नालंदा-गया-जहानाबाद के बीच बनेगा एक और हाईवे.. जानिए कहां-कहां से गुजरेगा

0

नालंदा, गया और जहानाबाद जिला वासियों के लिए अच्छी खबर है । नालंदा और जहानाबाद के बीच एक नया हाईवे बनाया जाएगा । जिसकी मंजूरी मिल गई है । इस हाईवे की लंबाई 45 किलोमीटर होगी। नया स्टेट हाईवे बनने से चार जिलों को फायदा होगा लेकिन सबसे ज्यादा लाभ नालंदा, गया और जहानाबाद को मिलेगा।

बुद्ध सर्किट के तहत होगा निर्माण
इस नए स्टेट हाईवे का निर्माण बुद्ध सर्किट के तहत हो रहा है ताकि ज्यादा से ज्यादा पयर्टकों को जोड़ा जा सके और बोधगया, बाणावर ( बराबर) और राजगीर बुद्ध सर्किट के अंदर आते हैं, मगर एक साथ आवागमन की सुविधा नहीं रहने की वजह से पर्यटक बाणावर यानि बराबर का आनंद नहीं ले पाते थे। अब सरकार ने मखदुमपुर से राजगीर तक सड़क बनाने की योजना बनाई है, ताकि इन तीनों बौद्ध सर्किट को लोग एक साथ दे सके। बाणावर पहाड़ी के आसपास रहने वाले लोगों को भी इस मार्ग से राजगीर आने-जाने में सहूलियत होगी।

इसे भी पढ़िए-बिहार में बिछेगी तीन और नई रेललाइन.. नालंदा से बोधगया,नवादा, जहानाबाद को जोड़ने की योजना

बराबर को राजगीर से जोड़ने की योजना
जहानाबाद के बराबर से राजगीर तक नया स्टेट हाईवे बनाया जाएगा। जिसकी लंबाई 45 किलोमीटर होगी। अभी बराबर से राजगीर जाने के लिए जहानाबाद और गया का रास्ता तय करना पड़ता है। जिससे लोगों या पर्यटकों को ज्यादा दूरी तय करनी पड़ती है और पैसे भी अधिक खर्च करने होते हैं

इसे भी पढ़िए-रेलमंत्री ध्यान दें.. बिहारशरीफ रेलवे स्टेशन पर कभी हो सकता है बड़ा हादसा

कहां-कहां से गुजरेगा हाइवे
राजगीर से बाणावर यानि बराबर को जोड़ने वाली स्टेट हाईवे मखदुमपुर के बाणावर से निकलकर पटना-गया एनएच-83 को जोड़ेगी। फिर हुलासगंज और खुदागंज राजगीर रोड में जाकर मिल जाएगी। खुदागंज से राजगीर तक सड़क के चौड़ीकरण की योजना बनी है।

इसे भी पढ़िए-बिहारशरीफ-अरवल NH 33 पर बनेगा ओवरब्रिज और बाईपास.. किन किन गांव की जमीन का होगा अधिग्रहण

बोधगया जाना आसान
मखदुमपुर से खुदागंज तक के 45 किलोमीटर क्षेत्र में आसपास के सैकड़ों गांव के लोगों को इसका फायदा मिलेगा। इस स्टेट हाईवे के बनने से बोधगया जाने वाले पर्यटक रास्ते में बराबर और राजगीर के ऐतिहासिक स्थलों को देख सकेंगे। दरअसल, इस सड़क का निर्माण जहानाबाद जिला स्थित मखदुमपुर के बाणावर की पहाड़ी को नालंदा से जोड़ने के लिए कराया जा रहा है। इस स्टेट हाईवे के बनने के बाद लोग बड़ी आसानी से राजगीर से लेकर बाणावर पहाड़ी तक घूम सकेंगे।

इसे भी पढ़िए-नालंदा जिला में बनेगा एक और फोरलेन और बाईपास.. जानिए कहां से कहां तक

मगध का हिमालय है बाणावर
बराबर की पहाड़ी जिसे बाणावर भी कहा जाता है । इसे मगध के हिमालय के नाम से भी जाना जाता है। बाणावर (बराबर) की गुफाएं प्राचीन रॉक-कट बौद्ध कक्षों की तारीख तीसरी शताब्दी ए.डी. है । इसे अजीविना संप्रदाय की उत्पत्ति के स्थान के रूप में जाना जाता है।

मगध का कैलाश है बराबर
यहां भगवान शंकर का विशाल और मशहूर मंदिर है । जिसे सिद्धेश्वर नाथ मंदिर के रूप में जाना जाता है। इस मंदिर का निर्माण गुप्त काल में यानि 7 वीं शताब्दी में हुआ था । मान्यता के मुताबिक इस मंदिर का निर्माण बाना राजा ने किया था। बाना राजा राजगृह के महान शासक जरासंध का ससुर थे ।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In बढ़ता बिहार

Leave a Reply

Check Also

बिहार में इंटर एग्जाम से आधे घंटे पहले मैथ्स का पेपर लीक ?.. जानिए कहां से लीक हुआ पेपर

बिहार में इंटर परीक्षा से पहले प्रश्न पत्र लीक होने की ख़बर आ रही है। आज पहले दिन मैथ्स की…