Home बिहार शरीफ मुखिया के घर में घुसकर अंधाधुंध फायरिंग

मुखिया के घर में घुसकर अंधाधुंध फायरिंग

0

अपराधियों के सामने नालंदा पुलिस बौना साबित हो रही है। बदमाशों ने बेन प्रखंड के अरावां पंचायत की मुखिया के घर में घुसकर अंधाधुंध फायरिंग की। बताया जा रहा है कि रात में करीब दर्जन भर बदमाश गोली चलाते हुए मुखिया श्यामा देवी के घर में घुस गए और फायरिंग की। मुखिया श्यामा देवी लक्ष्मी बिगहा गांव की रहने वाली हैं। गांववालों के मुताबिक बदमाश मुखिया श्यामा देवी के बेटे जनार्दन प्रसाद को खोज रहे थे लेकिन जनार्दन प्रसाद घर में नहीं थे। मुखिया और परिवार के दूसरे सदस्य छिपकर अपनी जान बचा ली। वारदात के पीछे चुनावी रंजिश बताई जा रही है। इतना ही नहीं फायरिंग की आवाज सुनकर बेन प्रखंड के जदयू अध्यक्ष अरविंद प्रसाद की पत्नी ममता देवी और उनका बेटा नीतीश कुमार घर से निकले तो बदमाशों ने उनके साथ भी मारपीट की। वारदात के बाद गांव वाले दहशत में हैं।

मुखिया के मुताबिक रात करीब नौ बजे घर के लोग खाना खाकर सोने की तैयारी कर रहे थे। तभी करीब 60 लोग उनके घर के पास आकर गोलियां चलाने लगे। उनके परिवार के लोग और पड़ोसी भागकर अपने घरों में बंद हो गये। बदमाशों ने दो दर्जन राउंड से अधिक फायरिंग की। गोली चलाने के साथ बदमाश उनके बेटे जनार्दन का नाम लेकर बुला रहे थे। गोलीबारी कर सभी बदमाश हथियार लहराते हुये भाग निकले।
वार्ड सचिव चुनाव को लेकर था विवाद
मुखिया श्यामा देवी के मुताबिक मंगलवार को वार्ड संख्या एक में वार्ड सचिव का चुनाव होना था। पंचायत सचिव और मुखिया ने चुनाव के दौरान अप्रिय घटना होने की सूचना होने की वजह से बीडीओ और थानाध्यक्ष को इसकी सूचना दी थी। जिसके बाद बीडीओ ने चुनाव स्थगित कर दिया था। इससे बदमाश बौखला गये थे
8 महीने पहले भी हुई थी गोलीबारी
मुखिया श्यामा देवी ने बताया कि एक साल पहले उनके एक पुत्र की हत्या झारखंड के चॉपर थाना क्षेत्र में कर दी गयी थी। इसके बाद करीब आठ महीने पहले भी उनके घर पर गोलीबारी की गयी थी। मुखिया ने कहा कि उनके एक पुत्र को बदमाश मार चुके हैं। उस घटना के महिनों बीत जाने के बाद भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है। इससे बदमाशों का हौसला बुलंद है और उनके दूसरे बेटे की जान भी खतरे में हैं।
71 लोगों पर हुआ केस
मुखिया ने इस मामले में बेनिया बिगहा गांव के विपिन यादव, विनोद यादव समेत 11 नामजद लोगों को अभियुक्त बनाया है। साथ ही 60 अज्ञात लोगों को भी आरोपित किया गया है। बेन के थानाध्यक्ष रणजीत कुमार सिन्हा ने कहा कि प्राथमिकी दर्ज कर मामले की छानबीन की जा रही है। अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए उनके ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। पुलिस जल्द ही आरोपितों को पकड़ लेगी।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In बिहार शरीफ

Leave a Reply

Check Also

एक बार फिर उद्घाटन से पहले बह गया पुल.. टापू में तब्दील हो गया पूरा इलाका

बिहार में विधानसभा चुनाव से पहले उद्घाटन का दौर चल रहा है. केंद्र और बिहार सरकार रोजाना कु…