मां ने अपने ही बेटे को मरवा डाला.. क्यों..जानिए पूरी कहानी

0

जो मां अपने बच्चे को नौ महीने गर्भ ेमें रखती है। जिसके पैदा होने के लिए वो लाख दुख सहती है। वही मां अपने बेटे का कत्ल करवा देती है। एक ऐसी ही मां का मामला सामने आया है जिसने 50 हजार की सुपारी देकर अपने ही बेटे को मरवा डाला। मामला पटना जिले के बख्तियारपुर का है। इसका खुलासा खुद आरोपी मां ने किया। आरोपी रेणु देवी की निशानदेही पर दो बदमाशों को भी गिरफ्तार कर लिया गया है । जिसने महिला से सुपारी लेकर मिंटू की हत्या की थी।

पूरा मामला जानिए

आरोपी महिला का नाम रेणु देवी है और वो खुसरूपुर की रहने वाली हैं। रेणु देवी के तीन बेटे हैं। दो बेटे दिल्ली में प्राइवेट काम करते हैं। जबकि सबसे बड़ा बेटा मिंटू की हरकतों से पूरा गांव परेशान था। वो राह चलते किसी भी महिला के साथ छेड़खानी करता था। तो कभी किसी के घर में चोरी करता था । तो कभी किसी का सामान छीन लेता था। मिंटू की इन आदतों से गांव वाले परेशान थे और गांव वाले उसकी मां को ताना मारते रहते थे। मिंटू रेप के एक केस में जेल भी जा चुका था। लाख समझाने-बुझाने के बाद भी उसने अपनी आदत नहीं छोड़ी। घरवालों ने उसकी शादी करवा दी थी लेकिन इसके बाद भी वो नहीं सुधरा। गांव वालों के ताने से उसकी मां और परिवार के दूसरे सदस्यों का जीना मुहाल हो गया था। ऐसे में उसकी मां रेणु देवी ने उसकी जीवनलीला खत्म कर देने का ही प्लान बनाया। रेणु देवी ने अपराधी धर्मवीर कुमार को 50 हजार रुपये की सुपारी दी और अपने कलेजे के टुकड़े को मारने को कहा। सुपारी लेने के बाद सालिमपुर का रहने वाला धर्मवीर कुमार ने अपने एक साथी टेका बिगहा के रहने वाला श्रवण कुमार के साथ मिंटू की 7 अप्रैल को हत्या कर दी । हत्या को हादसा का रूप दिया गया । लेकिन करीब एक महीने बाद पुलिस ने हत्याकांड के आरोपियों को ढ़ूढ निकाला और हत्याकांड की कहानी सुनकर पटना के एसएसपी मनु महाराज भी चकित रह गए।

पटना के एसससपी मनु महाराज ने बताया कि बेटे की हरकतों से तंग आकर उसकी मां ने सुपारी देकर हत्या करा दी। बेटे ने अपनी जमीन दिखाकर कई लोगों से रुपये भी कर्ज में लिये थे। दो अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है। हत्या में इस्तेमाल हथियार भी बरामद हो गया है। पुलिस ने दोनों अपराधियों के पास से हत्या में इस्तेमाल पिस्टल और दो जिंदा कारतूस बरामद किया  है।

पूरी कहानी सामने आने पर कई सवाल मन में घुमड़ने लगे। जैसे क्या रेणु देवी के सामने इसके अलावा कोई चारा नहीं था ? क्या सुपारी देते वक्त रेणु देवी की ममता सामने नहीं आई? सुपारी देने और हत्या के बाद उस मां पर क्या गुजरा होगा जिसने पाल पोष कर इसे बड़ा किया था ?

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In पटना

Leave a Reply

Check Also

नालंदा में रफ्तार का कहर.. बेकाबू ट्रक ने तीन युवकों रौंदा.. तीनों की मौत

नालंदा जिला में एक बार फिर तेज रफ्तार ने तीन युवकों की जान ले ली है । बताया जा रहा है कि ब…