नालंदा के बेटे को BPSC में तीसरा स्थान.. लेकिन खुश नहीं हैं वरुण जानिए क्यों?

0

प्राचीन काल से ही नालंदा शिक्षा की धरती रही है। नालंदा की पहचान ही शिक्षा है । ऐसे में नालंदा के एक और बेटे ने कमाल कर दिखाया है । नालंदा जिला के रहने वाले वरुण कुमार ने बीपीएससी की सिविल सर्विस परीक्षा में तीसरा स्थान हासिल किया है ।

डीएसपी बने वरुण कुमार
नालंदा जिला के रहने वाले वरुण कुमार ने 65वीं बीपीएससी संयुक्त परीक्षा में तीसरा स्थान हासिल किया है । वरुण कुमार ने अपनी च्वॉइस पुलिस सेवा को चुना था। ऐसे में उनका चयन डीएसपी यानि बिहार पुलिस सेवा के लिए हुआ है . वरुण कुमार ने पहले प्रयास में ही ये सफलता हासिल की

बिहारशरीफ के रहने वाले हैं वरुण
वरुण कुमार बिहारशरीफ के भैंसासुर मोहल्ला के रहने वाले हैं । वरुण कुमार ने बीपीएससी द्वारा आयोजित 65 वीं संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा में तीसरा स्थान हासिल किया है । वरुण कुमार के पिता का नाम उमेश कुमार चौधरी है । जबकि मां का नाम रेणु चौधरी है और वो होम मेकर हैं। वरुण दो भाई और एक बहन हैं।

नालंदा से की पढ़ाई
वरुण कुमार की शुरुआत पढ़ाई बिहारशरीफ में ही हुई। उसके बाद उन्होंने मैट्रिक तक की पढ़ाई सैनिक स्कूल राजगीर से की । राजगीर से मैट्रिक पास करने के बाद वो इंटरमीडिएट की पढ़ाई करने के लिए झारखंड के बोकारो गए। जहां से उन्होंने इंटरमीडिएट की पढ़ाई पूरी की।

इसे भी पढ़िए-BPSC 65वीं का फाइनल रिजल्ट घोषित, जानिए टॉप 10 में किसने किसने बनाई जगह

दिल्ली से किया ग्रेजुएशन
वरुण कुमार ने इंटरमीडिएट में शानदार प्रदर्शन किया। जिसके बाद ग्रेजुएशन की पढ़ाई करने के लिए वे दिल्ली चले गए । जहां उनका एडमिशन दिल्ली यूनिवर्सिटी के सर्वश्रेष्ट कॉलेजों में से एक श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स में हुआ। यहां से उन्होंने अर्थशास्त्र में ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की।

UPSC में भी हुआ चयन
BPSC में तीसरा स्थान लाने से पहले वरुण कुमार का चयन संघ लोकसेवा आयोग द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा के लिए हुआ था । सिविल सेवा परीक्षा में उन्होंने 697वां स्थान प्राप्त हुआ था।

सफलता पर बहुत खुश नहीं
वरुण कुमार ने भले ही बीपीएससी में तीसरा स्थान हासिल किया है । लेकिन वो इस प्रदर्शन से खुश नहीं हैं। उनका पहला लक्ष्य IAS बनना है । उनका कहना है कि उनका कहना है कि लक्ष्य जब सामने हो, तो उसे पाने तक प्रयास करते रहना चाहिए। सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होता है। ऐसी परीक्षाओं को पास करने के लिए हमें विषय वस्तु पर पकड़ होनी चाहिए। यह तभी संभव है जब विषय पर अच्छी पकड़ हो।

गुवाहाटी में है पिता की पोस्टिंग
वरुण कुमार के पिता एसबीआई बैंक में मैनेजर हैं। उनकी पोस्टिंग गुवाहाटी मे है। वरुण का परिवार गुवाहाटी में रहता है। लेकिन वरुण दिल्ली में रहकर यूपीएससी और बीपीएससी की तैयारी कर रहे हैं ।

वरुण को बधाई
वरुण कुमार को नालंदा लाइव जिला वासियों और प्रदेश वासियों की ओर से उनकी सफलता पर बधाई देता है । उम्मीद करता है कि जल्द ही वो संघ लोकसेवा द्वारा आयोजित सिविल सेवा की परीक्षा में टॉप कर जिला और प्रदेश का नाम रोशन करेंगे

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

नालंदा का इंजीनियर समेत 5 गिरफ्तार, ऐय्याशी के लिए करता था डकैती

नालंदा पुलिस ने एक हाईप्रोफाइल चोर गिरोह का भंडाफोड़ किया है। जो ऐय्याशी के लिए डकैती करता…