घूसखोर पुलिसवालों पर गाज.. 4 पुलिसवाले गिरफ्तार.. थानाध्यक्ष लाइन हाजिर.. जानिए पूरा मामला

0

बिहार पुलिस की वर्दी एक बार फिर दागदार हुई है । घूस लेने और जबरन वसूली के मामले में पुलिस के चार जवानों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है । जबकि थानाध्यक्ष को लाइन हाजिर कर दिया गया है । खास बात ये है कि पुलिसवालों के खिलाफ घूस लेने के सबूत CCTV में भी मिले.. साथ ही पुलिस वालों ने अपने बैंक अकाउंट पर घूस का पैसा मंगाया था। जिसके बाद ये एक्शन लिया गया है ।

कैसे हुआ खुलासा
दरअसल, पुलिस वाले रात में पेट्रोलिंग कर रहे थे। तभी पुलिसवालों ने एक युवक को रास्ते में पकड़ लिया.. पुलिस वालों ने युवक से पैसे मांगे और कहा कि अगर नहीं दिया तो उसे झूठे केस में फंसाकर जेल भेज दिया जाएगा।

पैसे ना देने पर पीटा
युवक ने जब पैसे देने से इनकार किया तो पुलिस वालों ने उसकी पिटाई भी की। इतना ही नहीं, इस दौरान वहां से एक और युवक गुजर रहा था। पुलिस वालों ने उसे भी पकड़ लिया और उसके साथ भी वही सलूक किया.. जो पहले युवक के साथ किया था । उससे भी पैसे मांगे और नहीं देने पर पिटाई की..

ऑनलाइन पेमेंट कराया
कहा जाता है ना कि मरता क्या नहीं करता.. जब दोनों युवकों को लगा कि अब उनकी जान नहीं बचने वाली है। झूठे केस में जेल जा सकता है। वैसे में दोनों ने कहा कि उसके पास पैसा नहीं है तो पुलिस वालों ने अपने अकाउंट पर ऑनलाइन पैसे ट्रासंफर करने को कहा। जिसके बाद दोनों युवकों ने जेल जाने के डर से पुलिस वालों के अकाउंट में 15-15 हजार रुपए ट्रांसफर किए.. जिसके बाद पुलिस ने दोनों को छोड़ दिया ।

कैसे हुआ एक्शन
युवक पढ़े लिखे और होशियार थे.. अगले दिन वे थाना पहुंचे और पुलिसवालों के खिलाफ FIR दर्ज कराने की मांग की.. युवक ने थाने में पुलिस वालों के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज कराई और प्रूफ में ऑनलाइन ट्रांजशन का स्क्रीनशॉट दिया ।

जांच के बाद एक्शन
इस बात की जानकारी पटना SSP राजीव मिश्रा को हुई । जिसके बाद उन्होंने इस मामले का जांच कराया। पटना के जिस सिपारा पुल के पास वारदात हुई। वहां पर CCTV कैमरे लगे थे। पुलिस ने जब CCTV फुटेज की जांच की तो इस सारी कहानी सामने आ गई.. साथ ही घूस में लिए गए 30 हजार रुपए ( 15-15 हजार दोनों से) के पेमेंट का स्क्रीनशॉट भी सबूत के तौर पर मिला । जिसके बाद एक्शन लिया गया ।

कहां का है मामला
मामला राजधानी पटना के बेऊर थाना की है। इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए पटना के एसएसपी राजीव मिश्रा ने बेऊर के थानाध्यक्ष अतुलेश कुमार को लाइन हाजिर कर दिया । साथ ही चारों आरोपी पुलिस वालों को सस्पेंड करने के साथ साथ गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया ।

किस-किस पुलिस पर एक्शन
युवक की शिकायत पर जांच में पता चला कि.. PSI अंजनी कुमार, हवलदार सिखारी कुमार, होमगार्ड-सुबोध कुमार, होमगार्ड सुमन और थाना के निजी ड्राइवर बीरेन्द्र उस दिन ड्यूटी पर थे। जिसके बाद PSI अंजनी कुमार, हवलदार सिखारी कुमार, होमगार्ड सुबोध कुमार और ड्राइवर बीरेन्द्र को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है ।जबकि होमगार्ड का एक औऱ जवान सुमन की तलाश जारी है ।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

योगी राज में मारा गया एक और माफिया.. कई जिलों में धारा 144 लगाई गई

कहा जाता है कि यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ माफिया के लिए काल हैं.. उनके राज में कोई…