Home अन्य जिले राजगीर के S N आर्य की क्लर्क से राज्यपाल बनने तक की कहानी जानिए

राजगीर के S N आर्य की क्लर्क से राज्यपाल बनने तक की कहानी जानिए

0
सत्यदेव नारायण आर्य,एसएन आर्य,हरियाणा के राज्यपाल,हरियाणा गवर्नर,राजगीर,राजगीर विधायक,नीतीश सरकार में मंत्री,गांधी टोला,जनसंघ,गवर्नर,satyadev narayan arya,haryana governor,haryana ke rajyapal,rajgir mla,rajgir,gandhi tola,mahadalit

नालंदा के लाल सत्यदेव नारायण आर्य को हरियाणा का राज्यपाल बनाया गया है। सत्यदेव नारायण आर्य नालंदा जिले के राजगीर के रहने वाले हैं। सत्यदेव नारायण आर्य राजगीर से 8 बार विधायक रहे हैं। सत्यदेव नारायण आर्य को संघ के जुझारू नेता के तौर पर जाना जाता है।

क्लर्क से राज्यपाल बनने तक का सफर

नालंदा के महादलित परिवार में जन्मे सत्यदेव नारायण आर्य का सफर किसी संघर्ष से कम नहीं है। सत्यदेव नारायण आर्य का जन्म नालंदा जिला के राजगीर में हुआ था। उनका घर राजगीर के महादलित इलाके में गांधी टोला में है। उनके पिता का नाम शिवन राम है।जबकि माता का नाम स्वर्गीय सुंदरी देवी है.

जन्म से पहले पिता का निधन

सत्यदेव नारायण आर्य के पिता का निधन इनके जन्म से पहले ही हो गया था।ऐसे में इनका लालन पालन इनके चाचा रामफल आर्य और मां ने किया था। सत्यदेव नारायण आर्य ने कानून तक की पढ़ाई की है. लेकिन घर चलाने के लिए बिहार सरकार की नौकरी ज्वाइन कर ली। वे नालंदा जिला के चंडी अंचल में क्लर्क बने। लेकिन सरकारी नौकरी में उनका मन ज्यादा नहीं लग रहा था। वे संघ नीतियों से प्रभावित थे। साल 1972 में सत्यदेव नारायण आर्य ने सरकारी नौकरी छोड़ दी और जनसंघ के टिकट पर 1972 में राजगीर से चुनाव लड़ा। हालांकि वो ये चुनाव हार गए।

इसे भी पढ़िए-बिहार के नए राज्यपाल लालजी टंडन के बारे में जानिए

सत्यदेव नारायण आर्य,एसएन आर्य,हरियाणा के राज्यपाल,हरियाणा गवर्नर,राजगीर,राजगीर विधायक,नीतीश सरकार में मंत्री,गांधी टोला,जनसंघ,गवर्नर,satyadev narayan arya,haryana governor,haryana ke rajyapal,rajgir mla,rajgir,gandhi tola,mahadalit

साल 1977 में पहली बार विधायक बने

साल 1977 में सत्यदेव नारायण आर्य दोबारा राजगीर से चुनावी मैदान में उतरे। जनसंघ के टिकट पर ही वो पहली बार विधायक बनकर विधानसभा पहुंचे। इसके बाद वो राजगीर के होकर ही रह गए। राजगीर सुरक्षित सीट से वो 8 बार विधायक चुने गए। पिछली बार चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा।

बिहार में दो बार मंत्री बने

सत्यदेव नारायण आर्य बिहार सरकार में दो बार मंत्री बने। पहली बार राम सुंदर दास सरकार में उन्होंने बिहार सरकार का प्रतिनिधित्व किया। राम सुंदर दास मंत्रिमंडल में उन्हें ग्रामीण विकास मंत्री बनाया गया था।सत्यदेव नारायण आर्य दोबारा 2012 में नीतीश सरकार में खान एवं भू विज्ञान मंत्री बने। आर्य की गिनती ईमानदार नेताओं में होती है। उनके तीन बेटे और दो बेटियां हैं।

आपको बता दें कि नालंदा जिला से राज्यपाल बनने वाले ये दूसरे शख्स हैं। इससे पहले प्रोफेसर सिद्देश्वर प्रसाद सिंह को 90 के दशक में मेघालय का राज्यपाल बनाया गया था। सत्यदेव नारायण आर्य को राज्यपाल बनाए जाने से नालंदा जिले के लोग काफी खुश हैं। हर कोई एक दूसरे को बधाई दे रहा है. साथ ही सत्यदेव नारायण आर्य को भी बधाई देने वालों का तांता लगा है । नालंदा लाइव भी सत्यदेव नारायण आर्य को उनकी कामयाबी पर ढेर सारी बधाई देता है।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In अन्य जिले

Leave a Reply

Check Also

विधान परिषद की 8 सीटों के लिए चुनाव का ऐलान.. जानिए कब क्या होंगे

बिहार विधानसभा के चुनाव की घोषणा के कुछ घंटों बाद ही बिहार विधान परिषद की खाली आठ सीटों के…