Home काम की बात अच्छी खबर- पटना में बनेगा देश का पहला तीन मंजिला ट्रैफिक सिस्टम, टू लेन,फोर लेन और मेट्रो एक साथ

अच्छी खबर- पटना में बनेगा देश का पहला तीन मंजिला ट्रैफिक सिस्टम, टू लेन,फोर लेन और मेट्रो एक साथ

0

बिहारवासियों के लिए अच्छी खबर है। राजधानी पटना में तीन मंजिला ट्रैफिक सिस्टम बनने जा रहा है । जिसमें सबसे नीचे टू लेन सड़क होगी । पहली मंजिल पर फोर लेन सड़क होगी और सबसे ऊपरी तल्ले पर मेट्रो ट्रेन दौड़ेगी। इस पर बिहार सरकार ने मंजूरी दे दी है। ये देश का पहला तीन मंजिला ट्रैफिक सिस्टम होगा. इससे पहले देश में ऐसी सड़क कहीं नहीं है ।

8.8 किमी लंबी होगी तीन मंजिला ट्रैफिक व्यवस्था
ये प्रोजेक्ट 8.8 किलोमीटर के लंबी होगी. जिसमें दो किलोमीटर की दूरी तक ग्राउंड पर दो लेन सड़क होगी। उसके ऊपर एलिवेटेड फोरलेन सड़क होगी। और, सबसे ऊपर मेट्रो ट्रैक होगा। मीठापुर आरओबी से उतरकर चाणक्य लॉ यूनिवर्सिटी से सिपारा आरओबी तक जमीन पर सड़क होगी। पटना-गया-डोभी नेशनल हाइवे पर पहुंचने के लिए सिपारा रेलवे ओवर ब्रिज के बाद से यादवचक तक करीब 2 किलोमीटर की दूरी में तीन मंजिला ट्रैफिक की यह व्यवस्था रहेगी। मीठापुर आरओबी से महुली तक कुल 8.8 किलोमीटर रोड प्रोजेक्ट के लोन मंजूरी का प्रस्ताव केन्द्र सरकार की डिपार्टमेंट ऑफ इकोनॉमिक अफेयर्स के पास सहमति के लिए भेजा गया है। बिहार राज्य पथ विकास निगम के इस 3 टायर एलिवेटेड प्रोजेक्ट की लागत 1151 करोड़ है। पटना मेट्रो को लोन देने को तैयार जापान की एजेंसी जाइका बिहार सरकार के इस प्रस्ताव पर लोन देने को तैयार है। केंद्र सरकार से सहमति मिलते ही निर्माण की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

एक ही पिलर पर फोरलेन हाईवे और मेट्रो
मीठापुर आरओबी के करबिगहिया साइड गोलंबर से सिपारा रेलवे गुमटी ( 2.5 किलोमीटर ) तक यह रोड प्रोजेक्ट पटना-गया रेल लाइन के पूर्व दिशा में सरकारी जमीन पर बनेगा। यहां से पटना-गया रेलवे लाइन के पश्चिम दिशा में सिपारा रेलवे ढाला से 4.6 किलोमीटर लंबाई में वर्तमान पटना-गया रोड के ऊपर एलिवेटेड बनेगा। उसके आगे महुली तक फिर जमीन पर ही 4 लेन रोड बनेगा। दक्षिणी पटना के इस पहले महत्वपूर्ण रोड प्रोजेक्ट में जमीन अधिग्रहण की समस्या नहीं है। मुंबई की श्रीखंडे कंसल्टेंट- नेसेंस कंसल्टेंट (जेवी) ने बिहार राज्य पथ विकास निगम को डीपीआर सौंप दिया है। सरकार की योजना इसी वर्ष निर्माण प्रक्रिया शुरू करने की है। पटना मेट्रो के पहले ईस्ट-वेस्ट कॉरि़डोर (दानापुर से मीठापुर) का डिपो एतवारपुर में बनना है। इसी कॉरि़डोर का 2 किलोमीटर हिस्सा इस प्रोजेक्ट की दूसरी मंजिल पर बनेगा।

सिपारा से आगे नया प्रयोग
पटना-गया-डोभी नेशनल हाइवे पर पहुंचना होगा बेहद आसान
अब सेंट्रल डिपार्टमेंट ऑफ इकोनॉमिक अफेयर्स की सहमति बाकी

 

एलिवेटेड रोड प्रोजेक्ट की जरूरत क्यों पड़ी?
इस एलिवेटेड प्रोजेक्ट का निर्माण भविष्य में दक्षिणी पटना में बढ़ने वाले यातायात दबाव को कम करने के लिए किया जा रहा है। बेउर गांव से 3.5 किलोमीटर दक्षिण-पूरब दिशा की तरफ नत्थुपुर में पटना-गया-डोभी और पटना-आरा-बक्सर 4 लेन हाईवे का जंक्शन बन रहा है। पटना शहर से गया-डोभी होते हुए झारखंड और आरा-बक्सर होते यूपी के लिए इन्हीं दो हाईवे पर चढ़ना होगा। नत्थुपुर हाईवे जंक्शन से वर्तमान पटना-गया रोड को जोड़ने के लिए पटना-गया-डोभी सड़क का नया 4 लेन बायपास का निर्माण भी होना है। यह बायपास नत्थुपर-सिमरा-परसा-खपरैलचक-महुली होते हुए पुनपुन नदी के किनारे मोहिउद्दीनपुर तक बनेगा। इसी बायपास को मीठापुर आरओबी-महुली रोड जोड़ेगा।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In काम की बात

Leave a Reply

Check Also

चुनाव प्रचार के दौरान उम्मीदवार को गोलियों से भून डाला.. जानिए पूरा मामला

बिहार विधानसभा चुनाव में खून खराबे का दौर शुरू हो गया है. चुनाव प्रचार के दौरान बदमाशों ने…