हनी ट्रैप गिरोह के 2 सदस्य गिरफ्तार, लड़कियों के जरिए लड़कों को फंसाता था

0

हनी ट्रैप की घटनाएं पहले दिल्ली,मुंबई जैसे महानगरों में हुआ करती थी। नालंदा में भी हनी ट्रैप गिरोह का भंडाफोड़ हुआ है। नालंदा पुलिस ने हनी ट्रैप गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया है। पूछताछ में बड़ा खुलासा हुआ है ।

कहां से हुई गिरफ्तारी
हनी ट्रैप मामले में नालंदा पुलिस ने दो युवकों को गिरफ्तार किया है । इन दोनों की गिरफ्तारी बिहारशरीफ के लहेरी थाना क्षेत्र के मेहरपर मोहल्ले से हुई है ।

कौन कौन गिरफ्तार
पुलिस ने जिन दो युवकों को गिरफ्तार किया है । उसमें से एक का नाम सोनू कुमार है । जो सिलाव थाना क्षेत्र के रामनगर का रहने वाला है । जबकि दूसरे आरोपी का नाम किसलय कुमार है । किसलय कुमार बिहारशरीफ के दीपनगर का रहने वाला है ।

इसे पढ़िए-बर्थडे के दिन ट्रेन से कटकर दो छात्रों की मौत, बिहारशरीफ में रहकर करते थे पढ़ाई

हनी ट्रैप के जरिए अपहरण का खेल
खास बात ये है कि ये लोग लड़कियों के जरिए पहले युवकों को प्रेम जाल में फंसाता था । फिर सुनसान जगह पर बुलाकर अपहरण कर लेता था । फिरौती की रकम देने के बाद युवकों को छोड़ता था

इसे पढ़िए-कानपुर में नालंदा और नवादा के 6 छात्र गिरफ्तार.. जानिए क्यों और कौन कौन?

कैसे हुआ खुलासा
दरअसल,एक जुलाई को अस्थावां के रहने वाले अजय कुमार का अपहरण कर लिया गया था। उसकी किडनैपिंग सिलाव थाना क्षेत्र के सुरुमपुर गांव के पास हुआ था। अपहरण की सूचना के बाद पुलिस ने छापेमारी कर अजय को घोस्तावां गांव के खंधे से मुक्त कराया था।

इसे पढ़िए-नालंदा में खुदाई मिले दो हजार साल पुराने दुर्लभ अवशेष.. मिलेगी नई जानकारी

पूछताछ में हुआ खुलासा
इस मामले में सिलाव पुलिस ने जब अजय कुमार से पूछताछ की तो सच्चाई सामने आई। अजय ने बताया कि मिस कॉल से एक युवती से दोस्ती हुई थी। उसी युवती ने उसे मिलने के बुलाया और दोस्तों की मदद से अपहरण कर उसके भाई से 10 लाख रुपये की फिरौती मांगी थी।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In रोचक खबरें

Leave a Reply

Check Also

सरकारी कर्मचारियों पर CM नीतीश सख्त.. जारी किया बड़ा आदेश

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सरकारी दफ्तरों में कर्मचारियों की कार्यशैली को सुधारना चाहते हैं ।…