चुनाव जीतने के 20 बाद ही मुखिया की फिल्मी स्टाइल में हत्या.. जानिए पूरा मामला

0

बिहार में एक नवनिर्वाचित मुखिया की बेरहमी से हत्या कर दी गई। चुनाव जीतने के महज 20 दिन बाद ही बदमाशों ने हत्या कर दी। बदमाशों ने पहले नवनिर्वाचित मुखिया के सिर में गोली मारी फिर धारदार हथियार से शव को क्षत विक्षत कर दिया ।

एंबुलेंस से आए थे बदमाश
बदमाशों ने फिल्मी स्टाइल में वारदात को अंजाम दिया। वारदात को देखकर लगता है कि इसकी पटकथा पहले लिखी गई। उसके बाद अंजाम दिया गया। बदमाश एंबुलेंस में सवार होकर आए थे ताकि ना तो पुलिस को शक हो और ना ही आम पब्लिक को।

मुखिया को पहले फोन किया
नवनिर्वाचित मुखिया संजय सिंह की लोकप्रियता बढ़ती जा रही थी। वे लगातार दूसरी बार चुनाव जीतकर मुखिया बने थे। वे युवा थे और उनकी पहचान एक अच्छे सामाजिक कार्यकर्ता के तौर पर थी। नवनिर्वाचित मुखिया संजय सिंह को किसी ने फोन कर पंचयती कराने के लिए बुलाया।

बुलेट से घर से निकले थे
नवनिर्वाचित मुखिया संजय सिंह पंचयती के लिए घर से अपनी बुलेट निकले। जैसे ही वे कुछ दूर गए तो रास्ते में पहले एंबुलेंस में घात लगाकर बैठे बदमाशों ने उनपर फायरिंग कर दी । अपरधियों ने पहले मुखिया को सिर में गोली मारी। बाद में धारदार हथियार से सिर को पूरी तरह क्षत-विक्षत कर दिया।

एंबुलेंस पलटा
वारदात के बाद भागने के क्रम में अपराधियों एंबुलेंस पलट गया । एंबुलेंस घटनास्थल के पास ही खाई में पलट गयी। हालांकि फिर भी सभी अपराधी भागने में सफल रहे हैं।

इसे भी पढ़िए-नालंदा का आर्मी जवान हनी ट्रैप में गिरफ्तार, देशद्रोह का मुकदमा दर्ज 

दूसरी बार बने थे मुखिया
संजय सिंह बाबूबांध पंचायत से दूसरी बार मुखिया का चुनाव जीते थे। पांचवें चरण के तहत 24 अक्टूबर को चुनाव हुआ था और 26 अक्टूबर को मतगणना में संजय दोबारा मुखिया निर्वाचित हुए थे। संजय सिंह अपने पंचायत के मुखिया के साथ-साथ सामाजिक कार्यकर्ता थे। विकास के काम को लेकर हमेशा क्षेत्र में घूमते रहते थे। बताया जा रहा है कि चुनावी रंजिश में हत्या हुई है ।

कहां का है मामला
मामला भोजपुर जिले के चरपोखरी थाना क्षेत्र की है । जहां भलुआना गांव के अपराधियों ने नवनिर्वाचित मुखिया की हत्या कर दी । मुखिया संजय सिंह के हत्या के बाद घटनास्थल पर पहुंचे ग्रामीणों का गुस्सा भड़क उठा। ग्रामीणों ने चरपोखरी थाना प्रभारी पर लापरवाही का आरोप लगाया और उनपर कार्रवाई करते हुए सस्पेंड करने की मांग करने लगे।

फिंगर प्रिंट्स की होगी जांच
पीरो DSP राहुल सिंह ने कहा कि मामले की छानबीन कर रहे हैं। घटनास्थल से कुछ सैम्पल लिया जाएगा। उसके साथ एम्बुलेंस और शव से फिंगर प्रिंट लेने के लिए FSL टीम को बुलाया जा रहा है। हत्या के पीछे कारण क्या था, इसकी जांच की जा रही है। जल्द से जल्द अपराधियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In अपराध

Leave a Reply

Check Also

पुलिस बनकर सोना कारोबारी को लूटा, पुलिस वर्दी में थे लुटेरे

स्वर्ण व्यवसायी से लूट की दो बड़ी वारदात सामने आई है । जिसमें एक में तो लुटरे पुलिस वर्दी …