नीतीश के नालंदा में एक बार फिर बैंक डकैती.. गन प्वाइंट पर बदमाशों ने लाखों रुपए लूटे.. जानिए पूरा मामला

0

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव विपक्ष दलों की मीटिंग के लिए बेंगलुरु में है। तो वहीं, दूसरी ओर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा में एक बार फिर बैंक डकैती हुई है। जहां बदमाशों ने हथियार के बल पर लाखों रुपए लूट । 15 दिन के भीतर नालंदा में बैंक डकैती की ये दूसरी वारदात है ।

क्या है मामला
मामला नालंदा जिला के अस्थावां थाना क्षेत्र की है। जहां के ओइयाव बाजार में दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक में डकैती हुई है । जहां करीब 9 की संख्या में बदमाश बैंक के अंदर घुसे और लूट की वारदात को अंजाम दिया ।

हवाई फायरिंग की
जिस वक्त बदमाश बैंक के भीतर घुसे. उस वक्त बैंक में लंच का वक्त था. उस वक्त बैंक में ग्राहक समेत कुल 7 लोग मौजूद थे। बदमाशों ने बैंक में घुसते ही पहले बैंककर्मी और ग्राहकों को बंधक बना लिया और लूट की वारदात को अंजाम दिया। लुटेरों ने इस दौरान हवाई फायरिंग भी की। जिससे लोगों में दहशत फैल गया।

इसे भी पढ़िए-खुशखबरी.. सहारा के निवेशकों को मिलने लगा डूबा पैसा.. जानिए  क्या करना होगा ?

ग्राहक पर चाकू से हमला
बदमाशों ने बैंक के ग्राहक पर चाकू से हमला किया। जिसमें वो घायल हो गए। नालंदा लाइव से बात करते हुए घायल ग्राहक पप्पू चौधरी ने बताया कि वो किसी काम से बैंक गए हुए थे। तभी एक अपराधी ने उन्हें बैंक के बाहर गेट पर ही रोक लिया और कहा कि अभी लंच चल रहा है। थोड़ी देर बाद आना। इसके बाद वे लौट कर आने लगे तभी, उनके पीछे-पीछे बदमाश आया और नीचे आकर उन पर चाकू से हमला कर दिया।

10 मिनट तक मचाया उत्पात
लूट की वारदात के दौरान बैंक में मौजूद एक प्रत्यक्षदर्शी से नालंदा लाइव ने बात की। जितेंद्र प्रसाद ने बताया कि वारदात के वक्त वो बैंक के अंदर ही थे और बैंककर्मी लंच कर रहे थे। तभी अचानक करीब आधा दर्जन बदमाश बैंक के अंदर घुस गए। फिर चाकू और पिस्तौल की नोंक पर बदमाशों ने सभी को बंधक बना लिया। बदमाशों ने करीब 10 मिनट तक बैंक का कोना कोना छान मारा। जहां से पैसे मिले सब को खंगाल लिया । फिर फायरिंग करते हुए भाग गए।

CCTV को तोड़ डाला
बदमाशों ने बैंक में घुसते ही सबसे पहले सीसीटीवी और कंप्यूटर को तोड़ दिया.. साथ ही सीसीटीवी रिकॉर्डर भी अपने साथ ले गए। लूट की वारदात के बाद बैंक की सुरक्षा पर एक बार फिर सवालिया खड़ा हो गया। आप सोच लीजिए कि बैंक में सिक्योरिटी के लिए एक भी गार्ड मौजूद नहीं था। पिछले 8 महीने से बैंक राम भरोसे चल रहा है। क्योंकि पिछले साल दिसंबर में ही अस्थावां थाना के चौकीदार नरेश धानु रिटायर हो गए थे। जिन्हें बैंक की सुरक्षा के लिए लगाया था। तब से अब तक बैंक में कोई गार्ड नहीं है।

पुलिस पस्त अपराधी मस्त
15 दिन के भीतर नालंदा जिला में बैंक डकैती की ये दूसरी वारदात है । इससे पहले 3 जुलाई को नगरनौसा थाना में बैंक लूट की वारदात हुई थी। जब बदमाशों ने दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक के रामगढ़ शाखा से 11 लाख रुपए लूट लिए थे। तो वहीं 15 दिन बाद अस्थावां थात्रा के ओइयाब ब्रांच से 14 लाख की डकैती को अंजाम दिया है । नगरनौसा मामले में तो पुलिस ने खुलासा कर दिया है लेकिन पैसे की रिकवरी नहीं हो सकी है। अब पुलिस के सामने एक नई चुनौती आ गई है ।

पुलिस का क्या है कहना
बिहारशरीफ सदर के डीएसपी डॉ शिबली नोमानी का कहना है कि जल्द ही अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है. पुलिस फिलहाल बैंककर्मियों से पूछताछ कर रही है । साथ ही प्रत्यक्षदर्शियों से भी पूरी घटना की जानकारी ली है। ताकि अपराधियों तक पहुंचा जा सके।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In अपराध

Leave a Reply

Check Also

घूसखोर पुलिसवालों पर गाज.. 4 पुलिसवाले गिरफ्तार.. थानाध्यक्ष लाइन हाजिर.. जानिए पूरा मामला

बिहार पुलिस की वर्दी एक बार फिर दागदार हुई है । घूस लेने और जबरन वसूली के मामले में पुलिस …