बिहार के हाईस्कूलों में 6421 हेडमास्टर की होगी नियुक्ति.. जानिए पूरा डिटेल्स

0

बिहार सरकार ने बंपर वैकेंसी निकाली है । राज्य के हाईस्कूलों में 6421 हेडमास्टर यानि प्रधानाध्यक की नियुक्ति होगी। इसके लिए बिहार लोक सेवा आयोग ने नोटिफिकेशन जारी कर दिया है और आवदेन की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है ।

कैसे करें आवेदन
बिहार के उच्‍च माध्‍यमिक विद्यालयों में हेडमास्टर यानी प्रधानाध्‍यापक के 6421 पदों की भर्ती बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा किया जा रहा है । इसके लिए इच्छुक और योग्य उम्मीदवार bpsc.bih.nic.in या onlinebosc.bihar.gov.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं ।

आवेदन की आखिरी तारीख
प्रधानाध्यपक (Headmaster) पद के लिए आवेदन की आखिरी तारीख 28 मार्च 2022 है । वहीं, अगर किसी अभ्यर्थी के आवेदन में कोई त्रुटि या गलती है तो वो 4 अप्रैल तक इसमें सुधार कर सकता है ।

शैक्षणिक योग्यता
अभ्यर्थियों को कम से कम 50 प्रतिशत अंकों के साथ पीजी उत्तीर्ण होना जरूरी है । हालांकि एससी-एसटी, ईबीसी, बीसी, दिव्यांग, महिला और आर्थिक रूप से कमजोर अभ्यर्थियों को अंक संबंधी शर्त में पांच प्रतिशत की छूट दी गई है। यानी वे पीजी में 45 प्रतिशत मार्क्स के साथ आवेदन कर सकते हैं।
– अभ्यर्थी बीएड/ बीएएड/ बीएससी एड पास हो।
– 2012 या उसके बाद शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) पास हो।

अनुभव संबंधी योग्यता
– राज्य सरकार के विद्यालय में पंचायती राज संस्था एवं नगर निकाय के अधीन माध्यमिक शिक्षक पद पर न्यूनतम 10 वर्ष की लगातार सेवा।
– सीबीएसई, आइसीएसई, बीएसईबी से स्थायी संबद्धता प्राप्त विद्यालय में माध्यमिक शिक्षक के पद पर न्यूनतम 12 वर्ष की लगातार लगातार सेवा।
– राज्य सरकार के विद्यालय में पंचायती राज संस्था एवं नगर निकाय के तहत उच्च माध्यमिक शिक्षक के पद पर न्यूनतम 8 वर्ष की लगातार सेवा।
– सीबीएसई, आइसीएसई, बीएसईबी से स्थायी संबद्धता प्राप्त विद्यालय में उच्च माध्यमिक शिक्षक के पद पर न्यनूतम आठ वर्ष की लगातार सेवा।

नोट- अनुभव संबंधित सभी प्रमाण पत्र 28 मार्च, 2022 के पहले का होना चाहिए।

आयु सीमा
– पंचायत व नगर निकाय के अधीन कार्यरत शिक्षक के लिए न्यूनतम एवं अधिकतम आयु सीमा अलग से निर्धारित नहीं की जाएगी। सीबीएसई, आइसीएसई, बीएसईबी से संबद्धता प्राप्त विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों के लिए एक अगस्त, 2021 को न्यूनतम आयु 31 वर्ष एवं अधिकतम 47 वर्ष होनी चाहिए।
– आरक्षित श्रेणी में सरकार के प्रविधान के अनुसार छूट दी जाएगी।

कितनी मिलेगी सैलरी
इन पदों पर वेतनमान 35 हजार रुपए निर्धारित किया गया है। इसके अलावा राज्‍य सरकार की ओर से अनुमान्‍य भत्‍तों का भुगतान भी किया जाएगा।

कैसे होगी नियुक्ति
इसके पहले प्राचार्यों की नियुक्ति परीक्षा के आधार पर नहीं होती थी। साक्षात्कार और अनुभव के आधार पर प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति होती रही है। पहली बार 6421 प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति परीक्षा के आधार पर होगी।

इंटरव्यू नहीं होगा
खास बात ये है कि इस बार अभ्यर्थियों को सिर्फ लिखित परीक्षा ही देना होगा । इंटरव्यू नहीं होगा। यानि लिखित परीक्षा में ज्यादा अंक लाने वाले ही प्रधानाध्यपक बन सकेंगे ।

इसे भी पढ़िए-बिहार में नए नियोजित शिक्षकों को कितना मिलेगा वेतन.. जानिए पूरी डिटेल्स के साथ

लिखित परीक्षा में क्या पूछे जाएंगे
लिखित परीक्षा में 150 प्रश्न पूछे जाएंगे। सभी प्रश्न बहुविकल्पीय ( Multiple choice) यानि ऑब्जेक्टिव टाइप होंगे। जिसमें सामान्य अध्ययन से 100 अंक और बीएड कोर्स से संबंधित 50 अंकों की परीक्षा होगी। यह परीक्षा ओएमआर शीट पर ली जाएगी। प्रत्येक प्रश्नों के लिए एक अंक निर्धारित है। परीक्षा की अवधि दो घंटे की होगी।

इसे भी पढ़िए-बिहार में बीएड (BEd) के लिए किस कॉलेज में कितनी सीटें.. जानिए

नेगेटिव मार्किंग का प्रावधान
लिखित परीक्षा में प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 0.25 अंक काटे जाएंगे। प्रश्न अनुत्तरित होने पर शून्य अंक देय होगा। यानि अगर कोई अभ्यर्थी चार गलत जवाब देता है तो उसके एक अंक काट लिए जाएंगें।

क्वालिफाइंग मार्क्स
लिखित परीक्षा में सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों को 40 प्रतिशत, पिछड़ा वर्ग के उम्मीदवारों के लिए 36.5 प्रतिशत, अत्यंत पिछड़ा वर्ग के उम्मीदवारों को 34 प्रतिशत और एससी-एसटी, महिलाओं व दिव्यांग उम्मीदवारों के लिए 32 प्रतिशत न्यूनतम क्वालिफाई अंक है।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

नालंदा में ट्रेन से कटकर एक युवक और एक युवती की मौत.. जानिए पूरा मामला

नालंदा जिला में बख्तियारपुर-राजगीर रेलखंड पर ट्रेन से कटकर दो लोगों की मौत हो गई है । जिसम…