एग्जाम सेंटर के बाहर गिरा ठनका, एक छात्र की मौत.. जानिए पूरा मामला

0

कहा जाता है कि अनहोनी कहकर नहीं आती है। यानि मौत किस बहाने आपको उठाकर ले जाएगा नहीं मालूम। दिव्यांशु की मौत भी कुछ इसी तरह हुआ है ।

क्या है पूरा मामला
दरअसल, नेशनल टेस्टिंग एजेंसी(NTA)द्वारा आयोजित JEE(Main)2021 के तीसरे सेशन की परीक्षा चल रही है । बिहार में भागलपुर में भी इसका सेंटर बनाया गया है। पहली पाली में बरारी के बियाडा परिसर स्थित टीसीएस केंद्र पर परीक्षा देने पहुंचे छात्र के मित्र दिव्यांशु कुमार की ठनका गिरने से मौत हो गयी.

दोस्त को परीक्षा दिलाने गया था
19 साल का दिव्यांशु कुमार भागलपुर के घोघा थाना क्षेत्र के पक्कीसराय का रहने वाला था। वो डीएवी कहलगांव में 11वीं का छात्र था। दिव्यांशु और भास्कर दोस्त थे। दिव्यांशु और भास्कर अपने दोस्त प्रीतम को जेईई नीट की परीक्षा दिलाने के लिए भागलपुर के बियाडा स्थित परीक्षा केंद्र पर पहुंचे थे.

इसे भी पढि़ए-बिहार के DGP  के पड़ोसी विधायक और पूर्व मंत्री के घर डाका..जानिए पूरा मामला

पेड़ के नीचे खड़ा होना जानलेवा
बताया जा रहा है कि परीक्षा सुबह नौ बजे से शुरू होनी थी । ऐसे में एक घंटा पहले ही परिक्षार्थियों का परीक्षा केंद्र पर पहुंचना शुरू हो गया था। परीक्षा केंद्र पर ताला लगा था और बारिश शुरू हो गई। ऐसे में वो बियाडा की मुख्य सड़क के किनारे पेड़ के नीचे खड़े थे. इसी दौरान तेज आवाज हुई और ठनका दिव्यांशु गिर गया. उनके पास खड़े दो और छात्र भास्कर कुमार और आशीष घायल हो गये.

इसे भी पढ़िए-बिहार में बीएड की संयुक्त प्रवेश परीक्षा(Bihar BEd CET 2021) की तारीखों का ऐलान

तुरंत अस्पताल ले जाया गया
दिव्यांशु और घायल छात्र को तत्काल टेंपो से जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज ले जाया गया । जहां दिव्यांशु को मृत घोषित कर दिया गया. वहीं, भास्कर की हालत खतरे से बाहर बतायी जा रही है, जबकि एक अन्य छात्र आशीष मामूली रूप से घायल हुआ. उसे इलाज के लिए अस्पताल नहीं लाया गया.

बहन ने दी मुखाग्नि
दिव्यांशु दो बहन और एक भाई में सबसे छोटा था. घर के सभी पुरुष सदस्य बीमार हैं। ऐसे में छोटी बहन अनु लक्ष्मी ने अपने छोटे भाई दिव्यांशु को मुखाग्नि दी.

चौथे चरण की परीक्षा
एनटीए की ओर से जेईई मेंस के तीसरे चरण की परीक्षा 20, 22, 25 व 27 जुलाई, 2021 को आयोजित की जा रही है. जबकि चौथे सत्र की परीक्षा 26, 27, 31 अगस्त के अलावा एक और दो सितंबर को आयोजित की जायेगी.

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

चपरासी से TTE में हुआ प्रमोशन तो बन गया ‘नरपिचाश’… जानिए पूरी वारदात

नालंदा जिला में महज एक शख्स महज कुछ पैसे के लिए नरपिचाश बन गया। जिसके साथ सात जन्मों तक सा…