नालंदा में देर रात चार सड़क लुटेरे गिरफ्तार.. जानिए कौन कौन पकड़ा गया?

0

नालंदा पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है । पुलिस ने कार्रवाई करते हुए चार सड़क लुटेरों को गिरफ्तार किया है । जिसके पास से हथियार और लूट के सामान बरामद हुए हैं । आपको बता दें कि नालंदा में रात में लूट के केस बढ़ रहे थे । जिसके बाद पुलिस एक्टिव मोड में काम कर रही थी और चार सड़क लुटेरों को गिरफ्तार किया।

क्या है मामला
दरअसल, पुलिस को गुप्त सूचना मिली कि चार अपराधी लूट की वारदात को अंजाम देने के लिए एक जगह इक्ट्ठा हुए हैं । जिसके बाद पुलिस ने त्वरित टीम गठित कर अपराधियों की घेराबंदी कर दी और वारदात को अंजाम देने से पहले चारों आरोपियों को धर दबोचा।

कहां से हुई गिरफ्तारी
राजगीर के डीएसपी प्रदीप कुमार ने बताया कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली की राजगीर के महादेवा गांव के पास कुछ अपराधी एक जगह पर बैठ कर लूट की योजना बना रहे हैं। जिसके बाद पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर देर रात टीम बनाकर पुलिस ने उक्त स्थल की घेराबंदी करते हुए चारों सड़क लुटेरों को गिरफ्तार कर लिया।

लुटेरों ने स्वीकार किया गुनाह
पुलिस ने लुटेरों के पास से लूट का सामान भी बरामद किया है साथ ही एक देसी कट्टा, दो जिंदा कारतूस, 04 मोबाइल, एवं एक बाइक को बरामद किया है। गिरफ्तारी के बाद पहले तो चारों अपराधी खुद को निर्दोष बताते रहे लेकिन जब पुलिस ने कड़ाई से पूछताछ की तब राजगीर में लूट की बात को स्वीकार किया।

इसे भी पढ़िए-गर्लफ्रेंड के साथ पकड़ाया इंस्पेक्टर.. एसपी ने किया सस्पेंड.. जानिए पूरा मामला 

किस-किस की हुई गिरफ्तारी
राजगीर पुलिस ने जिन चार अपराधियों को गिरफ्तार किया है उसमें इस्लामपुर थाना क्षेत्र के कासीमपुर के रहने वाले उमेश प्रसाद का बेटा विकास कुमार, भागवतपुर के स्वर्गीय बद्री सिंह का पुत्र सुधीर कुमार, अतासराय के अरुण पंडित का पुत्र पिंकू कुमार और सुल्तान मियां का पुत्र प्रवेज आलम शामिल है।

इसे भी पढ़िए-नालंदा में मुखिया की जीत पर फायरिंग.. कब होगी कार्रवाई ?

क्या क्या बरामद
अपराधियों के पास से एक देसी कट्टा तथा 2 पॉइंट .315 बोर का जिंदा कारतूस, लूटा गया मोबाइल फोन, घटना में उपयोग में लाया गया मोटरसाइकिल बरामद हुए हैं

छापेमारी टीम में कौन-कौन
छापेमारी टीम में राजगीर के थाना प्रभारी इंस्पेक्टर दीपक कुमार, राजगीर के सब इंस्पेक्टर ज्ञान रंजन, जिला आसूचना इकाई के सदस्य, राजगीर थाना के सशस्त्र बल और इस्लामपुर थाना के पुलिस पदाधिकारी शामिल थे ।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In अपराध

Leave a Reply

Check Also

पुलिस बनकर सोना कारोबारी को लूटा, पुलिस वर्दी में थे लुटेरे

स्वर्ण व्यवसायी से लूट की दो बड़ी वारदात सामने आई है । जिसमें एक में तो लुटरे पुलिस वर्दी …