नालंदा में कोरोना से फिल्म निर्माता और वकील समेत 6 लोगों की मौत

0

नालंदा जिले में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर काफी खतरनाक साबित हो रही है। कोरोना की दूसरी लहर में मरने वालों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। नालंदा जिला में पिछले 24 घंटे में कोरोना से फिल्म निर्माता समेत छह लोगों की मौत हो गई है । जिसके बाद दूसरी लहर में अब तक 118 लोगों की जान जा चुकी है।

फिल्म निर्माता का निधन
कोरोना ने नालंदा जिला के एक फिल्मकार को छीन लिया है। बिहारशरीफ के छोटी पहाड़ी के रहने वाले फिल्म निर्माता एसके अमृत की कोरोना से मौत हो गई। एसके अमृत 55 साल के थे। कोरोना संक्रमित होने के बाद उन्हें 1 मई को पावापुरी के विम्स में भर्ती कराया गया था। जहां उनका निधन हो गया है । एसके अमृत की कर्मभूमि नालंदा और राजगीर की धरती ही रही है। उन्होंने ‘एक शातिर गुनहगार और ‘वंडरबॉय समेत कई फिल्में बनाई थी। जो पूरे देश के सिनेमाघरों में एक साथ प्रदर्शित हुई थी।

अधिवक्ता का निधन
बिहारशरीफ के बड़ी पहाड़ी के रहने वाले अधिवक्ता अशोक यादव की कोरोना से मौत हो गई है । उन्हें इलाज के लिए 12 दिन पहले पावापुरी के विम्स में भर्ती कराया गया था। लेकिन हालत में सुधार नहीं होने पर बेहतर इलाज के लिए पटना ले जाया गया। लेकिन हॉस्पीटल पहुंचते ही उनकी मौत हो गई।

बीड़ी अस्पताल में दो मरीजों की मौत
बिहारशरीफ के बीड़ी अस्पताल में कोरोना से दो मरीजों की मौत हो गई। बीड़ी मजदूर अस्पताल में मरने वालों में अस्थावां की डुमरावां गांव की रहने वाली 60 साल की मोइना खातून और इस्लामपुर की बराय गांव की रहने वाली 70 साल की सुमित्रा देवी शामिल हैं। बीड़ी अस्पताल में अब तक 16 लोगों की मौत हो चुकी है। नोडल पदाधिकारी डॉ. वीणा प्रभा के मुताबिक यहां मरीजों की मौत का सबसे बड़ा कारण है कि जो भी मरीज आ रहे हैं उनका ऑक्सीजन लेवल कम रहने के साथ-साथ सांस लेने में भी तकलीफ की शिकायत रहती है। जबकि कोविड केयर सेंटर कोरोना के सामान्य मरीजों के लिए है। लेकिन अस्पतालों में जगह नहीं मिलने के कारण लोग यहां भर्ती हो रहे हैं।

हिलसा के दो लोगों की मौत
कोरोना की वजह से हिलसा के दो लोगों की मौत हो गई । जिसमें एक लोहंडा गांव के रहने वाले 50 साल के शिव नारायण प्रसाद थे। उनका इलाज बिहारशरीफ के निजी अस्पताल में चल रहा था। वहीं हिलसा के घुंड़कुर गांव के रहने वाले 45 साल के सुधीर केवट की मौत इलाज के लिए अस्पताल ले जाने के क्रम में कुर्मिया बिगहा के पास हो गयी। वे हरनौत में राज मिस्त्री का काम करते थे। 10 दिन पहले जांच करवाने पर उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आयी थी। तबसे वे होम आइसोलेशन में थे। गुरुवार को तबीयत खराब होने पर परिजन उन्हें इलाज के लिए हिलसा ले जा रहे थे। इसी दौरान उनकी मौत हो गयी।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In कोरोना अपडेट

Leave a Reply

Check Also

नालंदा में चलती स्कॉर्पियो में भीषण आग.. ड्राइवर की गलती से स्वाहा हुई गाड़ी

नालंदा जिला में चलती स्कॉर्पियो गाड़ी में भीषण आग लग गई। जिसके बाद सड़क पर कुछ देर के लिए …