Home खास खबरें छात्रों ने प्रिंसिपल का बनाया न्यूड वीडियो और ऐंठ लिए 8 लाख रुपए.. जानिए पूरा मामला

छात्रों ने प्रिंसिपल का बनाया न्यूड वीडियो और ऐंठ लिए 8 लाख रुपए.. जानिए पूरा मामला

0

गुरु और शिष्य परपंरा को शर्मसार करने वाली एक वारदात सामने आई है . जिसमें छात्रों ने प्रिंसिपल का अश्लील वीडियो बनाया फिर प्रिंसिपल को ब्लैकमेल करने लगे। इतना ही नहीं छात्रों ने प्रिंसिपल से आठ लाख रुपये वसूले। साथ ही 5 लाख रुपए की और डिमांड भी किया था

सबक सिखाने के लिए प्रिंसिपल ने छात्र का अपहरण किया
छात्रों की ब्लैकमेलिंग से परेशान होकर प्रिंसिपल ने भी छात्रों को सबक सिखाने का प्लान बनाया. प्रिंसिपल ने पैसे देने के बहाने से एक छात्र को बुलाया और उसे बंधक बनाकर उसके परिजनों से फिरौती मांगी। मामला पुलिस तक पहुंचा तो पुलिस ने प्रिंसिपल को धर दबोचा। जिसके बाद मामले का खुलासा हुआ।

क्या है पूरा मामला
मामला जवाहर नवोदय विद्यालय भागलपुर का है. जहां के प्रिंसिपल ब्रजेश कुमार का छात्रों ने अश्वील वीडियो बना लिया. दरअसल प्रफुल्ल नामकर एक छात्र 2018 के प्री बोर्ड परीक्षा में पांच विषयों में फेल होने के कारण बोर्ड की परीक्षा नहीं दे पाया था। इसके बाद उसे स्कूल से निकाल दिया गया था। प्रफुल्ल ने छोटू और हीरा के साथ फिलिपिंस की लड़की बनकर प्राचार्य को वीडियो कॉल कर उसकी बातों में उसे फंसा लिया और फिर धीरे-धीरे उनका न्यूड वीडियो बना लिया था।

वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने लगा
जवाहर नवोदय विद्यालय के आरोपी प्रिंसिपल डॉक्टर ब्रजेश कुमार का कहना है कि वीडियो को देखने के बाद उन्हें वायरल होने और बदनाम होने का डर सताने लगा था जिसके कारण शुरूआती दौर में मांगे गये पैसे भी दे दिए लेकिन इन छात्रों का डिमांड लगातार बढ़ता जा रहा था और इसको लेकर बार-बार परेशान किया जा रहा था।

प्रिंसिपल ने छोटे का अपहरण किया
छात्रों की फिरौती से परेशान होकर प्रिंसिपल ने छोटू नाम के एक छात्र को अगवा कर लिया. छोटे के पिता होमगार्ड के जवान हैं और भागलपुर में डीएम आवास की सुरक्षा पर तैनात हैं. होमगार्ड जवान की शिकायत पर भागलपुर के सीनियर एसपी आशीष भारती ने सिटी एसपी सुशांत कुमार सरोज के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया था और एसआईटी ने वैज्ञानिक और तकनीकी अनुसंधान का सहारा लेते हुए नवगछिया नारायणपुर के नगरपारा में प्रिंसिपल को गिरफ्तार किया।

प्रिंसिपल ने मांगी थी 3 लाख की फिरौती
पुलिस का कहना है कि प्रिंसिपल ने छोटू का अपहरण तीन लाख रूपये की फिरौती के लिए किया था। दो दिनों तक छोटू को स्कूल कैम्पस में ही बंधक बनाकर रखा लेकिन इसी बीच अपहृत के पिता द्वारा अपहरण का एफआईआर दर्ज होने के बाद पुलिस की बढ़ती दबिश को देखते हुए प्राचार्य ने छोटू की बाइक और मोबाइल को रखते हुए उसे मुक्त कर दिया।

प्राचार्य भी करा सकते हैं मामला दर्ज : एसएसपी
एसएसपी ने कहा कि प्राचार्य का परिवार ब्लैकमेलिंग का मुकदमा दर्ज कराने के लिए स्वतंत्र है। यदि मामला दर्ज होगा तो पुलिस विधि सम्मत कार्रवाई करेगी। प्राचार्य जीरोमाइल में रहते हैं। जबकि अपह्रृत छात्र मारवाड़ी कॉलेज में बीकॉम पार्ट वन का छात्र है।

 

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

चुनाव प्रचार के दौरान उम्मीदवार को गोलियों से भून डाला.. जानिए पूरा मामला

बिहार विधानसभा चुनाव में खून खराबे का दौर शुरू हो गया है. चुनाव प्रचार के दौरान बदमाशों ने…