नालंदा में बना बिहार का पहला फिलाटेली पार्क.. आपने देखा क्या ?

0

नालंदा जिला में बिहार का पहला फिलाटेली पार्क बनाया गया है । ये पार्क नालंदा, राजगीर और पावापुरी जैसे पर्यटक स्थलों,डाकघर और स्कूलों में बनाया गया है। ये अपने आप में अनोखा है । फिलाटेली पार्क के बनने से नालंदा की खूबसूरती में चार चांद लगा दिया है । साथ ही लोगों को चलते फिरते अपना और अपने बच्चों के ज्ञान का संवर्धन भी कर सकते हैं ।

कैसे होता है ज्ञानवर्धन
दरअसल,डाकविभाग जगह जगह बड़ा बोर्ड लगाती है । इस बोर्ड पर डाक टिकट लगा होता है । उसमें किसी एक विषय के बारे में विस्तृत जानकारी होती है। जैसे भारत के नेशनल पार्क के बारे में जानिए। प्रवासी चिड़िया के बारे में जानिए। कौन कौन सी पक्षियां विलुप्त होने के कगार पर हैं। भारत के पहले राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद के बारे में जानकारी। नालंदा का इतिहास क्या है। ऐसी कई जानकारी आपको बोर्ड पर लिखा मिल जाएगा। जिसका इस्तेमाल न सिर्फ आपका सामान्य ज्ञान बढ़ाएगा बल्कि युवा और परीक्षार्थियों को आने वाली प्रतियोगी परीक्षायों में भी मदद देगा। ताकि चलते फिरते आपको याद हो जाए और परीक्षा में ऐसे आसान प्रश्नों का गलत जवाब ना दे सकें

डाक विभाग की अनोखी पहल
फिलाटेली पार्क की स्थापना डाक विभाग द्वारा किया किया गया है। ऐसे में पूर्वी क्षेत्र के पोस्ट मास्टर जनरल अनिल कुमार ने इसका उद्घाटना किया है । उन्होंने कहा कि बिहार में इस तरह का पार्क अपने आप में पहला और अनोखा है। कुमार ने बताया कि इसका मुख्य उद्देश्य आम लागों और बच्चों के बीच डाक टिकटों के माध्यम से देश-विदेश की संस्कृति, सभ्यता, इतिहास, विज्ञान,विभिन्न जीव जंतुओं, पेड़ पौधों एवं महान विभूतियों आदि के संबंध में विभिन्न रोचक एवं ज्ञान परख जानकारी देना है।साथ ही इसके माध्यम से फिलाटेली के महत्व को प्रकाश में लाना है।

इसे भी पढ़िए-खुशखबरी: नालंदा से गुजरेगी आमस-दरभंगा फोरलेन.. जानिए किस किस गांव की जमीन का अधिग्रहण होगा

शौक का बादशाह है फिलाटेली
नालंदा के डाक अधीक्षक उदयभान सिंह के मुताबिक फिलाटेली को शौक का बादशा कहा जाता है।फिलाटेली एक ऐसा रचनात्मक शौक है जिनसे आप बहुत ही अमूल्य ज्ञान हासिल कर सकते हैं। साथ ही डाक टिकटों के मूल्य में दिन-प्रतिदिन वृद्धि के कारण या निवेश का भी एक अच्छा विकल्प है। उन्होंने बताया कि किस तरह फिलाटेलिक प्रेमियों के लिए डाक विभाग हमेशा सहयोगात्मक रहा है। उनके मुताबिक जल्द ही इस तरह के फिलाटेली पार्क का निर्माण जिले के प्रमुख स्थानों पर भी किया जाएगा ।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

चपरासी से TTE में हुआ प्रमोशन तो बन गया ‘नरपिचाश’… जानिए पूरी वारदात

नालंदा जिला में महज एक शख्स महज कुछ पैसे के लिए नरपिचाश बन गया। जिसके साथ सात जन्मों तक सा…