रिजल्ट की खुशी मनाने से पहले अविनाश की मौत, BPSC में पास होने पर रोया पूरा परिवार

0

भगवान भी अजीब खेल रचते हैं। पहले एक अदद सी सरकारी नौकरी पाने के लिए युवा जीतोड़ मेहनत करता है। लेकिन जब उसे सफलता मिलती है। तो उससे पहले भी भगवान ने उसे अपने पास बुला लिया है। जब घरवालों को रिजल्ट का पता चला तो पूरा परिवार फूट फूट कर रोया.

क्या है मामला
दरअसल, अविनाश का चयन बीपीएससी की मुख्य परीक्षा में हुआ है । लेकिन रिजल्ट आने के छह दिन पहले ही अविनाश की कोरोना के बाद हुई समस्याओं के कारण मौत हो गई थी। अविनाश के रिजल्ट के बारे में जैसे ही घरवालों को पता चला वैसे ही परिजन फूट-फूटकर रोने लगे

इसे भी पढ़िए-शिवानी की बिहार दारोगा में ज्वॉइनिंग से पहले मौत.. वैक्सीन पर उठे सवाल !

रिजल्ट आने से पहले अविनाश की मौत
दरअसल, अविनाश ने 65वीं बीपीएससी की मुख्य परीक्षा में सफलता हासिल की है. लेकिन रिजल्ट आने के छह दिन पहले यानि 24 जून को अविनाश की मौत हो गई थी। अविनाश 24 अप्रैल को कोरोना पॉजिटिव हुआ था। लेकिन इलाज के बाद वो निगेटिव होकर घर लौट गया था। लेकिन कोरोना के बाद होने वाली समस्या की वजह से कुछ पहले फिर उसकी तबियत बिगड़ी और आखिरकार सांस लेने में दिक्कत की वजह से 24 जून को मौत हो गई

इसे भी पढ़िए-महिला दोस्त के साथ की BPSC की तैयारी..  दोनों साथ-साथ सफलता पाई

कौन था अविनाश
अविनाश कुमार भोजपुर के पीरो प्रखंड के बैसाडीह गांव का रहने वाला था। उसने भोपाल से इलेक्ट्रॉनिक कम्युनिकेशन से बीटेक की डिग्री हासिल की। उसके बाद दिल्ली में रहकर कमीशन की तैयारी शुरू कर दी। 64वीं बीपीएससी में उसने पीटी और मेंस की परीक्षा पास की थी। लेकिन फाइनल रिजल्ट में जगह हासिल करने में असफल रहा । इस बार
65वीं पीटी के बाद मुख्य परीक्षा में उसने सफलता हासिल की। लेकिन इस बार वो इंटरव्यू नहीं दे पाएगा। क्योंकि अब वो भगवान को प्यार हो गया है।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In कोरोना अपडेट

Leave a Reply

Check Also

नालंदा का इंजीनियर समेत 5 गिरफ्तार, ऐय्याशी के लिए करता था डकैती

नालंदा पुलिस ने एक हाईप्रोफाइल चोर गिरोह का भंडाफोड़ किया है। जो ऐय्याशी के लिए डकैती करता…