जैन और बुद्ध सर्किट को जोड़ेगा रेलवे.. नालंदा से गुजरेगी बुलेट ट्रेन.. तीन नई रेललाइन बिछेगी

0

पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए रेलवे ने जैन और बुद्ध सर्किट को जोड़ने की योजना बनाई है । ताकि बौद्ध और जैन पर्यटकों को ज्यादा से ज्यादा संख्या में आकर्षित किया जा सके। साथ ही रेलवे से राजस्व में भी वृद्धि हो और पर्यटन के क्षेत्र में रोजगार के ज्यादा से ज्यादा अवसर उत्पन्न हों।

बुलेट ट्रेन नालंदा से गुजरेगी
रेलवे ने बौद्ध सर्किट को जैन सर्किट से जोड़ने की योजना बनाई है ताकि बौद्ध धर्म और जैन धर्म के अनुयायियों को सुविधा हो। इसी क्रम में राजगीर से बोधगया को सीधी रेल सेवा से जोड़ने के लिए नई रेल लाइन बिछाने का प्रस्ताव दिया गया है। साथ ही पांच एक्सप्रेस-वे में तीन और बुलेट ट्रेन के रूट भी नालंदा से होकर गुजरेगी।

तीन रूटों का सर्वे पूरा
जिन तीन रुटों पर रेललाइन सर्वे का काम पूरा हो गया है। उसमें पहला बिहारशरीफ-नवादा रेल लाइन है। इससे जैन धर्मावलंबी नवादा और भगवान महावीर की महापरिनिर्वाण भूमि पावापुरी आसानी से आ जा सकेंगे। साथ ही पर्यटकों की संख्या में भी बढ़ोत्तरी होगी। दूसरा इस्लामपुर-मानपुर रेललाइन है । इससे गया से सीधा पटना जुड़ जाएगा। और तीसरा बिहारशरीफ-जहानाबाद रेल लाइन है। इन रेल परियोजनाओं से बुद्ध और जैन सर्किटों के तहत आने वाले पावापुरी, बोधगया और जहानाबाद सीधे रेल लाइन से जुड़ जाएंगे।

इसे भी पढ़िए-नवादा-बिहारशरीफ रेल लाइन पर कहां कहां बनेंगें स्टेशन.. जानिए

रेललाइनों की संख्या 7 हो जाएगी
अगर इन रेललाइन पर काम पूरा हो जाता है तो नालंदा जिला में रेललाइन की संख्या बढ़कर सात हो जाएगी । क्योंकि
अभी तीन रेल लाइनों पर ट्रेनें चल रही हैं। जिसमें बख्तियारपुर-तिलैया(भाया राजगीर और बिहारशरीफ), बिहारशरीफ-दनियावां-फतुहा और फतुहा-इसलामपुर रेलखंड शामिल हैं।

इसे भी पढ़िए-राजगीर-बराबर और बोधगया के बीच बनेगा नया हाईवे.. जानिए कहां-कहां से गुजरेगा

चौथा रेलखंड बिहारशरीफ-बरबीघा-शेखपुरा रेलखंड के अस्थावां तक के हिस्से पर काम अप्रैल के अंत तक पूरा कर लेने की योजना है। साथ ही तीन नई रेल लाइनों बिहारशरीफ-नवादा रेलखंड,बिहारशरीफ-जहानाबाद रेलखंड,इस्लामपुर-मानपुर पर सर्वे का काम पूरा कर लिया गया है। इस तरह नालंदा जिला में सात रेल लाइनों का जाल बिछ जाएगा।

इसे भी पढ़िए-नालंदा में चलती ट्रेन से गिरा युवक, दो हिस्सों कट गया शरीर.. जानिए पूरा मामला

धार्मिक स्थानों को जोड़ने की योजना
पूर्व मध्य रेलवे के डिप्टी चीफ इंजीनियर शिवकुमार प्रसाद का कहना है कि रेलवे द्वारा बौद्ध और जैन सर्किट के तहत धार्मिक स्थलों को जोड़ने की योजना बनाई गई है। इसके लिए तीन रेलखंडों का सर्वे पूरा कर लिया गया है। सर्वे की पूरी रिपोर्ट विभाग को भेज दी गई है। कोरोना के कारण सर्वे में देरी हुई है। अब स्वीकृति मिलने के बाद तीव्र गति से काम शुरू कर निर्धारित समय सीमा के अंदर पूरा करा लिया जाएगा।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In बढ़ता बिहार

Leave a Reply

Check Also

नीतीश कुमार के दुश्मन नंबर वन को अमित शाह ने दिया Z कैटगरी की सुरक्षा.. जानिए पूरा मामला

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के दुश्मन नंबर वन को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बड़ा…