रात में अचानक राज्यपाल से मिले सीएम नीतीश.. अटकलें तेज हुई

0

बिहार एनडीए भले ही ऑल इज वेल का दावा कर रही है । लेकिन हालात बता रहे हैं कि अंदरखाने कुछ गड़बड़ है । मुख्यमंत्री नीतीश कुमार रात में अचानक राज्यपाल से मिलने राजभवन पहुंचे। जिसके बाद सूबे की सियासी तापमान बढ़ गया है। राजनीतिक पंडित अटकलें लगाने शुरू कर दिए हैं ।

राज्यपाल से मिले सीएम नीतीश
बिहार विधानसभा में हुए बवाल के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राजभवन पहुंचे। करीब बीस मिनट तक उनकी मुलाकात राज्यपाल फागू चौहान से हुई। राज्यपाल से मुख्यमंत्री की मुलाकात के बाद कई तरह के कयास लगाए जाने लगे । हालांकि इसे शिष्टाचार मुलाकात बताया जा रहा है । मुख्यमंत्री ने राज्यपाल को गुलदस्ता भेंट किया।

स्पीकर-सीएम में हुई थी नोंकझोक
दरअसल, सोमवार को बिहार विधानसभा में कानून व्यवस्था को लेकर हंगामा हुआ। बीजेपी विधायक संजय सरावगी ने लखीसराय में कानून व्यवस्था पर सवाल पूछा था। मामला उठते ही सीएम बेहद नाराज हो गए। CM ने स्पीकर विजय सिन्हा को भी नहीं छोड़ा। कहा कि आप संविधान का खुलेआम उल्लंघन कर रहे हैं। इस तरह से सदन नहीं चलेगा। एक ही मामले को रोज-रोज उठाने का कोई मतलब नहीं है। इस दौरान CM और स्पीकर के बीच जमकर बहस हुई।

सीएम ने की समीक्षा बैठक
विधानसभा में हंगामे के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपराध नियंत्रण एवं विधि-व्यवस्था तो लेकर उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक की। एक अणे मार्ग स्थित संकल्प में यह समीक्षा बैठक हुई। बैठक के दौरान मुख्य सचिव आमिर सुबहानी और डीजीपी एसके सिंघल भी मौजूद रहे ।

मुख्यमंत्री ने सख्त हिदायत दी
समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा कि अपराध नियंत्रण को लेकर किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। साथ ही जांच संबंधी काम को बेहतर तरीके से ससमय पूरा करने का आदेश दिया। सीएम ने कहा कि अपराध अनुसंधान कार्य में किसी प्रकार की कोताही न हो, इसका सतत् अनुश्रवण करें। उन्होंने कहा कि अपराध का विश्लेषण जिला, अनुमंडल एवं थानावार करते हो और दोषियों को चिन्हित कर कड़ी कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि विधि-व्यवस्था हर हाल में मेंटेन रहे।

बैठक में कौन कौन मौजूद रहे
सीएम आवास पर हुई हाईलेवल मीटिंग में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव दीपक कुमार, मुख्य सचिव आमिर सुबहानी, पुलिस महानिदेशक एसके सिंघल, अपर मुख्य सचिव सामान्य प्रशासन सह गृह चैतन्य प्रसाद, मुख्यमंत्री के सचिव अनुपम कुमार मौजूद रहे । होली और रमजान के त्योहार को देखते हुए सीएम ने विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश दिया । साथ ही कहा कि असामाजिक तत्वों पर कड़ी नजर रखी जाय और गड़बड़ करने वालों पर सख्त कार्रवाई सुनिश्चित की जाए।

समीक्षा बैठक के बाद राज्यपाल से मुलाकात
मुख्यमंत्री आवास पर हुई उच्चस्तरीय बैठक के बाद सीएम नीतीश कुमार ने राज्यपाल फागू चौहान से मुलाकात की। माना जा रहा है कि नीतीश कुमार ने राज्यपाल को सूबे की कानून व्यवस्था की जानकारी दी ।

कहीं डैमेज कंट्रोल तो नहीं
कुछ लोग इसे सीएम नीतीश कुमार का डैमेज कंट्रोल की रणनीति मान रहे हैं । सीएम नीतीश कुमार ने जिस तरह से स्पीकर को विधानसभा में खरी खोटी सुनाया उससे बीजेपी का एक धड़ा नाराज़ है। माना जा रहा है इससे निपटने के लिए सीएम ने राज्यपाल से मुलाकात की है । ताकि बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व को ऑल इज वेल का मैसेज जा सके।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

बिहार में इंटर एग्जाम से आधे घंटे पहले मैथ्स का पेपर लीक ?.. जानिए कहां से लीक हुआ पेपर

बिहार में इंटर परीक्षा से पहले प्रश्न पत्र लीक होने की ख़बर आ रही है। आज पहले दिन मैथ्स की…