बम धमाके से दहला बिहार, तीन घर जमींदोज, 7 की मौत, कई की हालत नाजुक

0

एक बार फिर बम धमाके से बिहार दहल गया है। धमाका इतना जबरदस्त था कि तीन मकान जमींदोज हो गए । धमाके में 3 घर जमींदोज हो गए हैं । जबकि 7 लोगों की मौत हो गई है और 11 लोग घायल हैं । बताया जा रहा है कि मृतकों की संख्या बढ़ सकती है ।

कहां हुआ धमाका
धमाका भागलपुर के तातारपुर थाना क्षेत्र के काजवलीचक मोहल्ले में हुई है। बताया जा रहा है कि रात पौने 12 बजे एक घर के अंदर हुए बम धमाके ने तबाही मचा दी। कुल तीन घर इस धमाके में जमींदोज हो गए। जिसमें एक महिला और एक बच्चा समेत सात लोगों की मौत हो गई।

बम बनाने के दौरान धमाका
पुलिस को शक है कि बम बनाने के दौरान यह धमाका हुआ। एसएसपी बाबू राम ने बताया कि प्रारंभिक जांच में बम बनाते समय धमाका होने की बात सामने आई है। बताया गया कि रात 11.35 बजे मोहल्ले में एक घर में धमाका हुआ। इस मकान में शीला देवी और लीला देवी रहती थी। दोनों गोतनी हैं। धमाके की तीव्रता इतनी ज्यादा थी कि आसपास के दो और मकान जमींदोज हो गए। इसके अलावा कुछ और घरों को भी नुकसान पहुंचा है।

आधा किलोमीटर तक फैले टुकड़े
धमाका इतना जबरदस्त था कि मकान के टुकड़े आधा किलोमीटर दूर तक उड़े। धमाका शांत होने के बाद लोगों की भीड़ जुटी और खोजबीन शुरू हुई। शीला देवी, गणेश कुमार और एक छह माह के बच्चे की लाश मलबे से कुछ ही देर बाद निकाल ली गई। आधा दर्जन घायलों को भी एक-एक कर अस्पताल ले जाया गय। सभी मृतक और घायल काजवाली चौक, तातारपुर के निवासी हैं।

राहत और बचाव का काम शुरू
रात को एक बजे करीब जेसीबी मंगाई गई और मलबा हटाने का काम शुरू किया गया। अंदर और कितने लोग थे, यह मलबा हटने के बाद पूरी तरह साफ हो पाएगा। घटनास्थल पर डीआईजी, एसएसपी, डीएम समेत कई वरीय अधिकारी पहुंचे। धमाके की वजह से बिजली के पोल-तार भी बिखर गए। अंधेरा होने के कारण राहत कार्य में दिक्कत आ रही थी।

पटाखा बनाने का काम करता था परिवार
धमाके को लेकर एसएसपी का कहना है कि घटना का कारण संभवतः पटाखा मैटेरियल विस्फोट है। अभी तक जो जानकारी मिली है उसके अनुसार पीड़ित परिवारों में से एक परिवार पटाखा बनाने का काम करता था। जिसके घर में पहले भी विस्फोट की घटना हो चुकी है। उसी घर में विस्फोटक पदार्थ से विस्फोट होने की संभावना है। बम डिस्पोजल टीम तथा एफएसएल टीम के निरीक्षण के बाद स्थिति कुछ और स्पष्ट हो सकेगी।

घायलों के नाम
1- रिंकू कुमार साह, 30 साल
2- आएशा मंसूर, 25 वर्ष
3- राहुल कुमार, 12 साल
4- सोनी देवी, 27 साल

मृतकों के नाम
1- गणेश प्रसाद सिंह, 60 साल
2- एक अज्ञात महिला
3- प्रियांशु, लीला देवी का नाती

ऐसा थर्राया शहर, मानो भूकंप आया
काजवलीचक मोहल्ले में गुरुवार रात हुए बम विस्फोट से शहरी इलाका थर्रा गया। विस्फोट इतना जबरदस्त था कि तातारपुर चौक और घंटाघर के आसपास तक लोग घर से बाहर निकल आए। घटना के एक घंटे के बाद तक बारूद की गंध पूरे शहरी इलाके में फैलती रही। तातारपुर चौक के पास दोनों ओर के घरों की महिलाएं व बच्चे बाहर निकल आए। महिला आफरीन, शमीमा आदि ने बताया कि आवाज इतनी तीव्र थी कि खिड़कियां खटखटाने लगीं। ऐसा लगा किसी ने खिड़कियां खटखटाई हैं। हमलोग घर से बाहर आए तो देखा आसपास के लोग भी बाहर निकल आए।

सराय, रामसर चौक, विक्रमशिला कॉलोनी आदि मोहल्ले में भी लोग जग गए। खलीफाबाग के समीप रहने वाले व्यापारी गोपाल खेत्रीवाल ने सोशल मीडिया ग्रुप पर पूछा क्या अभी भूकंप आया। इसी तरह शहर के कई सोशल मीडिया पर भी विस्फोट और भूकंप के कयास को लेकर लोगों ने पोस्ट किए। विस्फोट के करीब 25 मिनट बाद मौके पर आए मोजाहिदपुर थानाध्यक्ष सुबोध कुमार ने बताया बारूद की गंध स्टेशन चौक के पास तक महसूस किया गया। गणेश को अस्पताल ले जाने वाले एंबुलेंस चालक ने बताया कि घंटाघर तक बारूद की गंध आ रही थी।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In अपराध

Leave a Reply

Check Also

अजब बिहार में गजब की चोरी.. 500 मीटर लंबी रेल पटरी उखाड़कर कबाड़ी को बेच दिया.. जानिए पूरा मामला

बिहार में चोरी की घटना तो आम बात है। कभी पुल की चोरी तो कभी चारा की चोरी. अब पटरी चोरी की …