IAS में पास होने पर बंटी मिठाई, DM ने दी बधाई.. बाद में गलत निकला रोल नंबर, जानिए पूरी कहानी

0

बिहार में हर मां बाप का सपना होता है कि उसका बेटा IAS या IPS बने । क्योंकि IAS-IPS का पद सबसे प्रतिष्ठित और पावरफुल माना जाता है। दो दिन पहले जब संघ लोक सेवा आयोग द्वारा सिविल सेवा परीक्षा का रिजल्ट जारी किया। जो सफल हुआ उसके घर परिवार में खुशियों की लहर दौड़ गई। मिठाइयां बांटी गई। हर तरफ वाहवाही होने लगी । लेकिन सोचिए जब दो दिन बाद पता चले कि वो IAS ये आशीष नहीं कोई और है तो क्या होगा ? मामला बड़ा दिलचस्प है। ये गलती से नहीं हुआ बल्कि साजिशन हुआ है। डीएम तक ने बधाई दे दी। लेकिन दोस्तों ने पोल खोल दी।

क्या है पूरा मामला
दरअसल, सोमवार को संघ लोकसेवा आयोग ने IAS का रिजल्ट घोषित किया था। जिसमें आशीष कुमार नामक एक प्रतिभागी को 85वां रैक मिला था। खगड़िया जिले के मानसी थाना क्षेत्र के राजाजान गांव के रहने वाले आशीष कुमार ने अपने माता पिता को पास होने की सूचना दी । खुशी में आशीष कुमार के माता-पिता ने आस-पास के लोगों को मिठाई खिलाकर जश्न मनाया। आशीष और परिजन ने फेसबुक व व्हाट्सएप के माध्यम से यूपीएससी की परीक्षा में 85वां रैंक पर चयनित होने की सूचना पोस्ट कर दिया। वहीं यूपीएससी की परीक्षा में आशीष की चयनित की सूचना मिलने पर डीएम ने भी देर रात बधाई दिया।

दोस्त ने खोल दी आशीष की पोल
आशीष के दोस्त ने यूपीएससी की परीक्षा में चयन की सूचना को गलत ठहराया। आशीष के दोस्त ने बताया कि वह लोगों को गुमराह कर रहा है। ऐसी कोई बात नहीं है। बताया कि खगड़िया का आशीष का यूपीएससी में 85वां रैंक नहीं आया है। बल्कि अररिया जिले के आशीष कुमार का यूपीएससी में 85वां रैंक में रिजल्ट बना है। जो डीएसपी के पद पर पूर्व से तैनात है। इधर, आशीष की मां ने बताया कि यूपीएससी की परीक्षा में रोल नंबर से मिलान करने में गलती हो गई है। आशीष का रिजल्ट नहीं हुआ है। बल्कि अररिया जिले के आशीष का रिजल्ट हुआ है।

इसे भी पढ़िए-बेटों पर भारी बिहार की बेटी, IAS में हासिल की दूसरा स्थान.. जानिए कौन हैं

दोस्तों ने एक और पोल खोली
आशीष के दोस्तों ने बताया कि साल 2020 में भी आशीष ने यूपीएससी की परीक्षा में चयन होने की बात कही थी। उस समय पर भी न्यूज में रिजल्ट प्रकाशित किया था। आशीष ने बताया कि यूपीएससी 2020 की प्रतियोगिता परीक्षा में तीन अंक से चूक गए थे। लेकिन सेकेंड लिस्ट में रिजल्ट हो गया। जिसमें आशीष को इंडियन रेलवे प्रोटेशन फोर्स सर्विस में काम करने का मौका मिला है। लेकिन अब ज्वॉइनिंग लेटर नहीं आया है।

 इसे भी पढ़िएःगर्लफ्रेंड के साथ होटल में रंगरेलियां मना रहे इंस्पेक्टर को बीवी ने पकड़ा.. फिर क्या हुआ जानिए

आशीष ने बताया कि सातवीं तक की पढ़ाई डीएवी स्कूल खगड़िया से की है। बताया कि 8वीं से 10वीं की पढ़ाई पटना जिले के मोकामा डीएवी स्कूल से की है। तथा 12वीं की पढ़ाई सेंट पॉल स्कूल बेगूसराय से की है। जबकि ग्रेजुएट की पढ़ाई मगध यूनिवर्सिटी के रामरतन सिंह कॉलेज मोकामा से किया है। जबकि इग्नू से एमए इंग्लिश की तैयारी कर रहे हैं। बताया कि यूपीएससी प्रतियोगिता की परीक्षा की तैयारी दिल्ली में कर रहे हैं।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In जॉब एंड एजुकेशन

Leave a Reply

Check Also

घूसखोर पुलिसवालों पर गाज.. 4 पुलिसवाले गिरफ्तार.. थानाध्यक्ष लाइन हाजिर.. जानिए पूरा मामला

बिहार पुलिस की वर्दी एक बार फिर दागदार हुई है । घूस लेने और जबरन वसूली के मामले में पुलिस …