लिए सभी जिला मुख्यालय में वृद्धाश्रम का निर्माण होगा। शहरी गरीबों को आवास उपलब्ध कराया जाएगा। बहुमंजिला इमारत बनाकर बेघरों को आवास उपलब्ध कराया जाएगा। सभी शहरों में नदी घाटों पर विद्युत शवदाह गृह और मोक्षधाम बनाने के लिए काम हो रहा है। सभी शहरों में जलजमाव समस्या से निदान के लिए काम होगा। इस पर 550 करोड़ रुपए का बजट प्रावधान किया गया है।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In बढ़ता बिहार

Leave a Reply

Check Also

नालंदा में ट्रेन से कटकर एक युवक और एक युवती की मौत.. जानिए पूरा मामला

नालंदा जिला में बख्तियारपुर-राजगीर रेलखंड पर ट्रेन से कटकर दो लोगों की मौत हो गई है । जिसम…