Home खास खबरें अमरेंद्र कुमार मुन्ना जवाब दीजिए… को-ऑपरेटिव बैंक के घोटालेबाजों पर कब होगी कार्रवाई ?

अमरेंद्र कुमार मुन्ना जवाब दीजिए… को-ऑपरेटिव बैंक के घोटालेबाजों पर कब होगी कार्रवाई ?

0

नालंदा सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक में 15 साल बाद सत्ता परिवर्तन हुआ था। 15 साल से सत्ता पर काबिज डॉक्टर जितेंद्र को हराकर अमरेंद्र कुमार मुन्ना को-ऑपरेटिव के नए अध्यक्ष बने। लोगों को उम्मीद जगी कि अब घोटालेबाजों पर कार्रवाई होगी। नालंदा सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक को लूटने वाले को नहीं बख्शा जाएगा। लेकिन पिछले 4 महीने में ऐसा कुछ नहीं हुआ। हां, इन चार महीनों में अमरेंद्र कुमार मुन्ना का कद बढ़ गया। वो नांलदा को-ऑपरेटिव बैंक के अध्यक्ष के साथ साथ बिहार राज्य सहकारी बैंक लिमिटेड के सामान्य निर्देशक बन गए। लेकिन घोटालेबाजों पर कार्रवाई नहीं की। जुलाई 2017 में नालंदा को-ऑपरेटिव बैंक में दस लाख रुपए के गबन का मामला सामने आया था। शाखा प्रबंधक ने एसबीआई मुख्य शाखा से 10 लाख की निकासी की लेकिन उसे बैंक में जमा नहीं किया गया। हद तो ये है कि बैंक रिकार्ड में दस लाख का कोई लेखा-जोखा नहीं है। घोटाले के 10 महीने बीत जाने के बाद भी इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई है। आश्चर्य इस बात की भी है कि प्रबंध निदेशक विजय कुमार सिंह को भी गबन की जानकारी नहीं है। आपको बता दें कि जनवरी 2018 में नालंदा को-ऑपरेटिव बैंक में चुनाव हुआ था जिसमें अमरेंद्र कुमार मुन्ना ने 15 साल से सत्ता पर काबिज अस्थावां के विधायक डॉक्टर जितेंद्र को हराकर उनका एकाधिकार तोड़ा था। अध्यक्ष बनने के बाद उन्होंने दावा किया था कि वो को-ऑपरेटिव बैंक में कोई धांधली नहीं होगी और घोटालेबाजों को सजा दिलाई जाएगी । ऐसे में नालंदा लाइव का अमरेंद्र कुमार मु्न्ना से कुछ सवाल हैं.. जिसका जवाब नालंदा की जनता जानना चाहती है।

पहला सवाल क्या घोटालेबाज को बचाना चाहते हैं अमरेंद्र कुमार मुन्ना?
दूसरा सवाल क्या अमरेंद्र कुमार मुन्ना भी घोटाले को दबाना चाहते हैं?
तीसरा सवाल- क्या इस घोटाले में किसी बड़े का गर्दन फंस रहा है इसलिए अमरेंद्र कुमार चुप हैं?
चौथा सवाल क्या अमरेंद्र कुमार मुन्ना को घोटाले की जानकारी नहीं है ?
पांचवां सवाल– मुन्ना भी जितेंद्र कुमार की तरह घोटालेबाजों को बचाते रहेंगे ?

नालंदा को-ऑपरेटिव बैंक के सूत्रों का कहना है कि दरअसल, इस मामले में कार्रवाई इसलिए नहीं हो रही है क्योंकि इसमें कई बड़े लोगों का गर्दन फंस सकता है । वो बड़े लोग कौन हैं ? किनकी किनकी गर्दन फंस सकती है ये तो जांच के बाद ही पता चलेगा ।

इसे भी पढ़िए- विधायक जितेंद्र को हराने वाले अमरेंद्र कुमार मुन्ना की एक और कामयाबी

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

JDU नेता की हत्या के मामले में पूर्व RJD विधायक को आजीवन कारावास.. जानिए पूरा मामला

जेडीयू नेता सुमीरक यादव हत्याकांड में आरजेडी की पूर्व विधायक को सजा सुना दिया गया है. कोर्…