नालंदा में कोरोना से डॉक्टर और बैंक डायरेक्टर समेत 5 की मौत.. जानिए कौन-कौन

0

नालंदा जिला में कोरोना का कहर जारी है । लेकिन इसके बावजूद लोग लापरवाही करने से बाज नहीं आ रहे हैं। नालंदा जिला में पिछले 48 घंटे में 5 लोगों की कोरोना से मौत हो गई है । मरने वालों में बैंक के डायरेक्टर, डॉक्टर और टीचर शामिल हैं।

बैंक डायरेक्टर की मौत
नालन्दा सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक के प्रोफेशनल निदेशक राजीव कुमार रंजन की कोरोना से मौत हो गई है । वे नूरसराय के बड़ारा गांव के रहने वाले थे। राजीव कुमार रंजन फिलहाल बिहारशरीफ के बड़ी पहाड़ी मुहल्ले में रहते थे। नालंदा सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक के अध्यक्ष अमरेन्द्र कुमार के मुताबिक तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें इलाज के लिए पावापुरी के विम्स में भर्ती कराया गया था। जहां कोरोना से मौत हो गई। उनके असमायिक निधन से बैंक के निदेशक मंडल और पूरा सहकारिता परिवार मर्माहत है। वे एक अच्छे सलाहकार और मार्गदर्शक थे।

इसे भी पढ़िए-ऑड-ईवन सिस्टम लागू.. जानिए किस दिन खुलेगी कौन कौन सी दुकानें

कोरोना से शिक्षक की मौत
नगरनौसा प्रखंड के भोभी गांव के रहने वाले संजीव कुमार की कोरोना से मौत हो गई है। संजीव कुमार महज 33 साल के थे। संजीव कुमार पटना के एक प्राइवेट स्कूल में पढ़ाते थे। और कुछ दिन पूर्व अपने गांव लौटे थे। गांव लौटने के समय से ही वे बीमार चल रहे थे। अचानक तबीयत ज्यादा खराब होने के बाद शनिवार को पटना के एक निजी किलनिक में भर्ती कराया गया जहां कोविड जांच के दौरान रिपोर्ट पोजेटिव आया। इसके बाद उन्हें एनएमसीएच पटना में भर्ती कराया गया जहां उनकी मौत हो गई।

इसे भी पढ़िए-बिहार में कोरोना का कहर.. JDU विधायक समेत 41 लोगों की मौत

नर्स के पति की मौत
नगरनौसा प्रखंड के विशुनपुर स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थापित एनएम रीता कुमारी के पति की कोरोना से मौत हो गई है। रीता कुमारी के पति सुबोध कुमार की उम्र 54 साल थी। तबीयत खराब होने के बाद बिहारशरीफ के निजी क्लिनिक में भर्ती कराया गया जहां से उन्हें पटना रेफर कर दिया गया। पटना जाने के दौरान ही रास्ते में उनकी मौत हो गई। वे राजगीर के रहने वाले थे

पशु चिकित्सक की मौत
नालंदा में एक पशु चिकित्सक की कोरोना से मौत हो गई है । वे पटना में रहकर अपनी प्रैक्टिस किया करते थे। उनका इलाज भी पटना में ही चल रहा था जहां उनकी मौत हो गई

महिला की मौत
कतरीसराय की 55 वर्षीय महिला मीना देवी की कोरोना से विम्स में इलाज के दौरान मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक तबीयत खराब होने के बाद विम्स में भर्ती कराया गया था। लेकिन तबीयत में सुधार नहीं हुआ और इलाज के दौरान विम्स में मौत हो गई। बताया जा रहा है कि महिला की एंटीजन रिपोर्ट निगेटिव आया था। लेकिन आरटीपीसीआर रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।

दूसरी लहर का कहर
नालंदा जिला में कोरोना की दूसरी लहर किस कदर कहर बरपा रही है इसका अंदाजा आप ऐसे लगा सकते हैं कि अब तक 20 लोगों की कोरोना से मौत हो गई है । वो महज कुछ दिनों में। ये तो सरकारी आंकड़ा है। कुछ हैं भी जो अस्पताल पहुंचने से पहले ही स्वर्ग सिधार गए हैं।

नालंदा लाइव की अपील
ऐसे में नालंदा लाइव सभी जिलावासियों से अपील करता है कि वो कोरोना को  हल्के या मजाक में ना लें। मास्क पहनें, बार बार साबुन से हाथ धोते रहें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी करें और हो सके तो इम्युनिटी बढ़ाने वाली दवा जैसे तुलसी, अदरक का सेवन जरूर करें । क्योंकि जान है तो जहान है ।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In कोरोना अपडेट

Leave a Reply

Check Also

नालंदा में कोरोना से फिल्म निर्माता और वकील समेत 6 लोगों की मौत

नालंदा जिले में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर काफी खतरनाक साबित हो रही है। कोरोना की दूसरी ल…