बड़ी कार्रवाई- जेल में कैदी की मौत मामले में जेलर सस्पेंड, जानिए पूरा मामला

0

जेल में कैदी की मौत के मामले में कारा विभाग ने बड़ी कार्रवाई की है । कारा विभाग ने नवादा मंडल कारा के अधीक्षक अभिषेक पांडे को निलंबित कर दिया है. उनका ये निलंबन जेल में बंद एक विचाराधीन कैदी गुड्डू सिंह की मौत के मामले में की गई है ।

जांच में पाए गए दोषी
कैदी गुड्डू सिंह के मौत के मामले में कारा विभाग ने उच्च स्तरीय जांच करायी थी । जिसमें नवादा मंडल कारा के अधीक्षक अभिषेक पांडे दोषी पाए गए हैं । इस रिपोर्ट पर ही कारा विभाग ने जेल अधीक्षक को सस्पेंड कर दिया है।

कब हुई थी मौत
दरअसल, पिछले साल 6 सितंबर को जेल में बंद विचाराधीन कैदी गुड्डू सिंह की पीट-पीटकर हत्या कर दी गयी थी. जेल प्रशासन ने इस मामले में कहा था कि गुड्डू सिंह की तबीयत खराब थी, जिसकी वजह से उसकी मौत हुई, लेकिन कैदी के शरीर पर जख्म के गहरे निशान थे, जो उसकी हत्या की तरफ इशारा कर रहे थे.

इसे भी पढ़िए-बिहार में MLC चुनाव के लिए बीजेपी ने किया उम्मीदवारों का ऐलान.. जानिए किसे कहां से मिला टिकट

डीएम ने जांच के आदेश दिए थे
गुड्डू सिंह की मौत के बाद नवादा के डीएम यशपाल मीणा के जांच के आदेश दिए थे। जिसके बाद जांच कमेटी का गठन किया गया था. इसी जांच कमेटी ने जेल प्रशासन की भूमिका को संदिग्ध पाया है, जिसके बाद अब कारा विभाग ने एक्शन लिया है.

इसे भी पढ़िए-दिल दहलाने वाली वारदात: 6 बच्चों ने एक साथ पोर्न वीडियो देखा, फिर किया गैंगरेप

जांच रिपोर्ट में क्या है
कारा विभाग की जांच कमेटी की रिपोर्ट में ये बात सामने आई है कि गुड्डू सिंह की मौत जेल में पिटाई की वजह से गुड्डू सिंह की मौत हुई थी. दरअसल,रजौली थाना इलाके में हुई एक सड़क दुर्घटना के मामले में गुड्डू सिंह ने गिरफ्तार किया गयाथा । बाद में उसके पास से 40 लीटर देसी शराब भी बरामद की गयी थी. बाद में पुलिस ने उसे जेल भेज दिया था, लेकिन 6 सितंबर की सुबह उसे सदर अस्पताल लाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था.

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In पुलिस प्रशासन

Leave a Reply

Check Also

बिहार में इंटर एग्जाम से आधे घंटे पहले मैथ्स का पेपर लीक ?.. जानिए कहां से लीक हुआ पेपर

बिहार में इंटर परीक्षा से पहले प्रश्न पत्र लीक होने की ख़बर आ रही है। आज पहले दिन मैथ्स की…