Home खास खबरें इंतजार खत्म… स्मार्टसिटी का मॉडल तैयार, सिंगापुर जैसा बनेगा बिहारशरीफ

इंतजार खत्म… स्मार्टसिटी का मॉडल तैयार, सिंगापुर जैसा बनेगा बिहारशरीफ

0

बिहारशरीफ को सिंगापुर जैसा विकसित किया जाएगा। यानि स्मार्टसिटी बिहारशरीफ का विकास सिंगापुर मॉडल पर किया जाएगा। इसका फैसला बिहारशरीफ स्मार्ट सिटी लिमिटेड की बैठक में हुई। यानि अब अपना बिहारशरीफ भी चकाचक दिखेगा। स्मार्टसिटी बनने के बाद बिहारशरीफ की पूरी तस्वीर ही बदल जाएगी। यानि यहां भी चमचमाती सड़कें होगी। बस स्टैंड हाईटेक होगा। पार्कों में ओपन जिम होगा। सड़क के किनारे सौंदर्यीकरण किया जाएगा। लाइट एंड साउंड सिस्टम लगाया जाएगा। चौराहो पर ट्रैफिक सिंग्नल और सीसीटीवी लगाए जाएंगे। स्कूल, कॉलेज,रेलवे स्टेशन,अस्पताल सब स्मार्ट होंगे।

बिहारशरीफ में बनेगा ओपन थियेटर
स्मार्टसिटी बिहारशरीफ में चौक चौराहों को स्मार्ट तरीके से विकसित किया जाएगा। साथ ही ओपन थियेटर भी बनाया जाएगा। बड़ी पहाड़ी पार्क को और आकर्षक बनाने के लिए वहां लाइट एंड साउंड के साथ लेजर शो भी लगाया जाएगा। इसके अलावा तालाबों का सौंदर्यीकरण किया जाएगा। जिसमें झरने लगाए जाएंगे। शहर में चिल्ड्रेन पार्क भी बनाए जाएंगे।

हाईटेक बनेगा रामचंद्रपुर बसस्टैंड
बिहारशरीफ के रामचंद्रपुर बस स्टैंड को हाईटेक बनाया जाएगा। पांच करोड़ रुपए की लागत से बस स्टैंड को सुंदर और स्मार्ट बनाया जाएगा। बस स्टैंड के पास एक बिल्डिंग बनाई जाएगी। जहां यात्रियों के ठहरने की व्यवस्था होगी। जो अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस होगी। यहां यात्रियों को बैठने के लिए आरामदायक कुर्सियां होगी। पीने के लिए पानी की व्यवस्था होगी। बिल्डिंग के अंदर ही खाने पीने के लिए अलग से स्टॉल होंगे। बसों की टाइमिंग निर्धारित की जाएगी। उसके मुताबिक ही बसें खुलेगी। साथ ही इइंटीग्रेटेड कमांड कंट्रोल सिस्टम डेवलप किया जाएगा ताकि शहर में सुरक्षा के साथ ही परिवहन व्यवस्था भी कंट्रोल किया जा सके।

बदल जाएगी बाजार समिति की तस्वीर
अभी बिहारशरीफ के बाजार समिति की गिनती शहर के सबसे गंदे इलाके में होती है। बाजार समिति में गंदगियों का अंबार लगा रहता है। ऐसे में स्मार्ट सिटी में बाजार समिति को हाईटेक किया जाएगा। 75 करोड़ की लागत से बाजार समिति को हाईटेक और स्मार्ट बनाया जाएगा। यहां तक सामान लाने और ले जाने के लिए अलग से व्यवस्था होगी ।

हर वार्ड में खुलेगा पब्लिक कन्वेंस सेंटर
स्मार्टसिटी बिहारशरीफ के हर वार्ड में जनसुविधा केंद्र बनाए जाएंगे। जिसमें वार्ड पार्षद का दफ्तर भी होगा। जहां वो लोगों की समस्याओं को सुनेंगे। इसके अलावा यहां बिजली बिल,टेलिफोन बिल,हाउस टैक्स जैसी चीजें जमा होगी। साथ ही जाति प्रमाण पत्र और आवास प्रमाण पत्र जैसी चीजों के लिए आपको निगम के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे।

