Home अन्य जिले तेजस्वी बोले- हमने गलती की थी

तेजस्वी बोले- हमने गलती की थी

0

पटना के ऐतिहासिक गांधी में आयोजित गरीब महासम्मेलन में बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने कहा कि हमलोगों ने गलती थी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए कहा कि हम लोगों की गलती थी कि हमने आपको सीएम बना दिया । आपको बता दें कि नीतीश कुमार ने कुछ दिन पहले कहा था कि हमारी गलती से कुछ लोग नेता बन गए. हालांकि उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया था लेकिन माना जा रहा है कि नीतीश कुमार ने पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी के लिए ये बात कही थी ।

अब तेजस्वी यादव ने इसका जवाब देते हुए नीतीश कुमार पर सीधा वार किया और कहा कि हिंदुस्तान में शायद ही किसी राज्य में चार साल में चार सरकार बनी हों. उन्होंने कहा कि बिहार सरकार ने मोहन भागवत को बुलाकर दंगा भड़काने का काम किया. साथ ही उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि बिहार सरकार को नागपुर से चलाया जा रहा है.

पूर्व मुख्यमंत्री जीतराम मांझी ने ये सम्मेलन इसलिए बुलाया था क्योंकि मुख्यमंत्री पद पर रहते हुए उन्होंने जो 34 फैसले लिए थे उसमें से एक भी फैसला मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लागू नहीं किया, हालांकि मांझी को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ही बनाया था. मांझी ने नीतीश कुमार से उन फैसलों को लागू करने का अनुरोध किया. जीतनराम मांझी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से गुजारिश की कि वो फैसला हमने लिया है उसे लागू करें. मांझी ने कहा कि हम जिस सपने को लेकर एनडीए में गए थे वो पूरा नहीं हो सका.

मांझी ने कहा कि मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अनुरोध किया था कि न्यायिक सेवा में भी आरक्षण लागू किया जाये लेकिन प्रधानमंत्री ने इसे अनसुना कर दिया. उन्होंने कहा कि न्याय व्यस्था में दलितों की भागीदारी कम होने के कारण दलितों को न्याय नहीं मिल पाता है. मांझी ने लालू प्रसाद यादव की मांग का समर्थन करते हुए कहा कि जातिगत जनगणना की रिपोर्ट को सार्वजनिक किया जाए, जो बहुजाति हैं, जो पिछड़े हैं उन्हें फायदा मिलना चाहिए. मांझी ने कहा कि देश में दलितों की स्थिति ठीक नहीं है.

इस मौके पर तेजस्वी यादव ने जमकर बीजेपी पर निशाना साधा और कहा कि मौजूदा केंद्र सरकार आरक्षण विरोधी है और ये आरक्षण खत्म करना चाहते हैं. ये दलित विरोधी हैं. समाज में नफरत फैलाना चाहते हैं. बीजेपी देश की संस्कृति खत्म करना चाहती है. उन्होंने कहा कि बीजेपी के सिर्फ 6 ऐजेंडा हैं. मंदिर, मस्जिद, दंगा, हिंदू, मुस्लिम और पाकिस्तान और ये सब केवल जनता को भटकाने के लिए हैं. तेजस्वी ने कहा कि लालू यादव जनता की आवाज उठाते रहे लेकिन बीजेपी और नीतीश कुमार ने उन्हें परेशान किया और फंसाने का काम किया. केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह पर दलित की जमीन हड़पने का आरोप है लेकिन उनका कुछ नहीं हुआ. लालू जी ने कोई गुनाह नहीं किया लेकिन फिर भी उन्हें फंसा दिया गया.

मांझी ने कहा कि हम नीतीश कुमार से एक विनती करना चाहते हैं कि उनका जो शराबबंदी कानून है उसमें संशोधन किया जाए, क्योंकि उससे सबसे ज्यादा नुकसान दलितों और गरीबों का ही हो रहा है, बेकसूर लोग पकड़े जा रहे हैं. हालांकि हमने नीतीश कुमार के शराबबंदी कानून का सबसे पहले समर्थन किया था लेकिन अभी जो भी स्थिति है उससे यही लग रहा है कि इस कानून का इस्तेमाल सिर्फ गरीब और दलित के लिए ही हो रहा. तेजस्वी यादव ने कहा कि जीतनराम मांझी के महागठबंधन में आने से गठबंधन मजबूत हुआ है.

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In अन्य जिले

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

नालंदा में छठी से नौवीं तक के छात्रों को छात्रवृति पाने का सुनहरा मौका

नालंदा जिला में छठी से नौवीं क्लास तक की पढ़ाई करने वाले छात्रों औऱ उनके परिजनों के लिए ये…