जेल में बंद कैदी ने पास की SSC की परीक्षा.. कैदियों में खुशी

0

कहा जाता है कि मेहनत का कोई विकल्प नहीं होता है। कुछ पाने की जिद हो तो आसमान में भी सुराख हो सकता है। ऐसा ही जेल में बंद सोनू ने कर दिखाया है। जेल में बंद सोनू ने एसएससी सीजीएल की परीक्षा (SSC CGL Exam) में सफलता हासिल की है।

सोनू शर्मा पिछले 4 महीने से नवादा के मंडल कारा में बंद था। जेल में रहते हुए उसने एसएससी सीजीएल की परीक्षा (SSC CGL Exam) पास कर अब मेंस की परीक्षा में शामिल होंगे. मंडल कारा में बदले हुए माहौल का कैदियों ने जिक्र किया. जेल से रिहा होकर लौटे वार्ड नंबर 19 के नवीन सिंह, जितेंद्र यादव, अखिलेश पंडित, वार्ड 6 के रोहित कुमार, सोनू शर्मा, नवलेश यादव आदि ने कहा कि नवादा जेल में बदला हुआ माहौल दिख रहा है. इसका नतीजा है कि जेल के कैदी भी दूसरे एक्टिविटी से जुड़ पा रहे हैं.

इसे भी पढ़िए-जेल में बंद कैदी ने पास की IIT की परीक्षा, देशभर में 54वां स्थान

कैदियों की मानें तो सामूहिक रूप से एक साथ खाना के लिए रसोई के अलावे जेल की अन्य सुविधाओं में सुधार दिखता है, शनिवार को जेल से बाहर निकले कैदी ने कहा कि जेल में बदले माहौल का ही असर है कि कैदी यहां पर रहते हुए पढ़ाई करके कंपटीशन परीक्षा में सफल हुए हैं. पकरीबरावां थाना क्षेत्र के गंगटी निवासी नंदकिशोर चौहान के बेटे सोनू कुमार यूं तो पहले भी कई प्रतियोगिता परीक्षाओं में सफलता प्राप्त की है. लेकिन सोनू ने जेल में रहते हुए एसएससी सीजीएल की परीक्षा दी जिसमें उसे सफलता मिली है.

इसे भी पढ़िए-बिहार में फिर महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल.. टैंक फूल करवा लीजिए.. जानिए कितना बढ़ेगा दाम

जेल की गेट पर बाहर निकले कैदियों की खुशी का ठिकाना नहीं दिख रहा था. जेल में बंद रहने के दौरान अपने अनुभवों को शेयर करते हुए कैदियों ने कहा कि जेल जाने के पहले काफी डर लग रहा था. लेकिन जेल में भी एक अच्छी व्यवस्था देखने को मिली. अनुशासन के साथ साफ-सफाई और अन्य सुविधाओं को बेहतर बनाया गया है. जेल से छूटने वाले नवीन सिंह बताते हैं कि पहले की तरह अलग-अलग रसोई और अन्य व्यवस्था नहीं है. जेल में केवल एक रसोई संचालित हो रही है.

इसे भी पढ़िए-बिहार में 5 केंद्रीय विद्यालय में अलग-अलग पदों के लिए सीधी भर्ती.. जानिए कहां कब होगी बहाली

जेल से बाहर आये कैदियों ने बताया कि योग, संगीत और अन्य प्रकार का प्रशिक्षण भी जेल के अंदर दिया जा रहा है. प्रोत्साहन और मोटिवेशन का नतीजा है कि कई कैदी जेल में रहते हुए अलग-अलग परीक्षाओं में भी शामिल हो रहे हैं. हम लोग को जानकारी मिली है कि जेल में रहते हुए एक कैदी ने प्रतियोगिता परीक्षा पास की है. इस संबंध में जानकारी लेने के लिए जेल अधीक्षक अभिषेक कुमार पांडे से संपर्क किया तो उन्होंने बताया कि परीक्षा के लिए सोनू कुमार को अनुमति दी गई थी.

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In जॉब एंड एजुकेशन

Leave a Reply

Check Also

बिहार में इंटर एग्जाम से आधे घंटे पहले मैथ्स का पेपर लीक ?.. जानिए कहां से लीक हुआ पेपर

बिहार में इंटर परीक्षा से पहले प्रश्न पत्र लीक होने की ख़बर आ रही है। आज पहले दिन मैथ्स की…