सरकारी दफ्तरों में सोलर सिस्टम लगेंगे
स्मार्टसिटी बिहारशरीफ में सभी सरकारी दफ्तरों में सोलर सिस्टम लगाया जाएगा। इससे बिजली कट की समस्या से भी निजात मिलेगा। साथ ही बिजली की बचत भी होगी। इतना ही नहीं जब दफ्तर बंद रहेंगे तो सोलर सिस्टम से जो बिजली का उत्पादन होगा उसे सीधे पावर ग्रिड को भेजा जाएगा।

रेलवे स्टेशन पर बनेगा कार्गो कॉम्पलेक्स
बिहारशरीफ स्मार्ट होगा तो लाजिमी है कि बिहारशरीफ रेलवे स्टेशन पर भी स्मार्ट होगा। बिहारशरीफ रेलवे स्टेशन को स्मार्ट बनाने के लिए वहां पर कार्गो कॉम्पलेक्स बनाया जाएगा। इसके अलावा वहां पर सोलर क्योस्क भी लगाए जाएंगे।

नाइट विजन कैमरे होगी शहर की रखवाली
स्मार्ट बिहारशरीफ की रखवाली भी स्मार्ट तरीके से की जाएगी। बिहारशरीफ पुलिस को हाईटेक बनाया जाएगा। शहर की हर गतिविधियों पर नजर रखने के लिए नाइट विजन कैमरे लगाए जाएंगे। ये सभी सीसीटीवी कैमरे कमांड कंट्रोल सिस्टम से जुड़े रहेंगे। कंट्रोल रूम से सारे शहर पर नजर रखी जाएगी। कंट्रोल रूम से ही ट्रैफिक व्यवस्था पर नजर रहेगी। स्मार्ट ट्रैफिक लाइट लगाने के लिए पुलिस कप्तान सुधीर कुमार पोरिका को जगह चयन करने को कहा गया है।

साल 2025 तक स्मार्ट सिटी पर खर्च होंगे 2600 करोड़
बिहारशरीफ को स्मार्ट बनाने के लिए साल 2025 तक 26 सौ करोड़ रुपए खर्च होंगे। शहरवासियों को 24 घंटे पानी, जल निकासी, कवर्ड नालों की भी सुविधा मिलेगी। साथ ही जीरो वेस्ट मैनेजमेंट, कचरा प्रबंधन, सौंदर्यीकरण, रोजगार, पैन सिटी, पर्यटक स्थलों का विकास होगा। सड़क की ट्रैफिक से लेकर सिग्नलिंग व्यवस्था तक पूरी तरह ऑटोमेटिक होगी। रोड सिग्नल स्वत: ही सड़कों पर चल रहे वाहनों की क्षमता के मुताबिक वन वे या टू वे होती रहेंगी। यहां तक कि भीड़ के अनुसार ही सिग्नल हरा या लाल होता रहेगा। सड़कों पर सरपट गाड़ियां दौड़ेंगी और लोगों को जाम में व्यर्थ समय नहीं गंवाना पड़ेगा।

डीएम, नगर आयुक्त और मेयर सम्मानित

बिहारशरीफ स्मार्ट सिटी लिमिटेड बोर्ड की बैठक में प्रमंडलीय आयुक्त आनंद किशोर ने डीएम डॉ. त्यागराजन एस मोहनराम, मेयर वीणा कुमारी, नगर आयुक्त सौरव जोरवाल समेत कई लोगों को सम्मानित भी किया। साथ ही वार्ड पार्षदों और अधिकारियों से बिहारशरीफ शहर को स्मार्ट बनाने में हर स्तर पर सहयोग करने की अपील की।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

विधान परिषद की 8 सीटों के लिए चुनाव का ऐलान.. जानिए कब क्या होंगे

बिहार विधानसभा के चुनाव की घोषणा के कुछ घंटों बाद ही बिहार विधान परिषद की खाली आठ सीटों के…