Home खास खबरें नालंदा के अगवा बैंक मैनेजर का मोबाइल तो मिला, लेकिन…

नालंदा के अगवा बैंक मैनेजर का मोबाइल तो मिला, लेकिन…

0

नालंदा के अगवा बैंक मैनेजर जयवर्द्धन का मोबाइल मिल गया है। लेकिन तीन दिन बीत जाने के बाद अबतक कोई सुराग नहीं मिला है। अगवा बैंक मैनेजर जयवर्द्धन की बरामदगी के लिए नालंदा, शेखपुरा और नवादा जिले की पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है लेकिन पुलिस के हाथ अबतक खाली हैं।

नवादा में मिला मोबाइल
मध्य ग्रामीण बैंक के मैनेजर जयवर्धन का नवादा के अकबरपुर के दुधौली गांव के एक घर से मोबाइल मिला है। जिसके घर से मोबाइल मिला है पुलिस ने उसे और उसके तीनों बेटों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। सूत्रों के मुताबिक पूछताछ में उसने बताया कि वो टेंपो स्टैंड में  एजेंट है और मोबाइल उसे टेम्पो स्टैण्ड में मिला है।
जंगलों में हो रही है छापेमारी

सूत्रों के अनुसार नालंदा और नवादा की पुलिस ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर अकबरपुर, गोविंदपुर और रजौली थाना क्षेत्र के पहाड़ी और जंगली इलाकों में छापेमारी कर रही है । हालांकि पुलिस इस संबंध में कुछ नहीं बता रही है। इधर, अपहृत मैनेजर का अबतक बरामदगी नहीं होने से पिता जयदेव, मां कांति देवी और पत्नी शीतल सुमन की हालत खराब हो गयी है। परिजन की माने तो उन्होंने अन्न-जल त्याग दिया है। गांव में सन्नाटा पसरा है।

आपको बता दें कि जयवर्धन नालंदा जिला के मोहनपुर के रहने वाले हैं। वो बिहार मध्य ग्रामीण बैंक में मैनेजर हैं। उनकी पोस्टिंग शेखपुरा के अरियरी में था। 28 सितंबर को ऑफिस के बाद वो बाइक से घर लौट रहे थे तभी उनका अपहरण हो गया है।  लेकिन अब तक उनका कोई सुराग नहीं मिला है।

हालांकि मोबाइल लोकेशन के आधार पर इतना तो कहा जा सकता है जयवर्धन को अपहरण करने के बाद बदमाशों ने उन्हें पहले नवादा लाया था। क्योंकि शुरुआत से मोबाइल मिलने तक इसका लोकेशन नवादा ही दिखाया है।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

विधान परिषद की 8 सीटों के लिए चुनाव का ऐलान.. जानिए कब क्या होंगे

बिहार विधानसभा के चुनाव की घोषणा के कुछ घंटों बाद ही बिहार विधान परिषद की खाली आठ सीटों के…