कोरोना पर नीतीश सरकार बड़ा फैसला.. जानिए क्या-क्या बंद होंगे

0

बिहार में एक बार फिर तेजी से कोरोना संक्रमण फैलने लगा है। जिसके बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कई बड़े फैसले लिए हैं। जिसमें नाइट कर्फ्यू भी शामिल है।

30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू
नीतीश सरकार ने पूरे बिहार राज्य में 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया है। ये नाइट कर्फ्यू शाम 7 बजे से लागू होगी। यानि शाम 7 बजे से दुकानों-प्रतिष्ठानों को बंद कर देना होगा। इसके बाद न दुकानें खुलेंगी, न मॉल और न शोरूम।

18 अप्रैल तक स्कूल कॉलेज बंद
साथ ही बिहार सरकार ने सूबे के सभी स्कूल और कॉलेजों को एक हफ्ते के लिए और बंद कर दिया है। यानि बिहार में अब सभी स्कूल कॉलेज और कोचिंग 18 अप्रैल तक बंद रहेंगे। आपको बता दें कि स्कूल, कॉलेज और कोचिंग को बंद करने का बिहार में विरोध हो रहा है।

सरकारी और प्राइवेट ऑफिसों के लिए गाइडलाइंस
बिहार सरकार ने सभी सरकारी ऑफिसों और प्राइवेट दफ्तरों के लिए गाइडलाइंस जारी किया है। जिसके मुताबिक सरकारी ऑफिसों में एक दिन में 35% हाजिरी रहेगी, जबकि प्राइवेट में 33 प्रतिशत। मतलब, एक कर्मचारी की ड्यूटी दो दिन बाद लगेगी।

सभी धार्मिक स्थल बंद
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सभी धार्मिक स्थलों को अगले आदेश तक बंद करने का ऐलान किया है । वहीं अंतिम संस्कार में अधिकतम 50 लोग शामिल हो सकते हैं। जबकि शादी समारोह में 200 लोगों को शामिल होने की इजाजत दी गई है ।

इन नियमों का पालन करना जरूरी
सभी दुकानों और प्रतिष्ठानों में दुकानकर्मियों और ग्राहकों के लिए सैनिटाइजर की व्यवस्था जरूरी होगी। सोशल डिस्टेंसिंग का खासा ध्यान रखा जाएगा। रेस्टोरेंट, भोजनालय और ढ़ाबा में निर्धारित संख्या के 25 फीसदी ही लोगों को ही बैठाया जाएगा। सभी सिनेमाहॉल 50 फीसदी लोगों को ही बैठने दिया जाएगा। पार्कों और उद्यानों में मास्क का उपयोग जरूरी है। पब्लिक ट्रांसपोर्ट में 50 फीसदी बैठने की अनुमति रहेगी। CM नीतीश कुमार ने कहा कि 11 से 14 अप्रैल तक वैक्सीनेशन का विशेष अभियान चलाया जाएगा। इन 4 दिनों में चार लाख तक जांच करेंगे।

4-5 दिनों में होगी सर्वदलीय बैठक
मुख्यमंत्रई ने यह भी कहा कि अगले 4-5 दिनों में सर्वदलीय बैठक भी बुलाई जाएगी। कोरोना के मामले प्रदेश में बढ़ते जा रहे हैं। इसके लिए तमाम तैयारियां की जा रही हैं। टेस्टिंग में बढ़ोतरी, वैक्सीनेशन का काम जारी है। उन्होंने यह भी कहा कि दवा लेने के बाद भी कोरोना हो जा रहा है। लोगों को इसके बारे में पता नहीं चल पा रहा है।

बाहर से आने वालों की कोरोना जांच होगी
दूसरे राज्य से बिहार लौटने वाले लोगों की स्टेशन पर कोरोना जांच की जाएगी। खासकर महाराष्ट्र से आने वाली ट्रेन पर फोकस किया जा रहा है। पॉजिटिव पाए जाने पर क्वारंटीन किया जाएगा। इसके अलावा अनुमंडर स्तर पर क्वारंटीन सेंटर बनाए जा रहे हैं ।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In कोरोना अपडेट

Leave a Reply

Check Also

नालंदा में चलती स्कॉर्पियो में भीषण आग.. ड्राइवर की गलती से स्वाहा हुई गाड़ी

नालंदा जिला में चलती स्कॉर्पियो गाड़ी में भीषण आग लग गई। जिसके बाद सड़क पर कुछ देर के लिए …