बिहार में कोरोना का कहर, 21 लोगों की मौत से हड़कंप.. जानिए कहां कितनी मौतें हुईं

0

बिहार में कोरोना की दूसरी लहर मौत लेकर आई है। सूबे में 24 घंटे में 21 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है, जो अब तक का बड़ा रिकॉर्ड है। मरने वालों में 16 साल की लड़की भी शामिल है। यह डराने वाला आंकड़ा है और अब भी नहीं सावधानी बरती गई तो आने वाला समय काफी भयावह होगा। बिहार में अब तक कोरोना से मरने वालों की संख्या 1651 हो गई है।बिहार में बुधवार को कोरोना संक्रमित 21 मरीजों की मौत हो गई, जिनमें 11 पटना के रहने वाले थे। इनमें CID के इंस्पेक्टर राकेश कुमार भी शामिल हैं। वे 2009 बैच के अधिकारी थे। बिहार प्रशासनिक सेवा के अधिकारी अनीस अख्तर की भी कोरोना से मौत हो गई। वे बिहार तकनीकी सेवा आयोग में उप सचिव थे। पटना के PMCH में 4 तो NMCH में 3 संक्रमितों की जान चली गई। AIIMS पटना में भी 3 की मौत हो गई। गया में भी 2 मरीजों की मौत हो गई। सुपौल में एक मरीज ने दम तोड़ दिया तो बेतिया के GMCH में 2 महिला मरीजों की मौत हो गई।

BAS अफसर, इंस्पेक्टर समेत पटना में 11 की मौत
इस बीच राज्य के समाज कल्याण मंत्री है मदन सहनी भी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। उधर, गृह विभाग के प्रधान सचिव चैतन्य प्रसाद भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। ये 1990 बैच के IAS अधिकारी हैं। उन्हें पटना AIIMS में भर्ती कराया गया है। वित्त विभाग के प्रधान सचिव एस सिद्धार्थ भी संक्रमित हैं।

PMCH में 4 मरीजों ने दम तोड़ा
PMCH में जिन 4 मरीजों की जान गई, उनमें आरा निवासी 45 साल की महिला के अलावा मुंगेर निवासी 56 साल और पटना के कदमकुआं निवासी 70 साल की वृद्धा भी शामिल थी। यहां बेतिया की 16 साल की एक लड़की की भी कोरोना संक्रमण से मौत हो गई। पटना के NMCH में भी 3 मरीजों की मौत हो गई। सभी 50 साल के ऊपर के थे। इनमें दो पटना जबकि एक रोहतास का रहने वाला था।

AIIMS पटना में भी 3 संक्रमितों की मौत
AIIMS पटना में भी 3 संक्रमितों की मौत हो गई। तीनों बुजुर्ग थे और पटना के रहने वाले थे। इनमें राजेंद्रनगर निवासी 81 साल के वृद्ध के अलावा, 64 साल के कंकड़बाग और 72 साल के जलालपुर निवासी बुजुर्ग शामिल हैं। बिहार तकनीकी सेवा आयोग के उप सचिव अनीस अख्तर की मौत पटना के पारस हॉस्पिटल में हुई। बुधवार को सुपौल शहर में भी 60 वर्षीय एक वृद्ध की मौत हो गई। 4 दिन पहले ही उसने कोरोना का टीका लिया था। इस जिले में कोरोना के 43 नए पॉजिटिव मरीज मिले हैं। जिले में फिलहाल 147 कोरोना के एक्टिव मरीजों का इलाज जारी है।

गया में दो लोगों ने दम तोड़ा
गया में भी बुधवार को कोरोना संक्रमित दो लोगों ने दम तोड़ दिया। एक की सुबह तो दूसरे की दोपहर में मौत हुई। दोनों ANMMCH में भर्ती थे। सुबह में जिसकी मौत हुई उसकी उम्र 45 साल थी और वह जहानाबाद जिले का रहने वाला था। जिसकी जान दोपहर में गई उसकी उम्र 66 वर्ष थी और वह गया जिले का ही रहने वाला था। बेतिया के GMCH में 24 घंटे के अंदर दो कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई, दोनों महिलाएं थीं।

24 घंटे में 1483 पॉजिटिव केस
बुधवार को 24 घंटे में जांच का भी रिकॉर्ड टूटा। जांच का आंकड़ा एक लाख पार हो गया। 24 घंटे में 100134 लोगों की जांच कराई गई है, जिनमें कुल 4786 नए संक्रमित पाए गए हैं। केवल पटना में 1483 लोग संक्रमित पाए गए। प्रदेश के एक दर्जन जिले संवेदनशील हैं, जिनमें से आधा दर्जन जिलों की रफ्तार डराने वाली है। जांच के साथ बढ़ते आंकड़ा का यह हाल तब है जब रिपोर्ट काफी लेट मिल रही है। रिपोर्ट आने में तेजी आए तो जांच का आंकड़ा और डराने वाला होगा।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In कोरोना अपडेट

Leave a Reply

Check Also

नालंदा में कोरोना से फिल्म निर्माता और वकील समेत 6 लोगों की मौत

नालंदा जिले में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर काफी खतरनाक साबित हो रही है। कोरोना की दूसरी ल…