Home खास खबरें बिहारशरीफ में सिक्का लेने से इनकार करने पर महाभारत.. दारोगा से लेकर DSP और SP तक को पहुंचना पड़ा

बिहारशरीफ में सिक्का लेने से इनकार करने पर महाभारत.. दारोगा से लेकर DSP और SP तक को पहुंचना पड़ा

0

बिहारशरीफ में सिक्का नहीं लेने के विवाद में जमकर मारपीट हुई। दोनों गुटों में गाली गलौच और रोड़ेबाजी भी हुई। हालात ऐसी हो गई कि थाना प्रभारी से लेकर डीएसपी और एसपी तक को घटनास्थल पर पहुंचना पड़ा। तब जाकर मामला शांत हुआ । पुलिस कप्तान ने ऐतिहातन इलाके में पुलिस की तैनाती कर दी है ।

क्या है पूरा मामला
मामला सोहसराय के सोहडीह मोहल्ले का है। जहां एक लिट्टी दुकान में कुछ युवक लिट्टी खाने आए। लिट्टी खाने के बाद युवकों ने दुकानदार को सिक्का थमाया। जिसके बाद दुकानदार और युवकों में तू-तू मैं-मैं होने लगा। दुकानदार का कहना था कि उसके पास बहुत सिक्का इकट्ठा हो चुका है, वो सिक्के नहीं लेगा। इस बात को लेकर दोनों में नौबत गाली गलौच तक आ पहुंचा। हो हल्ला सुनकर स्थानीय लोग जुट गए। किसी तरह मामला शांत कराया

दोनों ओर से हुई रोड़ेबाजी
दुकानदार को लगा कि बात आई और गई में खत्म हो गई। लेकिन कुछ देर बाद ही करीब 20 से 25 की लड़के वहां जुट गए और लिट्टी दुकान में तोड़-फोड़ करने लगे। दुकान के सारे सामान को रोड पर फेंक दिया। जिसके बाद दोनों तरफ से जमकर रोड़ेबाजी होने लगी। जिसमें कुछ लोग चोटिल भी हुए। सूचना मिलते ही वार्ड पार्षद प्रमोद कुमार भी मौके पर पहुंचे। वार्ड पार्षद प्रमोद कुमार ने दोनों पक्ष को समझाने की कोशिश करने लगे। इसी दौरान एक रोड़ा उन्हें भी लगा।

इसे भी पढ़िए-बिहारशरीफ में बिजलीकर्मी के साथ मारपीट

दारोगा से लेकर एसपी तक पहुंचे
हालात बिगड़ता देख लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही एसपी निलेश कुमार, डीएसपी इमरान परवेज, डीएसपी संजय कुमार, थानाध्यक्ष दीपक कुमार और सुबोध कुमार दल-बल समेत पहुंचे और झगड़े को शांत कराया। ऐहतियात के तौर पर पूरे इलाके में पुलिस तैनात कर दी गयी है। एसपी ने खुद स्थानीय लोगों से से बात की और मामला शांत कराया। एसपी निलेश कुमार ने कहा कि जो भी इस मामले में शामिल है,उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। अनहोनी की आशंका को देखते हुए पुलिस टीम इलाके में गश्त लगा रही है।

बैंकवाले भी करते हैं इनकार
इन दिनों सिक्का ग्राहकों, दुकानदार और बैंक तीनों के लिए सिरदर्द बन चुका है। छोटी-मोटी खरीदारी पर दुकानदार बदले में ग्राहकों को सिक्का थमा दे रहे हैं। ग्राहक सिक्के ले तो लेते हैं लेकिन वे इन सिक्कों का क्या करें, समझ नहीं आ रहा। इधर, व्यवसायियों का अपना रोना है। उनका कहना है कि उनके पास जो सिक्के इकट्ठा हैं, उसे बैंक नहीं ले रहे।

बैंक कर्मी का रोना अलग
बैंककर्मियों का कहना है कि उपभोक्ता एक बार में पांच से 10 हजार तक के सिक्के लेकर जमा कराने पहुंच जाते हैं। ऐसे में सिक्के लेने में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है । क्योंकि ऐसे में एक कैशियर इतनी बड़ी रकम के सिक्कों को गिनने में उसका पूरा दिन चला जायेगा।

नियम क्या कहता है
रिजर्व बैंक के नियम के मुताबिक कोई भी बैंक सिक्का लेने से मना नहीं किया जा सकता है। हालांकि एक उपभोक्ता एक दिन में एक हजार तक के ही सिक्के जमा कर सकता है। यानि अगर एक हजार से ज्यादा के सिक्के हैं तो बैंक आपको मना कर सकता है ।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

नियोजित शिक्षकों को मिलने वाली है सबसे बड़ी खुशखबरी.. नियोजित टीचर अब बनेंगे…

बिहार में नियोजित शिक्षकों को बहुत बड़ी खुशखबरी मिलने वाली है. समान काम के लिए समान वेतन क…