BPSC की परीक्षा के दौरान एग्जाम हॉल में ही परीक्षार्थी की मौत.. जानिए पूरा मामला

0

बिहार लोकसेवा आयोग द्वारा रविवार को 67वीं संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा का आयोजन किया गया था। परीक्षा के दौरान एक अजीबोगरीब वाक्या हुआ। जब एग्जामिनेशन हॉल में ही एक परीक्षार्थी की मौत हो गई। हालांकि आपको बता दें की BPSC ने 67वीं प्रारंभिक परीक्षा को रद्द कर चुका है।

क्या है मामला
मामला बिहार के लखीसराय जिला के आरलाल कॉलेज परीक्षा केंद्र की है। जहां रविवार को बीपीएससी की पीटी दे रहे एक परीक्षार्थी की अचानक मौत हो गई। जिसके बाद प्रशासन के हाथ पांव फूल गए। साथ ही बाकी परीक्षार्थियों में घबराहट देखने को मिला।

अचानक बेहोश होकर गिर पड़ा
बताया जा रहा है कि बनारसी सिंह बीपीएससी पीटी का परीक्षा दे रहा था। परीक्षा के दौरान बेहोश होकर गिर पड़ा। डीएम ने कहा कि परीक्षार्थी के द्वारा बीमार पड़ने से पहले 36 प्रश्नों का उत्तर दिया गया है। इसके बाद उसे सदर अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया।

इसे भी पढिए-बिहार में बनेगा दुनिया का सबसे बड़ा राममंदिर, सबसे बड़ा शिवलिंग भी स्थापति होगा.. जानिए कहां

मृतक की पहचान हुई
मृतक की पहचान बनारसी सिंह के तौर पर हुई है। उसके पिता का नाम स्व.कुशेश्वर सिंह है। बताया जा रहा है कि बनारसी सिंह उत्तरप्रदेश के सोनभद्र के ओबरा कॉलोनी में सेक्टर आठ परसोई का रहने वाला था ।

इसे भी पढ़िए-BPSC 67वीं PT परीक्षा रद्द.. जानिए क्यों और किसे सौंपा गया जांच का जिम्मा

हार्ट अटैक से मौत
घटना की जानकारी मिलते ही लखीसराय के डीएम संजय कुमार सिंह अस्पताल पहुंचे और डॉक्टर से जानकारी ली। जहां डॉक्टर ने प्रथमदृष्टया मौत का कारण हार्ट अटैक बताया। वहीं, सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ. राकेश कुमार ने बताया कि बैग में मिली दवाइयों में ब्लड प्रेशर, मिर्गी और विटामिन की दवाएं है। आशंका है कि मिर्गी आने या फिर ब्लड प्रेशर बढ़ जाने से हार्ट अटैक हुआ। शव को पोस्टमार्टम करा कर परिजन को सुपुर्द कर दिया गया।

इसे भी पढ़िए-जेलर के घर पर छापेमारी, नोटों के बंडल मिले.. जानिए पूरा मामला

करीब 5 लाख परीक्षार्थी हुए थे शामिल
आपको बता दें कि बीपीएसपी में पहली बार रिकार्ड 6 लाख 2 हजार अभ्यर्थियों ने आवेदन किए थे। आयोग के अनुसार लगभग 5 लाख परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए। बिहार के 38 जिलों के 1083 केंद्रों पर परीक्षा ली गई। पहली बार सभी 38 जिलों में केंद्र बनाए गए थे। इससे पहले अधिकतम 35 जिलों में केंद्र बनाए गए थे। लेकिन प्रश्न पत्र लीक होने से पहली बार पूरी परीक्षा को रद्द कर दिया गया

C-SET पेपर आउट
बीपीएससी के सचिव जिऊत सिंह के अनुसार 12 बजे के बाद व्यक्तिगत रूप से उन्हें जानकारी मिली कि सी सेट के प्रश्न पत्र वायरल हुए हैं। वायरल प्रश्न की जांच से पता चला कि वही प्रश्न पत्र वायरल हुए हैं, जो प्रश्न परीक्षार्थियों को दिया जाना था। शुरू में पता चला कि 11.54 बजे पेपर वायरल हुआ है।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In जॉब एंड एजुकेशन

Leave a Reply

Check Also

नालंदा में ट्रेन से कटकर एक युवक और एक युवती की मौत.. जानिए पूरा मामला

नालंदा जिला में बख्तियारपुर-राजगीर रेलखंड पर ट्रेन से कटकर दो लोगों की मौत हो गई है । जिसम…