बिहारशरीफ में ड्रग्स का कारोबार.. ब्राउन शुगर नेटवर्क में कौन-कौन पकड़ा गया

0

पहले महानगरों में ड्रग्स के नशे का कारोबार होता है । लेकिन धीरे धीरे ये अब छोटे शहरों का रुख करने लगा है । बिहारशरीफ जैसे शहरों में भी युवा अब ड्रग्स की चपेट में आने लगे हैं । शहर में ब्राउन शुगर जैसे मादक द्रव्य आसानी से उपलब्ध होने लगे हैं । इस मामले में बड़ा खुलासा हुआ है ।

क्या है पूरा मामला
आजकल युवाओं में ड्रग्स के सेवन का प्रचलन काफी बढ़ गया है। शराब पर बैन है ऐसे में ड्रग्स माफिया की नजर युवाओं पर है । युवाओं को पहले इसका स्वाद लगाया जाता है और जब युवाओं को इसकी लत लग जाती है तो माफिया की चांदी हो जाती है । नालंदा जिला में भी कई युवाओं को ड्रग्स का सेवन करने देखा जा रही है ।

बिहारशरीफ में गिरफ्तारी
छोटी पहाड़ी के मुसादपुर मोहल्ला में नालंदा पुलिस ने छापेमारी कर 17 पुड़िया ब्राउन शुगर के साथ चार लोगों को गिरफ्तार किया था। जिसके बाद ब्राउन शुगर के रैकेट का पता चला।

चाय दुकान में सप्लाई
बिहारशरीफ में ब्राउन शुगर की सप्लाई चाय और पेड़ा दुकानों के जरिए हो रही है । चाय और पेड़ा बेचने के नाम पर दुकानदार ब्राउन शुगर जैसे ड्रग्स का कारोबार कर रहे हैं । दरअसल, चाय पेड़ा के दुकानों पर पुलिस को शक भी नहीं होता है और ग्राहक भी आसानी से पहुंच जाते हैं ।

आरा से होती है सप्लाई
पुलिस की पूछताछ में ड्रग्स तस्करों ने बताया है कि उनकी दुकानों पर आरा से ब्राउन शुगर की सप्लाई की जाती है । ड्रग्स माफिया चाय दुकानों में ब्राउन शुगर की सप्लाई करते हैं ।

कौन-कौन गिरफ्तार
नालंदा पुलिस ने जिन लोगों को ड्रग्स के कारोबार में गिरफ्तार किया है उसमें मोरा तालाब निवासी और चाय-पेड़ा दुकानदार अनिल सिंह, मुसादपुर निवासी अनीश कुमार उर्फ डिंपल, टिकुलीपर निवासी सनत कुमार और गौरव कुमार शामिल है।

इसे भी पढ़िए-नालंदा में मुखिया प्रत्याशी के घर छापेमारी, निर्वतमान मुखिया को हिरासत में लिया

अनीश है सप्लायर
गिरफ्तार अनिल सिंह अपनी चाय-पेड़ा दुकान की आड़ में ब्राउन शुगर बिक्री का काम करता था। अनीश सप्लायर है। उसकी जेब से 4 पुड़िया ब्राउन शुगर मिला। इसी तरह हेल्थ क्लब के समीप ब्राउन शुगर पीते सनत और गौरव को एक-एक पुड़िया के साथ पकड़ा गया। तस्कर ने खुलासा किया कि आरा से वह ब्राउन शुगर लाता था। 3-4 सौ में एक पुड़िया की बिक्री की जाती थी।

इसे भी पढ़िए-राजगीर में ट्रेन में बेहोश मिली युवती, नशाखुरानी की हुई शिकार.. क्या आप पहचानते हैं

पुलिस टीम में कौन कौन
बिहारशरीफ के डीएसपी डॉ. मो. शिब्ली नोमानी के नेतृत्व में पुलिस ने टीम ने ड्रग्स रैकेट का खुलासा किया है । टीम में बिहार थाना के थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर संतोष कुमार, भागन बिगहा के ओपी प्रभारी अमरेश कुमार सिंह भी शामिल थे। पुलिस का कहना है कि पूछताछ के आधार पर पुलिस गिरोह के अन्य सदस्यों की तलाश में जुटी है।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In अपराध

Leave a Reply

Check Also

नालंदा का इंजीनियर समेत 5 गिरफ्तार, ऐय्याशी के लिए करता था डकैती

नालंदा पुलिस ने एक हाईप्रोफाइल चोर गिरोह का भंडाफोड़ किया है। जो ऐय्याशी के लिए डकैती करता…