लैंड फॉर जॉब मामले में क्‍या तेजस्‍वी यादव को डिप्टी सीएम के पद से इस्‍तीफा देना चाहिए? सर्वे में हैरान करने वाला रिजल्ट

0

लैंड फॉर जॉब्स मामले में जबसे तेजस्वी यादव को CBI ने आरोपी बनाया है. तब से बिहार की सियासत गरमाई हुई है । बीजेपी समेत पूरा विपक्ष मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर तेजस्वी यादव से इस्तीफा लेने के लिए दबाव बना रही है. लेकिन असली सवाल ये है कि क्या तेजस्वी को इस्तीफा दे देना चाहिए.. क्या नीतीश कुमार को तेजस्वी को कैबिनेट से बर्खास्त कर देना चाहिए. इस पूरे मुद्दे पर बिहार की जनता क्या सोचती है. बिहार के लोग क्या मानते हैं.. इसे लेकर सर्वे किया गया है.. जिसमें चौंकाने वाला खुलासा हुआ है ।

लैंड फॉर जॉब्स मामले में सीबीआई का आरोप है कि साल 2004 से 2009 के बीच में इस घोटाले को अंजाम दिया गया था और नौकरियों के बदले लालू परिवार को जमीनें या तो तोहफे में दी गईं या फिर बेची गईं. इस मामले में तेजस्वी के पिता लालू प्रसाद यादव, मां राबड़ी देवी के साथ-साथ अन्य लोगों के खिलाफ सीबीआई पहले ही चार्जशीट दाखिल कर चुकी है.

इसे भी पढ़िए-मुख्यमंत्री के ब्लॉक में घूसखोर राजस्व कर्मचारी गिरफ्तार.. जानिए निगरानी ने कैसे जाल में फंसाया

अब इस मामले में सीबीआई ने कार्रवाई करते हुए दूसरा आरोपपत्र दाखिल किया है। जिसमें 14 अन्य लोगों के नाम जोड़े गए हैं. जिसमें लालू परिवार के सदस्यों के अलावा एके इन्फोसिस्टम्स और कई बिचौलियों को भी नामजद किया है. आरोपपत्र विशेष सीबीआई अदालत में दाखिल किया गया है

इसे भी पढ़िए-बिहार विधानसभा में भारी हंगामा.. जमकर चली कुर्सियां.. जानिए क्यों हुआ हंगामा

आरोपपत्र दाखिल होने के बाद बीजेपी लगातार तेजस्वी यादव पर हमलावर है और उनके इस्तीफे की मांग कर रही है. इसे लेकर विधानसभा से लेकर विधानपरिषद तक बीजेपी हंगामा कर रही है ।

लेकिन असली सवाल ये है कि बिहार की जनता क्या चाहती है । पूरे घटनाक्रम को किस तरह से देखती है. इसे लेकर C VOTER ने एक सर्वे किया । सर्वे में सबसे ज्यादा 47 फीसदी लोगों ने कहा कि लैंड फॉर जॉब मामले में चार्जशीट के बाद तेजस्वी यादव को इस्तीफा दे देना चाहिए. जबकि 42 फीसदी लोगों का कहना था कि तेजस्वी यादव को इस्तीफा देने की जरुरत नहीं है । तो वहीं 11 फीसदी लोगों ने कहा कि उन्हें इस बारे में ‘पता नहीं’ है.

सी वोटर्स के मुताबिक इसके लिए एजेंसी ने बिहार में 2 हजार 575 लोगों से बात की गई है. सर्वे गुरुवार और शुक्रवार को किया गया है. सर्वे में मार्जिन ऑफ एरर प्लस माइनस 3 से प्लस माइनस 5 फीसदी है.

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In नॅशनल न्यूज़

Leave a Reply

Check Also

बिहार में महागठबंधन को एक और बड़ा झटका.. एक और विधायक का विकेट गिरा.. जानिए पूरा मामला

बिहार में महागठबंधन को एक और बड़ा झटका लगा है । पहले स्पीकर की कुर्सी गई.. फिर फ्लोर टेस्ट…