तेजस्वी यादव ने खाई कसम.. कहा- मंत्री श्रवण कुमार मांगे माफी तभी…

0

बिहार में इस बार नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और बिहार सरकार के मंत्री श्रवण कुमार आमने सामने हैं। हालात ये है कि तेजस्वी यादव ने ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार से माफी मांगने की मांग पर अड़ गए हैं। उन्होंने शपथ लिया है कि जब तक मंत्री श्रवण कुमार माफी नहीं मांगते हैं. तब तक वो विधानसभा की कार्यवाही में हिस्सा नहीं लेंगे ।

विधानसभा में हुई थी तकरार
ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार के बयान पर बिहार विधानसभा में जमकर हंगामा हुआ। हालात ये हो गए कि तेजस्वी यादव समेत आरजेडी विधायकों ने सदन से वॉकआउट कर दिया।

क्यों हुआ हंगामा
दरअसल, बिहार विधानसभा में मनरेगा मजदूरों को रोजगार देने का मामला उठा। तेजस्वी यादव ने आंकड़ों के जरिए बिहार सरकार को मनरेगा मजदूरो को रोजगार देने के नाम पर घेरा । जिसके बाद ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार ने जवाब देते हुए तेजस्वी यादव के आंकड़ों को फर्जी करार दिया। उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव ने आंकड़े के लिए जिस वेबसाइट का जिक्र किया है वो आंकड़ा विभाग का नहीं है

इसे भी पढि़ए-बिहार में लोहार जाति को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका, नीतीश सरकार का फैसला रद्द

श्रवण कुमार के बयान पर हंगामा
तेजस्वी यादव के आंकड़े को झूठा और गलत बताने पर बिहार विधानसभा में हंगामा शुरू हो गया । आरजेडी विधायकों ने सदन में हंगामा शुरू किया और सदन से वाकआउट कर गए.

इसे भी पढ़िए-पंजाब में पटियाला के महाराज को हराने वाले अजीतपाल सिंह के बारे में जानिए

किस आंकड़े पर हंगामा
दरअसल, पिछले दिनों ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार ने विधानसभा में अपने उत्तर में कहा था कि बिहार में मनरेगा अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2021-22 में कुल 62 लाख 9 हजार व्यक्तियों द्वारा काम की मांग की थी और 61 लाख 97 हजार को काम मिला. यानि देश में सबसे अधिक 99.81% व्यक्तियों को काम मिला.

तेजस्वी के आंकड़े क्या थे
तेजस्वी यादव ने ग्रामीण विकास मंत्री के दावे को गलत बताया और उन्होंने कहा कि मनरेगा की website पर कुल एक्टिव मजदूरों की संख्या 94 लाख 66 हजार है. जिसमें से 45 लाख 67 हजार लोगों को काम मिला. इनमें से केवल 14590 लोगों को ही 100 दिन का काम मिला.

तेजस्वी ने क्या खाई शपथ
तेजस्वी यादव ने कहा कि सदन में मुझे झूठा करार दिया गया, जबकि मैंने स्पीकर के सामने सारी हकीकत रख दी है. ग्रामीण विकास विभाग के सचिव के सामने वेबसाइट को चेक किया गया जिसमें वेबसाइट सही पाया गया है. फिर सदन में मुझे झूठा क्यों करार दिया गया. आज एक मंत्री ने कहा है अगले दिन कोई और मंत्री बोलना शुरू करेगा. जब तक मंत्री माफी नहीं मांगते या सहमत नहीं होते तब तक सदन नहीं जाऊंगा.

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

बिहार में इंटर एग्जाम से आधे घंटे पहले मैथ्स का पेपर लीक ?.. जानिए कहां से लीक हुआ पेपर

बिहार में इंटर परीक्षा से पहले प्रश्न पत्र लीक होने की ख़बर आ रही है। आज पहले दिन मैथ्स की…