मिताली के मिशन एवरेस्ट को मिला अधिकारी और समाजसेवी का साथ

0

बिहार की बेटी और नालंदा की रहने वाली मिताली प्रसाद दुनिया की सबसे उंची चोटी माउंट एवरेस्ट को फतह करना चाहती है। मिताली अपने बढ़ते कदमों से अब तक दुनिया के कई पर्वतचोटियों को नाप चुकी है। लेकिन उसका सपना तो हिमालय के माउंट एवरेस्ट पर तिरंगा फहराना है। जहां से खड़ा होकर वो भारत माता की जयकार लगाना चाहती है और वो एक बार जोर से चिल्लाकर कहना चाहती है कि हां मैं बिहार की बेटी हूं ताकि हर बिहारी का सीना गर्व चौड़ा हो सके।

लेकिन बिहार की इस बछेंद्री पाल के रास्ते में सबसे बड़ी रुकावट वही है जिससे हर बिहारी नौजवान गुजरता है वो है पैसे की कमी। इच्छा शक्ति है लेकिन संसाधन इक्ट्ठा करने लिए पैसे नहीं है। लेकिन नालंदा की बेटी के सपने को पूरा करने के लिए अधिकारी और समाजसेवी आगे आए हैं ।

पर्वतारोही मिताली प्रसाद के मिशन एवरेस्ट में सहयोग के लिए समाजसेवी दानिश मलिक और नालंदा पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष सह दीपनगर थाना अध्यक्ष मोहम्मद मु्श्ताक सामने आए हैं।बिहारशरीफ के दीपनगर थाना में आयोजित एक समारोह में नालंदा की मिताली को सम्मानित किया गया और उनके सपने को पूरा करने के लिए आर्थिक मदद भी दी गई ।

इस मौके पर दीपनगर के थानाध्यक्ष मोहम्मद मुश्ताक ने कहा कि मिताली प्रसाद जिला या राज्य ही नहीं बल्कि देश का नाम रोशन कर रही है कई चोटियों पर भारत का तिरंगा लहरा चुकी हैं अब इनका मिशन माउंट एवरेस्ट है जिसे लेकर इन्हें आर्थिक मदद की जरूरत है आज छोटी सी भेंट दीपनगर थाना अध्यक्ष की ओर से दी गई है आप लोग भी सहयोग करें ताकि नालंदा की बेटी देश का नाम गौरवान्वित कर सके।

वही समाजसेवी दानिश मलिक ने कहा कि युवा पीढ़ी को आगे बढ़ाना हम सब युवाओं की जिम्मेवारी है। मिताली प्रसाद नालंदा की बेटी है ऐसे में हम सभी को मिलजुलकर आर्थिक रूप से सहयोग कर मिताली प्रसाद को आगे बढ़ाने में हर संभव मदद करना चाहिए आज एक छोटी सी भेंट हमारी ओर से दी गई है आप लोग भी सहयोग करें ताकि मिताली आगे बढ़े और जिले का नाम रोशन करें।

ऊंची ऊंची पर्वतचोटियों को अपने पैरों से नापने वाली बिहार की होनहार बेटी मिताली प्रसाद के कदम चंद पैसों के कारण ठिठक गए हैं । मिताली प्रसाद का लक्ष्य सबसे बड़ी चोटी माउंट एवरेस्ट फतह करने का है.इसके लिए उसे 35 लाख रुपए की जरुरत है। जिसके लिए हम सब को मिलकर आगे आना है । मिलकर हाथ बढ़ाइए बेटी को आगे बढ़ने में मदद कीजिए

नालंदा जिला के कतरीसराय थाना क्षेत्र के मायापुर गांव में जन्मी मिताली प्रसाद दक्षिण अमेरिका के सबसे ऊँची चोटी माउंट एकोंकागुआ पर अकेले चढने वाली पहली भारतीय सबसे कम उम्र की महिला है। माउंट एकोंकागुआ की ऊंचाई 6962 मीटर है । इसके अलावा कंचनजंघा और टाइगर हिल की ऊंची चोटियों का भी फतह किया है।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

बिहार में 19 जिलों के भू-अर्जन पदाधिकारी बदले गए.. जानिए कहां किनका तबादला

बिहार सरकार ने 19 जिलों के भू-अर्जन पदाधिकारी का तबादला कर दिया है। जिसमें नालंदा,जहानाबाद…