Home खास खबरें आपत्तिजनक पोस्ट करना ASI को पड़ा महंगा, नौकरी गई और गिरफ्तार

आपत्तिजनक पोस्ट करना ASI को पड़ा महंगा, नौकरी गई और गिरफ्तार

0

सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्‍ट करना एक ASI को महंगा पड़ गया। बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने आरोपी ASI को तत्काल आदेश से नौकरी से बर्खास्त तो कर दिया साथ ही गिरफ्तार भी कर लिया।

क्या है पूरा मामला
मामला बक्‍सर के नावानगर थाना की है. जहां साइबर सेनानी ग्रुप में आपत्तिजनक फोटो वायरल करने के आरोपी ASI संतोष कुमार को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है। ASI ने रविवार को आपत्तिजनक फोटो वायरल करते हुए उस पर गलत टिप्पणी की थी। मामला संज्ञान में आते ही बक्सर के एसपी उपेंद्रनाथ वर्मा के आदेश पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया. साथ ही डीजीपी के आदेश पर सहायक दारोगा संतोष कुमार को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया।

इसे भी पढ़िए-नालंदा में पीट गए दारोगा जी, सब्जी खरीदते वक्त ट्रेनी दारोगा ने पीटा

जेडीयू का पूर्व नेता भी गिरफ्तार
दरअसल, रविवार को नावानगर थाना के साइबर सेनानी ग्रुप में एएसआइ संतोष कुमार ने आपत्तिजनक फोटो के साथ सांप्रदायिक टिप्पणी लिखी थी। ग्रुप में पोस्ट डालने के कुछ ही देर के बाद इसी पोस्ट को सोनवर्षा के पूर्व जदयू नेता शम्भू पटेल ने सोनवर्षा थाना के साइबर सेनानी ग्रुप में वायरल कर दिया। जानकारी मिलते ही पुलिस अधीक्षक ने दोनों को तत्काल गिरफ्तार कर कार्रवाई का आदेश दिया था।

इसे भी पढ़िए-वाह रे बिहार पुलिस: जिसकी हत्या में 23 लोग गिरफ्तार, 3 महीने बाद वो जिंदा लौटा

पुलिस महकमे में हड़कंप
आरोपी एएसआई के बर्खास्त करने की कार्रवाई से पुलिस महकमे में हड़कंप मचा हुआ है। दरअसल, साइबर सेनानी ग्रुप का गठन लोगों को त्वरित सेवा देने को किया गया था। लोगों ने इसे मनोरंजन का साधन बना डाला। इसे लेकर बार-बार पुलिस के वरीय पदाधिकारी के पास शिकायत की जाती थी। लेकिन जब एक पुलिसकर्मी ही इसे मजाक बना दिया, तब पुलिस महकमे ने इसे गंभीरता से लिया और कड़ी कार्रवाई की।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

चुनाव प्रचार के दौरान उम्मीदवार को गोलियों से भून डाला.. जानिए पूरा मामला

बिहार विधानसभा चुनाव में खून खराबे का दौर शुरू हो गया है. चुनाव प्रचार के दौरान बदमाशों ने…